Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Women’s T20 World Cup: पूनम यादव ने किया हैट्रिक को लेकर बड़ा खुलासा, जो दुर्भाग्यवश नहीं बन सकी

IND vs AUS Women’s World Cup T20I: पूनम को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया. पुरस्कार लेने के बाद पूनम ने कहा, "जब मैं चोटिल थी तब मेरे फिजियो और टीम के साथियों ने मेरा काफी साथ दिया

Women’s T20 World Cup: पूनम यादव ने किया हैट्रिक को लेकर बड़ा खुलासा, जो दुर्भाग्यवश नहीं बन सकी

पूनम यादव की गेंदबाजी क्रिकेटप्रेमी लंबे समय तक याद रखेंगे

शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया में शुरू हुए टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के उद्घाटक मुकाबले में वर्तमान चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत ही शानदार जीत दिलाने वाली पूनम यादव (Poonam Yadav) ने अपनी हैट्रिक को लेकर बड़ा खुलासा किया है. पूनम यादव ने शुक्रवार को महिला टी-20 विश्व कप (Womens T20 World Cup) के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया (Aus vs Ind) के खिलाफ दमदार प्रदर्शन कर भारत को 17 रनों से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. पूनम यादव (Poona Yadav) ने चार ओवरों में 19 रन देकर चार विकेट लिए. इस दौरान वह हालांकि हैट्रिक से चूक गईं. टूर्नामेंट में आने से पहले पूनम यादव (Poonam Yadav) चोटों से जूझ रही थीं और ठीक होने के लिए उन्होंने अपने फिजियो तथा टीम के साथियों का शुक्रिया अदा किया है.

यह भी पढ़ें:  इन खास मैचों के लिए सौरव गांगुली ने एशियन इलेवन के लिए भेजे इन भारतीय खिलाड़ियों के नाम

पूनम को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया. पुरस्कार लेने के बाद पूनम ने कहा, "जब मैं चोटिल थी तब मेरे फिजियो और टीम के साथियों ने मेरा काफी साथ दिया. मैंने यहां पहले भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी की थी और मैं इसे जारी रखना चाहती थी" पूनम ने राचेल हायनेस और ऑस्ट्रेलिया की स्टार ऑलराउंडर एलिसा पैरी को दो लगातार गेंदों पर आउट किया. वह हैट्रिक के करीब थी, लेकिन अगली ही गेंद पर विकेटकीपर तानिया भाटिया ने जेस जोनासन का कैच छोड़ दिया.

यह भी पढ़ें:  पूनम यादव ने किया ऑस्ट्रेलिया को पस्त, भारत का वर्ल्ड कप में शानदार आगाज

हैट्रिक से चूकने पर पूनम ने कहा, "यह तीसरी बार है जब मैं हैट्रिक नहीं ले पाई. चोट से वापसी करना आसान नहीं होता और इसलिए मैं अपनी टीम की साथियों को धन्यवाद देती हूं." टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि यह जीत बताती है कि टीम प्रतिदिन बेहतर होती जा रही है. उन्होंने कहा, "हम जानते थे कि इस पिच में ऐसी बात है जहां हम अच्छा कर सकते हैं. 

VIDEO: पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल स्टोरी. 

भारतीय कप्तान ने कहा कि अगर हम 140 रनों का स्कोर करने में सफल रहे, तो हमारी गेंदबाज इसका बचाव कर सकती है और यही हुआ. यह पिच बल्लेबाजी के लिए आसान नहीं थी. हम सिर्फ 140 के स्कोर तक पहुंचना चाहते थे"