NDTV Khabar

पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने सीखी हिंदी - खास बातें

दोनों नेता अपनी इस पहली शिखर बैठक में कारोबार और आतंकवाद से निपटने समेत साझा हितों से जुड़े व्यापक कूटनीतिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे.

403 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने सीखी हिंदी - खास बातें

फाइल फोटो

वाशिंगटन: ट्रंप प्रशासन के सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्हाइट हाउस की पहली यात्रा को सफल बनाने के लिए भारत और अमेरिका के अधिकारियों ने काफी मेहनत की है. सोमवार को दोनों नेताओं की पहली मुलाकात से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और अमेरिका के आपसी रिश्तों और रक्षा क्षेत्र में दोनों देशों के बढ़ते सहयोग के बारे में काफी विस्तृत जानकारी ली. उन्होंने थोड़ी-बहुत हिंदी की भी जानकारी ली, जिसे संभवत: वह पीएम मोदी से मुलाकात और उसके बाद के कार्यक्रम में जाहिर कर सकते हैं.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :
  1. शिकागो के उद्योगपति शलभ 'शल्ली' कुमार ने कहा, डोनाल्ड ट्रंप पीएम मोदी से मुलाकात के लिए हिंदी शब्द सीख रहे हैं. वह कहेंगे- ट्रंप सरकार मोदी सरकार का स्वागत करती है. शलभ पिछले साल राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप की भारतीय-अमेरिकी समुदाय तक पहुंच बनाने के मुख्य रणनीतिकार थे.
  2. ट्रंप ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान भारतीय-अमेरिकियों को रिझाने के वास्ते 30 सेकंड के विज्ञापन में अबकी बार ट्रंप सरकार का नारा दिया था, जो 2014 में भारत में हुए लोकसभा चुनावों के दौरान नरेंद्र मोदी के लोकप्रिय चुनावी नारा- अबकी बार मोदी सरकार की तर्ज पर तैयार किया गया था.
  3. दोनों नेता अपनी इस पहली शिखर बैठक में कारोबार और आतंकवाद से निपटने समेत साझा हितों से जुड़े व्यापक कूटनीतिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे. मोदी और ट्रंप विभिन्न अवसरों पर एक-दूसरे के साथ काफी वक्त बिताएंगे, जिनमें उनकी एक-दूसरे से सीधी बातचीत, प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता, स्वागत समारोह और डिनर भी शामिल है.
  4. ट्रंप ने कल अपने सरकारी ट्वीटर हेंडल (एपीओटीयूएस) पर पोस्ट किया था, 'सोमवार को व्हाइट हाउस में भारतीय प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करने का इंतजार है.' पीएम मोदी ने इसके जवाब में गर्मजोशीपूर्ण स्वागत के लिए ट्रंप का आभार जताया और कहा कि उन्हें बैठक और चर्चाओं का बहुत इंतजार है.
  5. मोदी के लिए ट्रंप जो वर्किंग डिनर दे रहे हैं, वह मौजूदा अमेरिकी प्रशासन के तहत अपनी किस्म का पहला रात्रिभोज है.
  6. व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा था, 'बैठक के दौरान, राष्ट्रपति ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी सहयोग के मुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे जिनमें आतंकवाद से मुकाबला, भारत-प्रशांत क्षेत्र में रक्षा सहयोग, कारोबार, कानून प्रवर्तन और ऊर्जा शामिल हैं.
  7. अमेरिका में भारतीय राजदूत नवतेज सरना ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच पहली आमने-सामने की मुलाकात दोनों को भारत-अमेरिका साझेदारी के पूरे परिदृश्य पर नजर डालने और वैश्विक हित से जुड़े मुद्दों पर विचारों के आदान-प्रदान का मौका देगी.
  8. वॉल स्ट्रीट जर्नल में प्रकाशित एक संपादकीय में प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा है कि भारत और अमेरिका एक ऐसी गहरी और मजबूत साझेदारी बना रहे हैं, जो कि बेल्टवे और रायसीना हिल से कहीं आगे तक जाती है.
  9. बेल्टवे अंतरराज्यीय 495 नामक राजमार्ग है जो वाशिंगटन डीसी के चारों ओर से गुजरता है, जबकि रायसीना हिल नई दिल्ली में भारत सरकार की सत्ता का केंद्र है.
  10. मोदी की अमेरिका यात्रा की पूर्व संध्या पर ट्रंप प्रशासन ने इन रिपोर्टो को खारिज किया था कि वह भारत की अनदेखी कर रहा है. प्रशासन ने कहा था कि राष्ट्रपति ट्रंप को यह अहसास है कि यह देश विश्व में भलाई के लिए एक ताकत  रहा है और इसके साथ संबंध महत्वपूर्ण हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement