NDTV Khabar

विजय हजारे ट्रॉफी: मयंक अग्रवाल ने फाइनल में खेली जोरदार पारी, सचिन तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड को अपने नाम किया...

कर्नाटक के ओपनर मयंक अग्रवाल इन दिनों जबर्दस्‍त फॉर्म में हैं. श्रीलंका में होने वाली निधास ट्रॉफी टी20 त्रिकोणीय सीरीज की भारतीय टीम में नहीं चुने जाने का उन्‍होंने सिलेक्‍टर्स को जोरदार अंदाज में जवाब दिया है.मयंक ने मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विजय हजारे ट्रॉफी: मयंक अग्रवाल ने फाइनल में खेली जोरदार पारी, सचिन तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड को अपने नाम किया...

विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में मयंक ने सौराष्‍ट्र के खिलाफ 90 रन की पारी खेली (फेसबुक फोटो)

खास बातें

  1. मयंक अग्रवाल टूर्नामेंट के 8 मैचों में 723 रन बनाए
  2. लिस्‍ट ए मैच में यह किसी भारतीय बल्‍लेबाज का रिकॉर्ड
  3. सचिन के 673 रन के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा
नई दिल्‍ली: कर्नाटक के ओपनर मयंक अग्रवाल इन दिनों जबर्दस्‍त फॉर्म में हैं. श्रीलंका में होने वाली निधास ट्रॉफी टी20 त्रिकोणीय सीरीज की भारतीय टीम में नहीं चुने जाने का उन्‍होंने सिलेक्‍टर्स को जोरदार अंदाज में जवाब दिया है. उन्‍होंने मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ा. मंगलवार को विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में मैन ऑफ़ द मैच रहे मयंक ने इस टूर्नामेंट के 8 मैचों में 723 रन (तीन शतक और दो अर्धशतक) बनाए. उनका बल्‍लेबाजी औसत 90.37 का रहा. यह लिस्ट ए क्रिकेट यानी घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैचों की सीरीज़ या टूर्नामेंट में किसी भारतीय बल्लेबाज़ का रिकॉर्ड है. उनसे पहले यह रिकॉर्ड सचिन के नाम पर था, जिन्‍होंने दक्षिण अफ्रीका, केन्‍या और जिम्‍बाब्‍वे में हुए 2003 के वर्ल्डकप में 673 रन बनाए थे. सचिन ने इस बड़े टूर्नामेंट के दौरान 11 मैच खेले थे और 61.18 के औसत से 673 रन बनाए थे. मास्‍टर ब्‍लास्‍टर ने इस दौरान एक शतक और छह अर्धशतक लगाए थे.

यह भी पढ़ें: NIDAHAS TROPHY: इस वजह से मयंक अग्रवाल का चयन टीम इंडिया में नहीं हुआ...

टिप्पणियां
विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में मयंक ने सौराष्‍ट्र के खिलाफ 90 रन की पारी खेली. उनकी  इस पारी का कर्नाटक को तीसरी बार खिताब दिलाने में अहम योगदान रहा. 79 गेंदों पर खेली गई इस पारी के दौरान मयंक ने 11 चौके और तीन छक्‍के जमाए. लिस्‍ट ए सीरीज/टूर्नामेंट में 700 या इससे अधिक रन बनाने वाले वे देश के पहले बल्‍लेबाज हैं. मैच में सौराष्‍ट्र के चेतेश्‍वर पुजारा ने 94 रन बनाए लेकिन इसके बावजूद उनकी टीम को उपविजेता रहकर ही संतोष करना पड़ा. तमिलनाडु ने सबसे अधिक पांच बार विजय हजारे ट्रॉफी जीती है जबकि मुंबई ने दो बार इस पर कब्‍जा किया है. सात टीमें एक-एक बार विजय हजारे ट्रॉफी टूर्नामेंट मे चैंपियन बनी हैं.

वीडियो: सचिन तेंदुलकर ने फेसबुक पर की यह अपील..
गौरतलब है कि 27 साल के मयंक ने मौजूदा घरेलू सत्र के तीन प्रारूपों में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 2141 रन बनाए हैं. 2017-18 में रणजी ट्रॉफ़ी की 13 पारियों में मयंक ने 5 शतक और 2 अर्धशतकों की मदद से 1160 रन बनाए. इसमें उनका सर्वोच्‍च स्कोर 304 रन रहा.सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफ़ी के दौरान भी मयंक अग्रवाल विपक्षी गेंदबाजों के लिए मुसीबत बने रहे. इस टूर्नामेंट की 9 पारियों में उन्‍होंने तीन अर्धशतकों की मदद से 258 रन बनाए. इसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्‍कोर 86 रनों का रहा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement