High Blood Pressure: अपने लाइफस्टाइल में ये 5 बदलाव कर कारगर तरीके से कंट्रोल कर सकते हैं हाई ब्लड प्रेशर!

Ways To Lower Blood Pressure: शारीरिक रूप से सक्रिय होकर अपनी जीवनशैली में सुधार करना, नियमित रूप से व्यायाम करना, धूम्रपान और शराब से दूर रहना, आपके ब्लड प्रेशर की संख्या (Blood Pressure Number) को कम कर सकता है. लाइफस्टाइल में ये 5 बदलाव बदल सकते हैं आपकी जिंदगी...

High Blood Pressure: अपने लाइफस्टाइल में ये 5 बदलाव कर कारगर तरीके से कंट्रोल कर सकते हैं हाई ब्लड प्रेशर!

How To Control Blood Pressure: वजन को कम करके हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है

खास बातें

  • हाई बीपी कम करने के लिए शारीरिक रूप से सक्रिय रहें.
  • रक्तचाप में स्पाइक्स को रोकने के लिए धूम्रपान और शराब छोड़ें.
  • वजन को कम कर भी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है.

Ways To Control High Blood Pressure: भारत और दुनिया भर में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या (High Blood Pressure Problems) काफी सामान्य है. विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि (WHO) का मानना है कि वैश्विक स्तर पर 1.13 बिलियन लोग हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं. जो कि विश्व की आबादी का दो-तिहाई हिस्सा है. हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) एक स्थिति है जिसे आमतौर पर साइलेंट किलर के रूप में जाना जाता है. कुछ लोग ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies For High Blood Pressure)  करते हैं तो कुछ दवाओं का सहारा लेते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अपनी लाइस्टाइल में सिर्फ 5 बदलाव कर हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है.

हाई बीपी (High BP) दिल का दौरा, दिल की विफलता, स्ट्रोक, गुर्दे की विफलता और कई अन्य समस्याओं को बढ़ा सकता है. यही कारण है कि नियमित अंतराल में ब्लड प्रेशर की जांच करना काफी जरूरी है. जीवनशैली में सुधार और डाइट में हेल्दी बदलाव लाने से आपको ब्लड प्रेशर को कम करने (Lower Blood Pressure) में मदद मिल सकती है.

लाइस्टाइल में बदलाव कर कंट्रोल करें हाई ब्लड प्रेशर | Control High Blood Pressure By Changing The Lifestyle

विशेषज्ञों का मानना है कि अपनी जीवनशैली में स्वस्थ बदलाव लाकर हाई ब्लड प्रेशर के 50-90% मामलों को सफलतापूर्वक कम किया जा सकता है. रिपोर्ट WebMD

1. शारीरिक गतिविधि करना

शारीरिक गतिविधि का मध्यम स्तर भी आपके रक्तचाप में महत्वपूर्ण अंतर ला सकता है. उन लोगों के लिए जो शारीरिक रूप से सक्रिय होने के लिए अभ्यस्त नहीं हैं, व्यायाम की आदत बनाने के लिए अपनी पसंदीदा गतिविधि को पांच से 10 मिनट तक करने की शुरुआत करें. धीरे-धीरे एक सप्ताह में व्यायाम करने का समय 150 मिनट तक बढ़ाएं.

6hhc14p8Ways To Control High Blood Pressure: शारीरिक रूप से एक्टिव रहकर ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है

2. वजन कम करना

आपके वर्तमान शरीर के वजन का पांच प्रतिशत भी कम करने की कोशिश करने से आपके रक्तचाप को कम करने में मदद मिल सकती है. अगर आप अपने शरीर के वजन का 10% कम कर देते हैं, तो आलिंद फिब्रिलेशन जैसी अन्य स्वास्थ्य स्थितियों में सुधार कर सकते हैं. शारीरिक गतिविधि के बाद एक स्वस्थ आहार, अच्छी नींद और कम तनाव एक साथ मिलकर आपको वजन कम करने में मदद कर सकते हैं. सुनिश्चित करें कि आप जल्दी वजन घटाने की रणनीतियों का सहारा नहीं लेते हैं क्योंकि वे प्रकृति में टिकाऊ नहीं हैं. यानि कि तेजी से वजन कम करने पर यह कुछ ही समय के लिए रहता है.

3. हेल्दी डाइट

हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए अपने नंबर को कम करने के एक तरीका खाने में नमक को कम करना है. प्रोसेस्ड और पैकेज्ड फूड एक बड़ा नो-नो है, यानि आपको इनके सेवन से बचना है. जहां तक आप घर का बना खाना खा रहे हैं और बाहर का खाना खाने से परहेज करते हैं, नमक के सेवन को नियंत्रित किया जा सकता है.

76cgnvjgWays To Control High Blood Pressure: हेल्दी डाइट आपके रक्तचाप को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकती है

4. शराब से बचें

आदर्श रूप से, सबसे अच्छी बात यह है कि इसे पूरी तरह से छोड़ दिया जाए या केवल अवसरों पर इसकी खपत को कम किया जाए. शराब की कोई भी मात्रा आपके शरीर के लिए अच्छी नहीं है. अगर आप अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो यह एक निवारक भी हो सकता है.

5. धूम्रपान छोड़ दें

हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए धूम्रपान खतरनाक हो सकता है. अगर आपको उच्च रक्तचाप है और आप धूम्रपान करते हैं, तो जल्द से जल्द इसे छोड़ने की दिशा में काम करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अगर आप इन जीवनशैली की आदतों का पालन करने में निरंतरता बनाए रखते हैं, तो यह आपके रक्तचाप को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकता है.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.