NDTV Khabar

एमएस धोनी के इस छक्के से भारत ने मनाई थी दीवाली, पूरा किया था सचिन तेंदुलकर का सपना

2 अप्रैल 2011 को टीम इंडिया ने दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता था. उस मैच को भारत शायद ही कभी भूल पाए. खासकर वो छक्का जो धोनी ने आखिरी बॉल में मारा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एमएस धोनी के इस छक्के से भारत ने मनाई थी दीवाली, पूरा किया था सचिन तेंदुलकर का सपना

7 साल पहले आज ही के दिन टीम इंडिया बनी थी दूसरी बार वर्ल्ड कप चैम्पियन.

खास बातें

  1. 7 साल पहले आज ही के दिन टीम इंडिया बनी थी दूसरी बार वर्ल्ड कप चैम्पियन.
  2. 2 अप्रैल 2011 को टीम इंडिया ने दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता था.
  3. धोनी ने शानदार 91 रन की पारी खेली थी.
नई दिल्ली:

आज से ठीक 7 साल पहले 2 अप्रैल 2011 को टीम इंडिया ने दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता था. उस मैच को भारत शायद ही कभी भूल पाए. खासकर वो छक्का जो धोनी ने आखिरी बॉल में मारा था. नुवान कुलसेकरा की गेंद पर धोनी ने अपने बल्ले को ऐसा घुमाया कि 28 साल बाद वर्ल्ड कप भारत की झोली में आ गया. इससे पहले भारत ने 25 जून 1983 को पहली बार वर्ल्ड कप जीता था. 

IND vs NZ: मुंबई वनडे के पहले MS धोनी ने यूं दिलाई वर्ल्‍डकप 2011 के उस ऐतिहासिक लम्‍हे की याद

ms dhoni 2011

धोनी ने जिस तरह छक्का जड़ा वो वाकई काबिले तारीफ था. धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया इससे पहले टी-20 वर्ल्ड कप जीता फिर 2011 वर्ल्ड कप भी जिता दिया. धोनी ने बता दिया कि वो किसी भी परिस्थिती में टीम इंडिया को जिता सकते हैं. आइए देखते हैं धोनी का वो यादगार छक्का...

आखिर रणतुंगा ने 2011 वर्ल्ड कप फाइनल को क्यो बताया फिक्स, जानें कारण....
 


ऐसा हुआ था मैच
पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका ने 274 रन बनाए. महिला जयवर्धने ने शानदार 103 रन की पारी खेली थी. वहीं कप्तान कुमारा संगाकारा ने 48 रन बनाए. जहीर और युवराज ने 2-2 विकेट लिए थे, श्रीसंत ने 1 विकेट लिया. 275 रन का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत कुछ खास नहीं रही.

टिप्पणियां

सचिन तेंदुलकर को है अफसोस, काश! 14 साल पहले वर्ल्ड कप फाइनल के समय भी ऐसा ही होता, तो...
 

ms dhoni 2011

सहवाग और सचिन के रूप में दो विकेट लिए जा चुके थे. लेकिन गौतम गंभीर ने 97 रन की पारी खेली. जिसके बाद आखिर में जिताने का काम किया धोनी ने उन्होंने शानदार 91 रन की पारी खेली. 10 बॉल रहते ही टीम इंडिया को चैम्पियन बना दिया और साथ ही उन्होंने सचिन के सपने को (टीम इंडिया को फिर चैम्पियन) भी पूरा कर दिया. जीत के बाद इंडियन फैन्स ने खूब जश्न मनाया था. ऐसा लग रहा था जैसे दीवाली हो.

गौतम गंभीर ने ताजा की 'वर्ल्ड कप 2011' के फाइनल मैच की यादें, कहा- उस वक्त मेरे दिमाग में कुछ नहीं चल रहा था
 

ms dhoni 2011

धोनी ने बनाया था ये खास रिकॉर्ड
एमएस धोनी ने जो छक्का जड़ा उसी के साथ उन्होंने एक अनोखा रिकॉर्ड भी बनाया था. ऐसा कभी नहीं हुआ था कि किसी ने आखिरी बॉल पर छक्का जड़कर वर्ल्ड कप फाइनल जिताया हो. ऐसा करके धोनी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी बन गए. अब तक उनका रिकॉर्ड कोई नहीं तोड़ पाया है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement