NDTV Khabar

'तितली' तूफान हुआ बेहद विकराल, ओडिशा में स्कूल-कॉलेज बंद, आंध्रप्रदेश में भी अलर्ट, 10 बातें...

बेहद खतरनाक रूप ले चुके चक्रवाती तूफान 'तितली' (Cyclone Titli) के गुरुवार को बंगाल की खाड़ी पार करने की आशंका को देखते हुए आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय जिलों में हाईअलर्ट जारी किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'तितली' तूफान हुआ बेहद विकराल, ओडिशा में स्कूल-कॉलेज बंद, आंध्रप्रदेश में भी अलर्ट, 10 बातें...

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली: बेहद खतरनाक रूप ले चुके चक्रवाती तूफान 'तितली' (Cyclone Titli) के गुरुवार को बंगाल की खाड़ी पार करने की आशंका को देखते हुए आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय जिलों में हाईअलर्ट जारी किया गया. तूफान (Cyclone) की रफ्तार 165 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ रही है और उसके कारण भारी बारिश और तबाही आने की आशंका है. तूफ़ान ओडिशा और आंध्रप्रदेश के समुद्र तटीय इलाक़ों की ओर बढ़ रहा है. जिसकी वजह से इस पूरे क्षेत्र में भारी बारिश की भी आशंका है. तितली के ख़तरे के मद्देनज़र ओडिशा और आंध्रप्रदेश सरकार ख़ास एहतियात बरत रही है. ओडिशा में चार ज़िलों के सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद रखने का आदेश दिया गया है. ख़तरे की जगहों पर मौजूद लोगों को हटाया जा रहा है. ओडिशा से लगभग 3 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. साथ ही मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की हिदायत दी गई है. ओडिशा में इस तूफान के गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे दस्तक देने की आशंका है. ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों में लोगों से घरों को खाली कराना शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया. उन्होंने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों से तटीय क्षेत्र में निचले इलाकों में रह रहे लोगों से तुरंत घर खाली कराने के लिए कहा है.
1,000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया
  1. ओडिशा के गोपालपुर जिले से लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया है. इस जिले में सुबह करीब साढ़े पांच बजे तितली तूफान के आने की संभावना जताई जा रही है. 
  2. चक्रवात पहुंचने के दौरान समुद्र में करीब एक मीटर ऊंची लहरें उठने के भारतीय मौसम विभाग के अनुमान के मद्देनजर तुरंत स्थान खाली कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. 
  3. एनडीआरएफ और ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल (ओडीआरएएफ) के कर्मियों को पहले ही संवेदनशील जिलों में तैनात कर दिया गया है. अभी तक सेना की मदद नहीं मांगी है. जरूरत पड़ने पर सेना की मदद ली जाएगी.
  4. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से यह भी कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि 'कोई भी हताहत ना हो' और आपदा के दौरान लोगों के रहने के लिए चक्रवात शरणार्थी शिविरों को तैयार रखने के लिए कहा है. 
  5. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्यभर में भारी बारिश के अनुमान के मद्देनजर सभी स्कूलों, कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को गुरुवार और शुक्रवार को बंद रखने के आदेश दिए हैं. गुरुवार को होने वाले कॉलेज छात्र संघ चुनाव भी रद्द कर दिए गए हैं.
  6. भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात 'तितली' पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी पर पिछले छह घंटे के दौरान 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ा और वह ओडिशा के गोपालपुर के दक्षिणपूर्व से करीब 280 किलोमीटर दूर है. 
  7. तटीय ओडिशा के कुछ इलाकों में बुधवार को बारिश हुई. मौसम विभाग ने गुरुवार तक कई इलाकों में 'भारी से बहुत भारी वर्षा' और कुछ इलाकों में 'अत्यधिक भारी बारिश' का अनुमान जताया है.
  8. मौसम विभाग ने बताया कि गंजम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, नयागढ़, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर जैसे जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है.
  9.  मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया. उन्होंने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों से तटीय क्षेत्र में निचले इलाकों में रह रहे लोगों से तुरंत घर खाली कराने के लिए कहा है.
  10. तूफान 11 अक्टूबर को सुबह 11.30 बजे तक जारी रहेगा और हवा की तीव्रता 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी, जो 165 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाएगी. तूफान आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम के पास से गुजरेगा. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement