Digestion Problems: महिलाओं में पेट की इन 3 समस्याओं के पीछे हैं ये कारण, पाचन को हेल्दी रखने के लिए हार्मोन को रखें बैलेंस

Hormonal Imbalance In Women: महिलाओं में हार्मोन का बदलाव हर अवस्था में होता है. यही हार्मोन (Hormonal) महिलाओं में हेल्थ के लिए भी जिम्मेदार होते हैं. अगर महिलाओं में अपच की समस्याओं (Indigestion Problems) की बात करें. कुछ कारण हैं जो अक्सर महिलाओं में पेट की समस्याओं (Stomach Problems) को जन्म दे सकते हैं.

Digestion Problems: महिलाओं में पेट की इन 3 समस्याओं के पीछे हैं ये कारण, पाचन को हेल्दी रखने के लिए हार्मोन को रखें बैलेंस

Digestion Problems: महिलाओं में हार्मोन का बदलाव हर अवस्था में होता है

Causes Of Digestion Problems: महिलाओं में हार्मोन का बदलाव हर अवस्था में होता है. यही हार्मोन (Hormonal) महिलाओं में हेल्थ के लिए भी जिम्मेदार होते हैं. अगर महिलाओं में अपच की समस्याओं (Indigestion Problems) की बात करें. कुछ कारण हैं जो अक्सर महिलाओं में पेट की समस्याओं (Stomach Problems) को जन्म दे सकते हैं. महिलाओं के स्वास्थ्य में एक बड़ा हाथ उनके हार्मोन्स की गतिविधियों का होता है. महिलाओं में हर स्टेज पर हार्मोन्स में बदलाव होता है. जैसे पीरियड्स (Periods) से लेकर मेनोपॉज तक हर तरह के शारीरिक बदलाव के पीछे होर्मोन्स होते हैं. इसलिए महिलाओं के लिए अपने हार्मोनल हेल्थ का ख्याल रखना भी बेहद जरूरी है.

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि महिलाओं में पेट की परेशानियों (Stomach Problems In Women) के पीछे भी हार्मोन्स में होने वाले बदलाव या असंतुलन है. यहां जानें महिलाओं में होने वाली पेट की 5 समस्याओं का कारण और हार्मोन्स के बारे में....

महिलाओं में पेट से जुड़ी परेशानियां और उनके कारण | Stomach Problems In Women And Their Causes

1. कब्ज की परेशानी

कब्ज हर किसी को होती है, लेकिन सबमें इसके कारण अलग हो सकते हैं. पेट में कब्ज के कारण आपका खराब पाचनतंत्र हो सकता है, जिसमें हार्मोन्स में अहम है. कब्ज पाचन को कई तरीकों से प्रभावित करती है. दरअसल पेट की क्रिया को सॉफ्ट बनाने के लिए पेट के कुछ अपने एंजाइम होते हैं, जिन्हें होर्मोनल असंतुलन से नुकसान होता है. इससे खाना अच्छे से पच नहीं पाता है और कब्ज की समस्या हो जाती है. कब्ज से छुटकारा पाने के लिए फाइबर से भरपूर फूड्स का सेवन करन चाहिए.

8e9vgk4oCauses Of Digestion Problems: पाचन को हेल्दी रखने के लिए हार्मोन्स का संतुलन बनाना जरूरी है

2. पेट दर्द और ब्लोटिंग

पीरियड्स और मेनोपॉज के दौरान परेशानियां बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं. इस दौरान आपकी आंतों में तेज संकुचन होता है. इससे आपको ब्लोटिंग और कब्ज का अनुभव हो सकता है. इसके पीछे एस्ट्रोजन का एक बड़ा हाथ होता है. वहीं इसते कारण आपका पेट खराब हो सकता है और दस्त आदि की परेशानी हो सकती है. इसी कारण एस्ट्रोजन के स्तर में बदलाव से पाचन तंत्र में ऐंठन हो सकती है और गतिशीलता बढ़ सकती है इस तरह से आपको पेट दर्द और पेट फूलने की परेशानी हो सकती है.

3. एसिडिटी और खराब पाचन

एसिडिटी होने के लक्षण छाती और पेट में जलन होना आम बात है. अच्छे खान-पान के बावजूद ऐसा होता है, तो इसका कारण आपका तनाव हो सकता है, लेकिन सबसे ज्यादा आपके हार्मोन पेट के स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं. खाना पचाने में गुड बैक्टीरिया का एक बड़ा हाथ होता है. जिन लोगों के पेट में गुड बैक्टीरिया की कमी होती है उनका पाचन हमेशा खराब होता है. इससे पेट में गैस और अपच की समस्या हो जाती है. इन सबके पीछे गुड बैक्टीरिया से भी ज्यादा आपको हार्मोन का असंतुलन हो सकता है. 

Newsbeep

गर्भावस्था और मेनोपॉज के दौरान भी हार्मोन का स्तर का बढ़ता और घटता रहता है. कुछ शोध में सामने आया है कि इससे आपको ऐंठन और कब्ज की परेशानी हो सकती है. कुछ महिलाओं में मेनोपॉज के बाद आईबीएस में सुधार होता है, जब ये हार्मोनल परिवर्तन बंद हो जाते हैं. ऐसे में महिलाओं को हार्मोन्स का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.