रॉस टेलर ने अपने 100वें मैच से पहले टेस्ट क्रिकेट को लेकर की यह रुचिकर बात

रॉस टेलर (Ross Taylor) इस बात से इनकार किया कि पहले टेस्ट में जज्बात उन पर हावी होंगे. उन्होंने कहा, ‘आखिर में तो यह एक मैच ही है, जिसमें आपकी कोशिश टीम को जिताने की होती है.

रॉस टेलर ने अपने 100वें मैच से पहले टेस्ट क्रिकेट को लेकर की यह रुचिकर बात

रॉस टेलर की फाइल फोटो

हैमिल्टन:

अपने करियर का सौवां टेस्ट खेलने जा रहे न्यूजीलैंड के सीनियर बल्लेबाज रॉस टेलर (Ross Taylor) ने कहा कि अपनी गलतियों से वह सबक सीखते आए हैं. उनसे अधिक टेस्ट न्यूजीलैंड के लिए सिर्फ स्टीफन फ्लेमिंग, ब्रेंडन मैकुलम और डेनियल विटोरी ने खेले हैं. वह भारत के खिलाफ 21 फरवरी से शुरू हो रहे पहले टेस्ट के जरिए टेस्ट मैचों का शतक पूरा करेंगे. मैच से पहले उन्होंने पत्रकारों से कहा,‘किसी का करियर परफेक्ट नहीं होता. कई बार आप नाकाम रहते हैं. गलतियां और हालात आपको परिपक्व बनाते हैं.' 

यह भी पढ़ें: बंगाल और कर्नाटक रणजी ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में, दिल्ली बाहर, Ranji Round-Up

यह पूछने पर कि सौ टेस्ट की उनके लिए क्या अहमियत है, पर उन्होंने कहा, ‘शायद अब  टेस्ट बूढ़ा हो गया है, लेकिन मैं अपनी उपलब्धियों से खुश हूं.' टेलर ने कहा, ‘एक बल्लेबाज के तौर टेस्ट क्रिकेट और क्रिकेट में मैने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं. वेलिंगटन की मेरे दिल में खास जगह है. मैं अपने करियर के आखिर में इन सुनहरी यादों को सहेजकर रखूंगा.' 

यह भी पढ़ें:  कुछ ऐसे शिखर धवन ने वैलेंटाइन डे पर शादीशुदा जोड़ों को दिया संदेश

उन्होंने इस बात से इनकार किया कि पहले टेस्ट में जज्बात उन पर हावी होंगे. उन्होंने कहा, ‘आखिर में तो यह एक मैच ही है, जिसमें आपकी कोशिश टीम को जिताने की होती है. इसी का पूरा मजा लेना है. मैदान पर उतरने के बाद हर खिलाड़ी यही करना चाहता है.' टेलर ने अपनी उपलब्धियों का श्रेय पत्नी विक्टोरिया को देते हुए कहा,‘मेरी पत्नी विक्टोरिया के लिए तीन बच्चों को अकेले पालना आसान नहीं था.'

Newsbeep

VIDEO: पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल स्टोरी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


टेलर ने कहा कि हम इतना समय खेलते हैं लेकिन जब घर पर होते हैं तो मैं उनका पिता होता हूं. मेरे बच्चे इतने बड़े हो गए हैं कि समझते हैं कि उनके पिता क्या करते हैं'