Krishna Janmashtami 2020: श्रीकृष्ण को बहुत पसंद थी यें चीजें, जन्माष्टमी पर भोग में जरूर इन चीजों को करें शामिल

Happy Janmashtami 2020: इस साल कोरोनावायरस की वजह से सभी लोगों को अपने घरों में रहते हुए ही जन्माष्टमी का पर्व मनाना पड़ेगा. पिछले साल की इस साल भी जन्माष्टमी का त्योहार दो दिन यानी कि 11 और 12 अगस्त को मनाया जाएगा. 

Krishna Janmashtami 2020: श्रीकृष्ण को बहुत पसंद थी यें चीजें, जन्माष्टमी पर भोग में जरूर इन चीजों को करें शामिल

Janmashtami 2020: आप भी जन्माष्टमी पर भोग के लिए बनाएं ये चीजें.

नई दिल्ली:

Krishna Janmashtami 2020: देशभर में जन्माष्टमी (Happy Janmashtami 2020) का त्योहार बेहद ही धूमधाम से मनाया जाता है. हर साल भादो माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जन्माष्टमी (Janmashtami 2020) का त्योहार मनाया जाता है. हालांकि, इस साल कोरोनावायरस की वजह से सभी लोगों को अपने घरों में रहते हुए ही जन्माष्टमी का पर्व मनाना पड़ेगा. पिछले साल की इस साल भी जन्माष्टमी का त्योहार दो दिन यानी कि 11 और 12 अगस्त को मनाया जाएगा. 

माना जाता है कि, भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भादो माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था. ऐसे में 11 अगस्त को भादो माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को कुछ क्षेत्रों में जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा. वहीं 12 अगस्त को रोहिणी नक्षत्र में भी कई क्षेत्रों में जन्माष्टमी मनाई जाएगी. मथुरा में रोहिणी नक्षत्र में यानी कि 12 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी. वहीं गोगुल में 11 अगस्त यानी कि कृष्ण पक्ष की अष्टमी को ही श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा. 

यह भी पढ़ें: कब है जन्माष्टमी, भोग के लिए बनने वाली पंजीरी खाने के हैं कमाल के फायदे, जानें कैसे बनाएं हेल्दी पंजीरी!

जन्‍माष्‍टमी की तिथि और शुभ मुहूर्त 
जन्‍माष्‍टमी की तिथि: 11 अगस्‍त और 12 अगस्‍त.
अष्‍टमी तिथि प्रारंभ: 11 अगस्‍त 2020 को सुबह 09 बजकर 06 मिनट से.
अष्‍टमी तिथि समाप्‍त: 12 अगस्‍त 2020 को सुबह 05 बजकर 22 मिनट तक.

रोहिणी नक्षत्र प्रारंभ: 13 अगस्‍त 2020 की सुबह 03 बजकर 27 मिनट से.
रोहिणी नक्षत्र समाप्‍त: 14 अगस्‍त 2020 को सुबह 05 बजकर 22 मिनट तक.

इन चीजों का जरूर लगाएं भोग
भगवान श्रीकृष्ण के बाल रूप को लड्डू गोपाल कहा जाता है. जन्माष्टमी के दिन आपको भी लड्डू गोपाल को उनकी इन 5 पंसदीदा चीजों का भोग जरूर लगाना चाहिए.

1. माखन
लड्डू गोपाल को माखन बहुत ही पसंद था. यहां तक कि उन्हें माखन चोर भी कहा जाता था. ऐसे में जन्माष्टमी के मौके पर आपको लड्डू गोपाल को घर पर बने मक्खन मिश्री का भोग अवश्य ही लगाना चाहिए. लड्डू गोपाल को माखन बहुत ही अधिक पसंद था और वह गोकुल में अक्सर माखन चोरी करके खाया करते थे. 

2. आटे की पंजीरी
जन्माष्टमी के आप लड्डू गोपाल को आटे की पंजीरी का भी भोग लगा सकते हैं. आटे की पंजीरी भी उन्हें काफी पसंद थी और ये स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही अच्छी होती है. 

3. मखाना पाग
श्रीकृष्ण जन्मोत्वसव के मौके पर लड्डू गोपाल को मखाना पाग का भोग अवश्य ही लगाएं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार उन्हें मखाना पाग काफी पसंद थे.

4. पंचामृत
जन्माष्टमी के मौके पर पंचामृत का विशेष महत्व है. लड्डू गोपाल के जन्मदिन पर पंचामृत से उनका अभिषेक किया जाता है. लड्डू गोपाल का अभिषेक करने के बाद इसे प्रसाद के रूप में लिया जाता है. पंचामृत बनाने के लिए आपको घी, बतासे, दूध, शहद, गंगाजल औ तुलसी की आवश्यकता होगी. 

5. मखाने की खीर
मखाना पाग की तरह लड्डू गोपाल को मखाने की खीर भी बहुत ही पसंद थी. मखाने की खीर बनाने के लिए आपको काजू, बादाम, घी और मखानों की आवश्यकता होगी.

Newsbeep

जन्माष्टमी 2020: धनिया प्रसाद बनाने की रेसिपी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com