Delhi-NCR AQI: बढ़ते प्रदूषण से दिल्ली के लिए अगले चार-पांच दिन बेहद मुश्किल, मिली चेतावनी! जानें प्रदूषण से बचने के कारगर उपाय

Delhi Air Quality Index: सर्दियां आते ही दिल्लीवालों के लिए मुश्किलें बढ़ जाती हैं. अक्टूबर लास्ट से ही दिल्ली में प्रदूषण स्तर (Pollution Level In Delhi) बढ़ने लगा था और आज हालात बेकाबू होने को हैं. दिसंबर महीने के पहले सप्ताह से ही हवा की गुणवत्ता और खतरनाक होने वाली है. मौसम विभाग ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है. ऐसे में प्रदूषण से बचने के लिए कुछ उपाय करना जरूरी है.

Delhi-NCR AQI: बढ़ते प्रदूषण से दिल्ली के लिए अगले चार-पांच दिन बेहद मुश्किल, मिली चेतावनी! जानें प्रदूषण से बचने के कारगर उपाय

Ways To Avoid Pollution: प्रदूषण से बचने के लिए घर से बाहर जाने पर मास्क लगाकर जाएं

खास बातें

  • दिल्ली की हवा गुणवत्ता 'बेहद खराब' स्तर पर पहुंच गई है.
  • दिल्लीवालों को जरूर एहतियात बरतने की जरूरत है.
  • यहां प्रदूषण से बचने के टिप्स बताए गए हैं जिन्हें आपको फॉलो करना चाहिए.

Delhi Pollution 2020: दिल्ली सालों से प्रदषण की मार झेल रही है. दिसंबर का पहला हफ्ता चल रहा है और मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों के लिए दिल्लीवालों के लिए चेतावनी जारी कर दी है. सर्दियां आते ही दिल्लीवालों के लिए मुश्किलें बढ़ जाती हैं. बढ़ते प्रदूषण (Pollution) को देखते हुए मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है, कि दिल्ली-एनसीआर में वायु की गुणवत्ता (Air Quality In Delhi-NCR) बद से बदतर होने वाली है. मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि 4 दिसंबर से 7 दिसंबर तक स्थिति ज्यादा गंभीर होने की आशंका है. दिल्ली की हवा गुणवत्ता 'बेहद खराब' स्तर पर पहुंच गई है. पिछले महीने भी दिल्ली में नौ दिन खराब एयर क्वॉलिटी रिकॉर्ड की गई थी. मंगलवार को शहर में 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 367 था. सोमवार को यह 318 था जबकि रविवार को यह 268 था. बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई ‘अच्छा', 51 और 100 के बीच एक्यूआई ‘संतोषजनक', 101 और 200 के बीच एक्यूआई ‘सामान्य', 201 और 300 के बीच एक्यूआई ‘खराब', 301 और 400 के बीच एक्यूआई ‘बेहद खराब' और 401 से 500 के बीच एक्यूआई ‘गंभीर' की श्रेणी में आता है.

ऐसे में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए दिल्लीवालों को जरूर एहतियात बरतने की जरूरत है. 'एयर क्वॉलिटी अर्ली वॉर्निंग सिस्टम फॉर डेली' के मुताबिक, 'मौसम के कारण एयर क्वॉलिटी के बेहद खराब होने की आशंका है. ऐसा लग रहा है कि 4 दिसंबर से 7 दिसंबर तक वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' श्रेणी से गंभीर श्रेणी में पहुंच जाएगी.' चेतावनी के बाद प्रदूषण से बचने के उपाय (Ways To Avoid Pollution) करना जरूरी है. प्रदूषण कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है. प्रदूषण से बचने के तरीके (Ways To Avoid Pollution) कई हैं. यहां कुछ टिप्स बताए गए हैं जिन्हें आपको फॉलो करना चाहिए.

प्रदूषण से होने वाली बीमारियां | Diseases Caused By Pollution

फेफड़ों का कैंसर: वायु प्रदूषण के कारण सबसे ज्यादा समस्या फेफड़ों की बीमारी को लेकर आती है. वायु प्रदूषण से फेफड़ों की होने वाली बीमारी में अस्थमा और क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज हैं. वायु प्रदूषण से फेफड़ों में होने वाले कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है.
हार्ट डिजीज का खतरा: प्रदूषित वायु में मौजूद कार्बन मोनोऑक्साइड, नाइट्रोजन डाइऑक्साइड और सल्फर डाइऑक्साइड के कारण लोगों में दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है. 
गर्भवती महिलाओं और बच्चों के लिए खतरनाक: प्रदूषण खासकर बच्चों और महिलाओं को प्रभावित कर सकता है.
लीवर को भी कर सकता है खराब: वायु प्रदूषण से गुर्दा संबंधी रोगों की समस्या तेजी से बढ़ सकती है.

nhp8nho8

Delhi Pollution 2020: दिल्ली में लगातार बढ़ रहा है प्रदूषण का स्तर 

प्रदूषण से बचने के लिए अपनाएं ये टिप्स | Follow These Tips To Avoid Pollution   

1. अपने घर और आस-पास की जगहों पर ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाएं. ये हवा को प्यूरीफाई करने का काम करते हैं. जिससे आप ताजी हवा में सांस ले पाएंगे.

2. सांसों से शरीर में पहुंचे जहर को बाहर निकालने के लिए पानी बहुत जरूरी है. इसलिए पानी पीना नहीं भूलें. दिन में तकरीबन 4 लीटर तक पानी पिएं. घर से बाहर निकलते वक्त भी पानी पिएं. इससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई सही बनी रहेगी और वातावरण में मौजूद जहरीली गैसें अगर ब्लड तक पहुंच भी जाएंगी तो कम नुकसान पहुंचाएंगी.

3. घर से बाहर निकलने से पहले चेहरे पर मास्क जरूर लगाएं.

4. खाने में जितना हो सके विटामिन-सी, ओमेगा-3 को प्रयोग में लाएं. शहद, लहसुन, अदरक का खाने में ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें. खांसी, जुकाम की स्थिति में शहद और अदरक के रस का सेवन करें.

5. अगर घर से बाहर निकलना आपकी मजबूरी है तो घर आने के बाद गुनगुने पानी से मुंह, आंखें और नाक साफ करें. बाहर से आने के बाद भाप भी ले सकते हैं.

6. जब तक प्रदूषण है तब तक बच्चों को बाहर खेलने ना निकलने दें. साइकिलिंग करने से बचें, ज्यादा देर पैदल ना चलें.

7. कफ की दिक्कत है तो शहद में काली मिर्च मिलाकर लें. वहीं, लहसुन में एंटीबॉयटिक तत्व होते हैं जो प्रदूषण से लड़ने की क्षमता बढ़ाते हैं.

8. अस्थमा के मरीज हैं तो दवाइयां हमेशा साथ रखें. गर्भवती महिलाएं घर में रहने के दौरान भी मास्क पहनें.


9. सुबह के वक्त प्रदूषण का स्तर ज्यादा होता है इसलिए मॉर्निंग वॉक पर नहीं जाएं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.