शहद में चुटकीभर दालचीनी पाउडर मिलाकर करें सेवन, अल्सर, मुंहासे और अर्थराइटिस में मदद के साथ मिलेंगे 5 जबरदस्त फायदे!

Honey And Cinnamon Benefits: हर छोटी-बड़ी समस्या को दूर करने के लिए शहद का सेवन किया जाता है, लेकिन अगर आप शहद और दालचीनी (Honey With Cinnamon) का एक साथ सेवन करेंगे तो आपको कई कमाल के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं. चाहे वह संक्रमण (Infection) हो या फिर स्किन पर मुंहासे. शहद और दालचीनी पाउडर ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल करने के लिए भी रामबाण माना जाता है.

शहद में चुटकीभर दालचीनी पाउडर मिलाकर करें सेवन, अल्सर, मुंहासे और अर्थराइटिस में मदद के साथ मिलेंगे 5 जबरदस्त फायदे!

Honey And Cinnamon Benefits: शहद और दालचीनी पाउडर का एक साथ सेवन कर पाएं कई लाभ

खास बातें

  • शहद और दालचीनी का एक साथ सेवन करने के हैं कई फायदे.
  • एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है दालचीनी.
  • दोनों का एक साथ सेवन कर ब्लड शुगर लेवल को रख सकते हैं कंट्रोल.

Honey With Cinnamon Powder: शहद को एक हेल्दी शुगर के रूप में भी जाना जाता है. शहद (Honey) स्वास्थ्य के लिए एक प्राकृतिक औषधि की तरह है. हर छोटी-बड़ी समस्या को दूर करने के लिए शहद का सेवन किया जाता है, लेकिन अगर आप शहद और दालचीनी (Honey With Cinnamon) का एक साथ सेवन करेंगे तो आपको कई कमाल के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं. चाहे वह संक्रमण (Infection) हो या फिर स्किन पर मुंहासे. शहद और दालचीनी के फायदों (Honey And Cinnamon Benefits) की लिस्ट लंबी है. शहद और दालचीनी पाउडर ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल करने के लिए भी रामबाण माना जाता है. चेहरे के पिंपल (Pimple) से लेकर पेट के अल्सर (Stomach Ulcer) तक को दूर करने के लिए शहद के स्वास्थ्य लाभ कई हैं. अगर आप शहद के साथ दालचीनी पाउडर को मिलाकर खाते हैं, तो संक्रमण के खतरे को भी दूर किया जा सकता है. अर्थराइटिस के लिए शहद और दालचीनी (Honey And Cinnamon For Arthritis) कारगर साबित हो सकती है. यहां जानें इन दोनों का एक साथ सेवन करने के कई कमाल के स्वास्थ्य लाभ...

शहद और दालचीनी का एक साथ सेवन करने के स्वास्थ्य लाभ | Health Benefits Of Consuming Honey And Cinnamon Together

1. यूरिन इंफेक्शन को रखेगा दूर

अक्सर कम पानी पीने या खानपान की वजह से यूरीन इंफेक्शन हो जाता है. ऐसे में अगर आप शहद और दालचीनी का एक साथ सेवन करते हैं तो आपको यूरीन इंफेक्शन से राहत मिल सकती है. जिन्हें यह समस्या अक्सर होती है उन्हें दलचीनी और शहद का सेवन करना चाहिए. खासकर महिलाओं को रोजाना शहद में दालचीनी पाउडर मिलाकर सेवन करना चाहिए, क्योंकि ये समस्या ज्यादातर महिलाओं में ही देखने को मिलती है.

b2r2clqo

Honey And Cinnamon Powder: यूरिन इंफेक्शन को दूर करने के लिए शहद और दालचीनी का सेवन करना चाहिए

2. अर्थरॉइटिस में फायदेमंद

दालचीनी और शहद में एंटी ऑक्सीडेंट्स और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो अर्थराइटिस में जोड़ों के दर्द और सूजन को दूर करने में मदद कर सकते हैं. शहद में दालचीनी का एक चुटकी पाउडर मिलाकर हर दिन रात को सोने से पहले खाएं और इसे खाने के बाद गुनगुना पानी पी लें. इससे न सिर्फ अच्छी नींद मिल सकती है बल्कि अर्थराइटिस में जोड़ों के दर्द से भी राहत पाई जा सकती है.

3. पेट के अल्सर में भी असरदार

शहद और दालचीनी पाउडर का सेवन पेट के अल्सर से छुटकारा दिला सकता है. शहद में दालचीनी का पाउडर मिक्स करके इसका सेवन धीरे-धीरे चाटकर करें. दालचीनी में ऐसे कई गुण होते हैं जो इंफेक्शन और अल्सर से लड़ने में मददगार होते हैं. साथ ही शहद में पाई जाने प्रॉपर्टीज भी अक्सर को दूर करने में फायदेमंद हो सकती हैं.

4. कॉलेस्ट्रोल बढ़ने से रोके

दालचीनी और शहद का एकसाथ सेवन करने से कॉलेस्ट्रोल को बढ़ने से रोका जा सकता है. यह खराब कॉलेस्ट्रोल को कम करने में भी फायदेमंद माना जा सकता है. इन दोनों के एक साथ सेवन से कॉलेस्ट्रोल लेवल को कंट्रोल में रखा जा सकता है. इस बात जरूर ध्यान रखें कि दालचीनी पाउडर बहुत सीमित मात्रा में उपयोग करें. आपको एक चम्मच शहद के साथ एक चुटकी दालचीनी पाउडर का सेवन करना चाहिए.

lkp34nb

Honey And Cinnamon Benefits: कॉलेस्ट्रोल को कंट्रोल करने में हनी और दालचीनी फायदेमंद हो सकती है  

5. मुहासों से बचाएगा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह कमाल का मिक्स मुंहासों के लिए भी कारगर हो सकता है. कई लोगों को अक्सर मुंहासे होते हैं. यह कई कारणों से हो सकते हैं. जैसे पेट खराब होना, डिहाइड्रेशन, हार्मोनल बदलाव आदि. ऐसे में आप एक चम्मच शहद में एक चुटकी दालचीनी मिलाकर सेवन कर सकते हैं. या प्रभावित जगह पर इसका लेप कर सकते हैं.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.