Holi 2020: कोरोना के डर से रद्द हो रहे हैं होली मिलन कार्यक्रम, मथुरा में विदेशी पर्यटकों को अलग बैठाया गया

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर साल 2012 से विधवा एवं निराश्रित महिलाओं की देखभाल कर रही गैरसरकारी संस्था 'सुलभ इण्टरनेशनल' ने वृन्दावन के गोपीनाथ मंदिर में हर साल आयोजित होने वाला होली समारोह रद्द कर दिया है.

Holi 2020: कोरोना के डर से रद्द हो रहे हैं होली मिलन कार्यक्रम, मथुरा में विदेशी पर्यटकों को अलग बैठाया गया

Holi 2020: होली के कई कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है

मथुरा:

दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, जयपुर और आगरा में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के बाद मथुरा-वृंदावन की संस्थाएं होली कार्यक्रम रद्द कर रही हैं. वायरस फैलने के डर के बीच बुधवार और गुरुवार को बरसाना व नन्दगांव में लट्ठमार होली के दौरान विदेशी पर्यटकों के बैठने का अलग इंतजाम किया गया. उन्हें भीड़भाड़ में जाने से रोका गया.

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस के चलते होली का रंग पड़ा फीका

पिछले दो दिन में चार्टर्ड अकाउंटेंट एसोसिएशन एवं आयकर अधिकारियों ने पूर्व निर्धारित होली मिलन कार्यक्रम रद्द कर दिया है. वहीं सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर साल 2012 से विधवा एवं निराश्रित महिलाओं की देखभाल कर रही गैरसरकारी संस्था 'सुलभ इण्टरनेशनल' ने वृन्दावन के गोपीनाथ मंदिर में हर साल आयोजित होने वाला होली समारोह रद्द कर दिया है.

संस्था के मीडिया सलाहकार मदन झा ने बताया कि सुलभ के संस्थापक डॉक्टर बिन्देश्वरी दुबे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर सात मार्च को प्रस्तावित होली कार्यक्रम का आयोजन रद्द करने का निर्णय लिया है.

वहीं, जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने विज्ञप्ति जारी कर कोरोना वायरस के संबंध में किसी भी प्रकार की अफवाह से बचने की सलाह देते हुए जनपद में हर प्रकार के प्रबंध होने की जानकारी दी है.

उन्होंने कहा, "जनपद में संयुक्त अस्पताल एवं पुरुष अस्पताल मथुरा में विशेष प्रबंध किए गए हैं. इस संबंध में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा भी कोरोना वायरस की प्रभावी पहचान, उपचार व बचाव के लिए निर्देश जारी किए हैं."

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर शेर सिंह ने बताया, "कोरोना वायरस संक्रमण की अवस्था में जुकाम, खांसी, बुखार एवं सांस लेने में तकलीफ की समस्या होती है. कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई देने पर हेल्प लाइन नम्बर-18001805145 पर संपर्क कर सकते हैं."

उन्होंने बताया कि चीन, ईरान, दक्षिण कोरिया, इटली इत्यादि देशों से आने वाले यात्रियों पर खासतौर से निगरानी की जा रही है. किसी भी व्यक्ति के द्वारा चीन भ्रमण के पश्चात वापस आने पर सूचना जनपद के स्वास्थ्य विभाग को अवश्य दें, किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न होने पर स्वास्थ्य विभाग को अवगत कराएं.