जब अनिल कपूर ने अजय देवगन से कहा, तूने तो हमारी फिल्म का बैंड बजा दिया

एनडीटीवी यूथ फॉर चेंज कॉनक्लेव में ‘द एंडलेस इवॉल्यूशन विदइन द एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री’ सेशन में अजय देवगन ने बताया अपने पैशन के बारे में

जब अनिल कपूर ने अजय देवगन से कहा, तूने तो हमारी फिल्म का बैंड बजा दिया

अजय देवगन

खास बातें

  • फिल्मों में आने से पहल पैशन नहीं था एक्टिंग का
  • असली घटना पर फिक्शनल कहानी है बादशाहो
  • एक्शन से भरपूर है फिल्म
नई दिल्ली:

एनडीटीवी यूथ फॉर चेंज कॉनक्लेव में ‘द एंडलेस इवॉल्यूशन विदइन द एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री’ सेशन में अजय देवगन ने बताया कि जब उनकी पहली फिल्म रिलीज हो रही थी उस समय भी वे कतई इनसिक्योर नहीं थे. मंच संचालन सिक्ता देव कर रही थीं. मंच पर बादशाहो की पूरी टीम मौजूद थी. जिसमें अजय देवगन के अलावा इमरान हाशमी, ईशा गुप्ता, इलियाना डीक्रूज और विद्युत जामवाल भी मौजूद थे. अजय मानते हैं कि जब काम करते हैं तो सिर्फ काम करते हैं और घर पर काम को लेकर नहीं जाते हैं. काम के बारे में उन्होंने कभी घर पर डिस्कस नहीं किया. 

यह भी पढ़ेंःNDTV Youth For Change: ऐसी अंग्रेजी बोलती थीं कंगना रनोट कि सुनने वाले को चक्कर आ जाते थे

जब सिक्ता ने अजय से पूछा कि आपकी फिल्मों में आने की कोई इच्छा थी. फिर भी फिल्मों में आए, लेकिन कोई भी काम करने के लिए पैशन चाहिए होता है. अजय ने कहा, “फिल्म में आने से पहले मेरा कोई पैशन नहीं था. जब मैंने काम शुरू किया तो मैंने डिसाइड किया कि अब करूंगा तो ठीक से करूंगा. हिट हो गई तो ठीक. नहीं तो अपना पोर्टफोलियो लेकर घूमूंगा नहीं.” जब उनसे पूछा गया कि अनिल कपूर ने आपसे आपकी पहली फिल्म फूल और कांटे की डेट आगे बढ़ाने के लिए कहा था क्योंकि उनकी लम्हे रिलीज हो रही थी तो उन्होंने कहा, “उन्होंने अपनी तरफ से सजेशन दिया था कोई और डेट ले लो. मैं उस समय नया था. प्रोड्यूसर के ऊपर सबकुछ था. मैं कभी भी इनसिक्योर नहीं रहा. फिल्म रिलीज के दो हफ्ते बाद अनिल कपूर का फोन आया और उन्होंने कहा कि तूने तो हमारी फिल्म का बैंड बजा दिया.” 

Video: सिनेमा के 'बादशाहो'

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अजय ने यह भी कहा कि मैंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा है. उन्होंने बताया, “मैं बहुत ज्यादा पीछे मुड़कर देखता नहीं हूं क्योंकि फिर आदमी पीछे ही देखता रहता है आगे देखने का टाइम ही नहीं मिलता है. अगली बार वही गलती न करें. यही कोशिश होनी चाहिए.”