NDTV Khabar

Chandra Grahan 2018: ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचने के लिए इन 4 मंत्रों को पढ़ रहे हैं लोग

आज साल 2018 का दूसरा चंद्रग्रहण (Chandra Grahan) है. यह चंद्र ग्रहण रात 11.54 से शुरू होकर अगले दिन सुबह 3.49 तक रहेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Chandra Grahan 2018: ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचने के लिए इन 4 मंत्रों को पढ़ रहे हैं लोग

चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) के दौरान पढ़ें ये मंत्र

खास बातें

  1. 27 जुलाई को साल 2018 का दूसरा चंद्रग्रहण
  2. आज रात 11.54 पर शुरू होगा चंद्रग्रहण
  3. ग्रहण के दौरान इन मंत्रों को पढ़ रहे हैं लोग
नई दिल्ली: आज साल 2018 का दूसरा चंद्रग्रहण (Chandra Grahan) है. यह ग्रहण रात 11.54 से शुरू होकर अगले दिन सुबह 3.49 तक रहेगा. चंद्रग्रहण (Lunar Eclipse 2018) 3 घंटे 55 मिनट तक बना रहेगा. ऐसी मान्यता है कि ग्रहण के दौरान घर से बाहर नहीं निकला जाता, खाना नहीं खाया जाता, पूजा-पाठ नहीं की जाती, कोई भी शुभ काम नहीं किए जाते और प्रेग्नेंट महिलाओं को खास सावधानियां बरतनी पड़ती हैं. इसी के साथ ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचने के लिए कई लोग पूजा-पाठ में इस्तेमाल किए जाने वाले मंत्रों का भी सहारा लेते हैं. 

Chandra Grahan: चंद्र ग्रहण के दौरान क्या करें और क्या नहीं, जानिए यहां

ज्‍योतिष‍ियों की मानें तो ग्रहण काल में गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) का जाप करते रहने से प्रत्येक राशि के सभी दोषों का निवारण हो जाता है. इस दौरान हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) और हनुमान जी के मंत्रोच्चारण का भी विशेष महत्व है. ज्योतिष शास्त्रियों का कहना है कि चंद्र ग्रहण क प्रभाव 108 दिनों तक रहता है, इसीलिए यह बहुत जरूरी है कि चंद्र ग्रहण के दौरान जाप किया जाए.

Guru Purnima: स्कूल या कॉलेज ही नहीं, जिंदगी का GURU कोई भी हो सकता है, इन 11 स्पेशल मैसेज को भेजकर करें उन्हें याद

इस दौरान 'ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चंद्रमसे नम:' या 'ॐ सों सोमाय नम:' का जाप करना शुभ होता है. माना जाता है कि इस वैदिक मंत्र का जाप जितनी श्रद्धा से किया जाएगा यह उतना ही फलदायक होगा. ग्रहण के दौरान दुर्गा सप्‍तशती कवच मंत्र का पाठ करना चाहिए. जो इस प्रकार है- ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै

Chandra Grahan: सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण आज, जानें Lunar Eclipse Time और विधि विधान

मान्‍यताओं के मुताबिक ग्रहण के दौरान पूरी तन्मयता और संयम से मंत्र जाप करने से विशेष लाभ म‍िलता है. इस दौरान अर्जित किया गया पुण्य अक्षय होता है. कहा जाता है इस दौरान किया गया जाप और दान, सालभर में किए गए दान और जाप के बराबर होता है.

चंद्र ग्रहण के दौरान इन मंत्रों का भी करें जाप

गायत्री मंत्र: ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्||
महामृत्‍युंजय मंत्र: ॐ त्रयंबकं यजामहे, सुगन्धि पुष्टिवर्द्धनं, उर्वारुक्मिाव, बंधनात्, मृत्‍योंर्मुचीय मामृतात्|| 

टिप्पणियां
पढ़ें चंद्रग्रहण से संबंधित और भी खबरें

Chandra Grahan: सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण आज, जानें Lunar Eclipse Time और विधि विधान
Chandra Grahan: चंद्र ग्रहण के दौरान क्या करें और क्या नहीं, जानिए यहां
Chandra Grahan 2018: अगर करना है पूर्ण चंद्र ग्रहण का दीदार तो कीजिए इंद्र देवता को खुश
Chandra Grahan: सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण आज, जानिए क्‍या कहता है विज्ञान


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement