NDTV Khabar

Janmashtami 2019: वृन्‍दावन के बांकेबिहारी मंदिर में 23 अगस्‍त को मनाई जाएगी जन्‍माष्‍टमी, रात 1:55 पर होगी मंगला आरती

Krishna Janmashtami 2019: वृंदावन के ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में 23 अगस्त की रात 12 बजे गर्भगृह में ठाकुर जी का महाभिषेक किया जाएगा. रात 1 बज कर 55 मिनट पर मंगला आरती की जाएगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Janmashtami 2019: वृन्‍दावन के बांकेबिहारी मंदिर में 23 अगस्‍त को मनाई जाएगी जन्‍माष्‍टमी, रात 1:55 पर होगी मंगला आरती

Janmashtami 2019: बांके बिहारी मंदिर में साल में एक ही बार जन्‍माष्‍टमी के दिन मंगला आरती होती है

खास बातें

  1. बांके बिहारी मंदिर में 23 अगस्‍त को मनाई जाएगी जन्‍माष्‍टमी
  2. रात 1 बजकर 55 मिनट पर होगी मंगला आरती
  3. जन्‍माष्‍टमी को लेकर व्‍यापक स्‍तर पर तैयारियां

वृन्दावन के मशहूर ठाकुर बांके बिहारी मंदिर (Banke Bihari Temple) में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami) 23 अगस्त को मनाई जाएगी. इस त्‍योहार के मद्देनजर व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं.  जन्‍माष्‍टमी (Janmashtami) के दिन मध्य रात्रि में कान्हा का जन्म होने के बाद रात एक बज कर 55 मिनट पर मंगला आरती होती है. आपको बता दें कि मंगला आरती साल में केवल एक बार जन्माष्टमी के मौके पर ही होती है. 

मंदिर के सेवायत पुजारी अशोक गोस्वामी ने बताया, "वृंदावन के ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में 23 अगस्त की रात 12 बजे गर्भगृह में ठाकुर जी का महाभिषेक किया जाएगा. रात 1 बज कर 55 मिनट पर मंगला आरती की जाएगी. इसके लिए मंदिर प्रबंधन ने रूपरेखा तैयार कर ली है. " 

गोस्वामी ने बताया, "आरती के बाद रात 02 बजे से सुबह साढ़े पांच बजे तक बांके बिहारी के दर्शन किए जा सकेंगे. फिर सुबह 07 बज कर 45 मिनट से दोपहर 12 बजे तक नन्दोत्सव मनाया जाएगा." 


नन्दोत्सव के अवसर पर मंदिर के कपाट खुलने पर, कान्हा के जन्म की खुशी में खिलौने, बर्तन, वस्त्र, रुपये, मिठाई, फल, मेवा लुटाए जाएंगे. दधिकांधा में केसर दही श्रद्धालुओं को दिया जाएगा. 

गौरतलब है कि इस बार जन्‍माष्‍टमी की तिथि को लेकर लोगों में असमंसज की स्थिति है. पौराणिक मान्‍यताओं के मुताबिक श्रीकृष्‍ण का जन्‍म भादो माह के कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी तिथि को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था. इस हिसाब से अष्‍टमी तिथि 23 अगस्‍त को पड़ रही है जबकि रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्‍त को है. हालांकि पंडितों और ज्‍योतिषों का मानना है कि जन्‍माष्‍टमी का व्रत 23 अगस्‍त को ही रखा जाना चाहिए. 

जन्‍माष्‍टमी की तिथि और शुभ मुहूर्त 
जन्‍माष्‍टमी की तिथि: 23 अगस्‍त और 24 अगस्‍त.
अष्‍टमी तिथि प्रारंभ: 23 अगस्‍त 2019 को सुबह 08 बजकर 09 मिनट से.
अष्‍टमी तिथि समाप्‍त: 24 अगस्‍त 2019 को सुबह 08 बजकर 32 मिनट तक.

रोहिणी नक्षत्र प्रारंभ: 24 अगस्‍त 2019 की सुबह 03 बजकर 48 मिनट से.
रोहिणी नक्षत्र समाप्‍त: 25 अगस्‍त 2019 को सुबह 04 बजकर 17 मिनट तक.

संबंधित ख़बरें 
जानिए जन्‍माष्‍टमी की तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्‍व

इस दिन करें जन्‍माष्‍टमी का व्रत

जन्‍माष्‍टमी के दिन कृष्‍ण को चढ़ाएं इस एक चीज का भोग

टिप्पणियां

कृष्‍ण की ये बातें संवार देंगी आपकी जिंदगी

जब कृष्ण ने दुर्योधन से कहा - ‘बांधने मुझे तो आया है, जंजीर बड़ी क्या लाया है?'



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement