Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आखिर क्या वजह हैं कि लालू यादव की रैली से कांग्रेस-बीएसपी ने बनाई दूरी - 5 बातें

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल शनिवार को नार्वे की राजधानी ओस्लो के लिए रवाना हो गये. बताया जाता है कि सोनिया स्वास्थ्य कारणों से बाहर के कार्यक्रमों में प्राय: नहीं जा रही हैं. मायावती ने पहले ही इस रैली से अलग रहने की घोषणा कर दी है.

आखिर क्या वजह हैं कि लालू यादव की रैली से कांग्रेस-बीएसपी ने बनाई दूरी - 5 बातें

फाइल फोटो

पटना: पटना में लालू यादव की रैली में जहां पहले सोनिया गांधी और राहुल गांधी से लेकर मायावती समेत कई और दिग्गज विपक्षी नेताओं के आने के कयास और कोशिशें थे वहीं इस रैली का समय नजदीक आते आते यह साफ हो गया कि इसमें सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मायावती भाग नहीं लेगें.

इस पूरे घटनाक्रम से जुड़ी 5 खास बातें

  1. पहले लालू प्रसाद यादव दावा कर रहे थे कि रैली में मायावती और अखिलेश यादव हिस्सा लेंगे. अगर ऐसा होता तो यह विपक्षी एकता की सबसे बड़ी कामयाबी होती. मगर मायावती ने जाने से इनकार कर दिया है और प्रतिनिधि के रूप में सतीश चंद्र मिश्रा को भेजने का फैसला किया है.

  2. चारा घोटाले में दोषी साबित हो चुके लालू के साथ रैली के दौरान एक ही मंच शेयर करना कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ही नहीं बल्कि अन्य नेताओं के लिए भी आसान नहीं. 

  3. कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजादऔर सीपी जोशी हिस्सा लेंगे. जबकि कुछ दिन पहले ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी विपक्षी दलों को एक करने की कोशिश में लगे हुए हैं लेकिन अब यह भी साफ है कि वह इस रैली में भाग नहीं ले रहे हैं.

  4. केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद इस रैली को सबसे पहली बड़ी रैली है जिसमें विपक्षी एकता का दावा किया जा रहा था लेकिन इससे सभी बड़े चेहरे नदारद हैं.

  5. बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल चुके लालू प्रसाद यादव को विपक्षी दलों से सिर्फ सिर्फ प्रतिनिधियों का आश्वासन दिया जाएगा. ऐसे में इस लड़ाई को आगे ले जाने को लेकर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं.

वीडियो- लालू यादव ने माना, जेल में बंद शहाबुद्दीन से होती रहती थी बातचीत