NDTV Khabar

टी20 मैच खेलने पाकिस्‍तान पहुंचे फाफ डु प्‍लेसिस ने वहां की सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर की यह टिप्‍पणी

तीन टी-20 मैचों की सीरीज के लिए पाकिस्तान पहुंची विश्व एकादश टीम के कप्तान दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस ने कहा है कि यहां खिलाड़ि‍यों की सुरक्षा व्यवस्था इतनी चाकचौबंद है जैसी आमतौर पर राष्‍ट्राध्‍यक्षों के लिए की जाती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टी20 मैच खेलने पाकिस्‍तान पहुंचे फाफ डु प्‍लेसिस ने वहां की सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर की यह टिप्‍पणी

डु प्‍लेसिस ने कहा कि यहां सुरक्षा व्यवस्था इतनी चाकचौबंद है जैसी आमतौर पर राष्‍ट्राध्‍यक्षों की होती है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा-सुरक्षा व्‍यवस्‍था इतनी सख्‍त है जैसी राष्‍ट्राध्‍यक्षों की होती है
  2. इसे देखने के बाद लग रहा मानो हम किसी फिल्‍म का हिस्‍सा हैं
  3. वर्ल्‍ड एकादश के खिलाफ पाक टीम खेलेगी तीन टी20 मैच
लाहौर: तीन टी-20 मैचों की सीरीज के लिए पाकिस्तान पहुंची विश्व एकादश टीम के कप्तान दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस ने कहा है कि यहां खिलाड़ि‍यों की सुरक्षा व्यवस्था इतनी चाकचौबंद है जैसी आमतौर पर राष्‍ट्राध्‍यक्षों के लिए की जाती है. इसे देखने के बाद उन्हें लगा कि जैसे वह किसी फिल्म का हिस्सा हों. पाकिस्तान में लंबे अरसे बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की बहाली हो रही है. पाकिस्तान अपने घर में विश्व एकादश के खिलाफ तीन टी-20 मैच खेलेगा. यहां पहुंचने के बाद डु प्लेसिस ने विश्व एकादश की तरफ से पाकिस्तान में खेलने को लेकर हामी भरने के बारे में बताया.

क्रिकइंफो ने डु प्लेसिस के हवाले से लिखा, "जब इस तरह की बातें आपके सामने आती हैं तो आप जाहिर सी बात है कि पुरानी बातों को लेकर सोचते हैं, लेकिन जैसे ही हमने उन लोगों से बात की जिनके पास सुरक्षा का जिम्मा था उसके बाद सब सही हो गया." उन्होंने कहा, "एक खिलाड़ी के तौर पर आप मानसिक शांति चाहते हो और यह उन्होंने हमें दी. वे लोग इस बात को लेकर आश्वस्त थे कि सब कुछ समान्य रूप से होगा और किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी. जैसे ही हम विमान में बैठे, डर खत्म हो चुका था. हम सिर्फ यहां पहुंचना चाहते थे और विश्व क्रिकेट में एक अच्छे बदलाव का अनुभव करना चाहते थे. पिछले 24 घंटे काफी अजीब थे, क्योंकि हम उन चीजों को लेकर उत्साही थे जिन्हें लेकर एक खिलाड़ी होते हुए हम आमतौर पर नहीं होते हैं. व्यक्तिगत विमान में चढ़ना, हमें ऐसा लग रहा था कि हम किसी फिल्म में हैं."

यह भी पढ़ें :डु प्‍लेसिस के अपील करने के फैसले से आईसीसी नाराज, लगाई फटकार

डु प्लेसिस ने कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि भविष्य में वह अपने आप को एक ऐसे शख्स के रूप में देखेंगे जिसने पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट बहाली के लिए कदम उठाया. उन्होंने कहा, "एक कप्तान के तौर पर आप हमेशा ही अपना प्रभाव छोड़ना चाहते हैं. जब कोच एंडी फ्लॉवर का मेरे पास फोन आया और उन्होंने मुझसे कहा कि वह मुझे विश्व एकादश का कप्तान देखना चाहते हैं तो मैंने सोचा मेरे लिए यह अच्छा मौका है." दक्षिण अफ्रीका टीम के कप्तान ने कहा, "भविष्य में जब मैं अपने परिवार के साथ बैठूंगा तो इसे याद रखूंगा और कह सकूंगा कि मेरे लिए इसका हिस्सा बनना बेहद सम्मान की बात थी. मैं कह सकूंगा कि मैंने पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की बहाली में अपना योगदान दिया है."

वीडियो: ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ कितनी संतुलित है टीम इंडिया
उल्लेखनीय है कि 2009 में पाकिस्तान दौरे पर आई श्रीलंका क्रिकेट टीम की बस पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया था. इस घटना के बाद सभी देशों ने पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने से मना कर दिया था. इसी कारण पाकिस्तान को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को अपना घर बनाना पड़ा था. (इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement