NDTV Khabar

पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने टीम इंडिया के दक्षिण अफ्रीकी दौरे से पहले दिया यह बयान...

भारत को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर तीन टेस्ट, 6 वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है. भारत का पहला मैच 5 जनवरी को होगा वहीं, आखिरी मैच उसे 24 फरवरी को खेलना है.   

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने टीम इंडिया के दक्षिण अफ्रीकी दौरे से पहले दिया यह बयान...

पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने कहा कि भारत को द. अफ्रीका का गेंदबाजी आक्रमण दबाव में डालेगा .

खास बातें

  1. दक्षिण अफ्रीका में भारत को 3 टेस्ट, 7 वनडे और 3 टी-20 मैच खेलने हैं
  2. भारत का दौरा 5 जनवरी से शुरू होगा और 24 फरवरी तक चलेगा
  3. स्मिथ ने कहा-भारत को द. अफ्रीका का गेंदबाजी आक्रमण दबाव में डालेगा
नई दिल्ली: श्रीलंका के साथ मौजूदा सीरीज खत्म होने के बाद टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर जाएगी. भारतीय टीम इस समय शानदार फॉर्म में चल रही है. भारत को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर तीन टेस्ट, 6 वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है. भारत का पहला मैच 5 जनवरी को होगा वहीं, आखिरी मैच उसे 24 फरवरी को खेलना है. 

दौरा शुरू होने से पहले पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका का 'मजबूत' गेंदबाजी आक्रमण भारतीय बल्लेबाजी को दबाव में डालेगा. दुनिया की नंबर एक टीम भारत और नंबर दो टीम दक्षिण अफ्रीका के बीच दक्षिण अफ्रीका में होने वाले इस मुकाबले के काफी रोमांचक होने की उम्मीद की जा रही है. पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान स्मिथ का मानना है कि दो सत्र पहले भारत में 0-3 की हार के बाद मेजबान टीम अतिरिक्त प्रेरित होगी.

यह भी पढ़ें : धोनी ने कोहली का किया समर्थन, कहा - मुश्किल दौरों की तैयारी के लिये समय की जरूरत

स्मिथ ने पीटीआई से कहा, 'मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका की टीम काफी मजबूत होगी. एबी डिविलियर्स की वापसी से उनकी टीम काफी मजबूत नजर आती है. गेंदबाजी भी काफी मजबूत है. उनके पास चुनने के लिए चार बेहतरीन अनुभवी तेज गेंदबाज हैं और कुछ युवा तेज गेंदबाज भी.' उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि वे तीन तेज गेंदबाजों और एक स्पिनर (केशव महाराज) तथा छह बल्लेबाजों के साथ उतरेंगे, जबकि क्विंटन डिकॉक सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करेगा. यह उनका बल्लेबाजी क्रम होगा और मुझे लगता है कि यह काफी मजबूत है.'

यह भी पढ़ें : दक्षिण अफ्रीका दौरे के पहले भारतीय टीम प्रबंधन की चिंता बढ़ी, यह खिलाड़ी हुआ चोटिल

स्मिथ का हालांकि मानना है कि बिना अभ्यास मैच के टेस्ट सीरीज खेलने वाले भारत के लिए पहले टेस्ट का आयोजन केपटाउन में फायदेमंद हो सकता है. उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि केपटाउन में भारत के पास सर्वश्रेष्ठ मौका होगा. दक्षिण अफ्रीका में गेंद का मूवमेंट इतना अधिक परेशान नहीं करता, जो चुनौती पैदा करता है वह अतिरिक्त उछाल है. मैं उम्मीद करता हूं कि विकेट पर काफी मूवमेंट नहीं होगी. उन्होंने कहा कि धीमा उछाल होगा और खेल के आगे बढ़ने पर स्पिनरों को कुछ मदद मिलेगी.' चार साल पहले घरेलू सरजमीं पर भारत के खिलाफ 1-0 से सीरीज जीतने वाले दक्षिण अफ्रीका के महानतम कप्तानों में से एक स्मिथ ने कहा, 'प्रिटोरिया (दूसरा टेस्ट) और जोहानिसबर्ग (तीसरा टेस्ट) भारतीय टीम के लिए बड़ी चुनौती होगी.' 

यह भी पढ़ें : खराब दौर से गुजर रहे दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स को पूर्व कप्‍तान ग्रीम स्मिथ ने दी यह सलाह...

विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम बेहतरीन फॉर्म में है और लगातार नौ सीरीज जीत चुकी है. इनमें से अधिकांश जीत हालांकि उप महाद्वीप में हासिल की गई. भारत ने जब पिछली बार दक्षिण अफ्रीका दौरा किया था तो कप्तान कोहली, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे अच्छी फॉर्म में थे, जबकि रोहित शर्मा और शिखर धवन को जूझना पड़ा था.

स्मिथ के अनुसार धवन और रोहित अब कहीं बेहतर खिलाड़ी हैं, लेकिन डेल स्टेन, मोर्ने मोर्कल, वर्नोन फिलेंडर और कागिसो रबादा जैसे खिलाड़ियों वाले दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजी आक्रमण के सामने कोहली और पुजारा अहम बल्लेबाज होंगे. उन्होंने कहा, 'पुजारा और कोहली महत्वपूर्ण बल्लेबाज होंगे. ये दो खिलाड़ी पिछली बार अच्छा खेले थे इसलिए वे महत्वपूर्ण होंगे.' 

VIDEO  :  मैदान पर की बदसलूकी तो पड़ेगा महंगा


टिप्पणियां
उमेश यादव, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार और पहली बार टीम में जगह बनाने वाले जसप्रीत बुमराह के तेज गेंदबाजी आक्रमण पर स्मिथ ने कहा, 'भारत को अगर सफल होना है तो उनके तीन तेज गेंदबाजों को काफी अच्छी गेंदबाजी करने की जरूरत है. सभी भारतीय तेज गेंदबाजों की बात कर रहे हैं. मुझे लगता है कि अंतर स्पेल में होगा.' उन्होंने कहा, भारत में वे छोटे स्पेल फेंकते हैं और प्रभाव छोड़ने की कोशिश करते हैं लेकिन दक्षिण में उन्हें दबाव में कहीं अधिक जिम्मेदारी निभानी होगी और लंबे स्पेल फेंकने होंगे. तेज गेंदबाजों को भारत को मैच जिताने होंगे.

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि यह कोहली के नेतृत्व में अगली बड़ी चुनौती होगी. उन्होंने उपमहाद्वीप में काफी सीरीज जीती और अगर उन्हें इस पीढ़ी की शीर्ष टीम में से एक बनना है तो दक्षिण अफ्रीका में अच्छा प्रदर्शन करना होगा.' 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement