जब 'यह बड़ा त्याग' करने से रवि शास्त्री ने रोक दिया विराट कोहली को!

ईडन गार्डन में अगर विराट कोहली की चलती, तो मैच एक बार को शायद भारत के खाते में होता, लेकिन भारतीय कोच की प्लानिंग कुछ और ही थी

जब 'यह बड़ा त्याग' करने से रवि शास्त्री ने रोक दिया विराट कोहली को!

विराट कोहली (भारतीय कप्तान, फाइल फोटो)

खास बातें

  • कोहली करना चाहते थे 97 के निजी योग पर पारी घोषित
  • कोच रवि शास्त्री ने नहीं दी कप्तान को इजाजत
  • गेंदबाजों को ज्यादा ओवर का समय देना चाहते थे कोहली
नई दिल्ली:

विराट कोहली की जितनी तारीफ की जाए कम है. चंद ही सालों में अपने कारनामों से बड़े-बड़े दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया है इस युवा भारतीय कप्तान ने.  जब बात टीम की आए, तो वह बड़े से बड़ा त्याग करने को तैयार रहते हैं. सोमवार को खत्म हुए टेस्ट से भारत की पारी खत्म होने से पहले भी वह एक बड़ा त्याग करना चाहते थे, लेकिन कोच रवि शास्त्री ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया. इस बात का खुलासा खुद रवि शास्त्री ने ही किया. 

यह भी पढ़ें : 'कुछ यूं' दिया विराट कोहली ने एशेज से पहले डेविड वॉर्नर को 'खुला चैलेंज'!

दरअसल हम इसे त्याग इसीलिए बता रहे हैं कि कोई भी खिलाड़ी या कोई भी कप्तान ऐसा नहीं ही करना चाहेगा, लेकिन विराट ने सोमवार को ऐसी पेशकश की, जिसे रवि शास्त्री ने मानने से ही इनकार कर दिया. दरअसल यह सब हुआ भारत की दूसरी पारी खत्म होने से ठीक एक ओवर पहले. 88वें ओवर की समाप्ति के बाद विराट कोहली 97 रन बनाकर नाबाद थे. ठीक इसी स्कोर पर कोहली ने ड्रैसिंग रूम में शास्त्री की तरफ देखकर सवाल किया, 'क्या मुझे पारी घोषित कर देनी चाहिए?'

यह भी पढ़ें : 100वें टेस्ट में हेलमेट पर लगी गेंद..और हो गया संन्यास का फैसला!

लेकिन विराट के इस सवाल को ठुकराते हुए शास्त्री ने इशारा करके कोहली को कहा कि अभी वह कुछ और ओवर और बल्लेबाजी  करें. दरअसल विराट की इस पेशकश के पीछे यही भावना थी कि अब जबकि श्रीलंका के लिए खेलने को ज्यादा ओवर नहीं बचे थे, तो कोहली शतक के लिए ज्यादा समय न गंवाकर टीम हित में शतक से पहले ही पारी घोषित करना चाहते थे.  भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने रवि शास्त्री और कोहली के बीच हुए इस संवाद का वीडियो भी अपनी बेवसाइट पर डाला है. साथ ही बोर्ड ने प्रशंसकों से दोनों के बीच हुई बातचीत समझने को कहा है. 

VIDEO: गावस्कर ने कोहली के बारे में कही यह बड़ी बात
बहरहाल कोहली ने वक्त के तकाजे को समझते हुए अपना 18वां टेस्ट शतक पूरा करने में देर नहीं लगाई. विराट ने अगले ही ओवर में छक्का लगाकर शतक पूरा करने साथ ही यह सबूत दिया कि वह टीम हित के लिए अपने शतक को पीछे रख बड़ा जोखिम लेने से भी नहीं हिचकिचाएंगे.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com