पत्रकार प्रशांत कनौजिया की पत्नी का दावा, सादे कपड़ों में आए 2 लोग उन्हें ले गए

प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia) की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने एनडीटीवी को बताया, शनिवार की सुबह एक दोस्त के फोन से नींद खुली. उसने बताया कि कुछ लोग प्रशांत (Prashant Kanojia) को उनके नाम से ढूंढ रहे हैं.

पत्रकार प्रशांत कनौजिया की पत्नी का दावा, सादे कपड़ों में आए 2 लोग उन्हें ले गए

प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia).

नई दिल्ली :

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर गिरफ्तार किये गए पत्रकार प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia) की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने एनडीटीवी को बताया, 'शनिवार की सुबह एक दोस्त के फोन से नींद खुली. उसने बताया कि कुछ लोग प्रशांत (Prashant Kanojia) को उनके नाम से ढूंढ रहे हैं. इसके बाद दोपहर में दो लोग सादे कपड़ों में पहुंचे और प्रशांत को पूछताछ के लिए ले गए'. जगीशा ने कहा कि, 'सबकुछ 5 मिनट के अंदर हुआ...मुझे भी कुछ समझ में नहीं आया. प्रशांत सीढ़ियों से नीचे गए और वापस लौटे तो कहा कि उन्हें चेंज करके जाना होगा. दो लोग लेने आए हैं'.   

सीएम योगी पर 'विवादित' ट्वीट और टीवी डिबेट के मामले में पत्रकार और न्यूज चैनल के संपादक गिरफ्तार

जगीशा अरोड़ा ने कहा कि एसएचओ ने शनिवार की रात मेरी प्रशांत से बात करवाई थी. उन्होंने मुझे बताया कि वे ठीक हैं और मुझे भी अपना ख्याल रखने को कहा. जगीशा ने कहा कि गिरफ्तारी का पता लगने के बाद प्रशांत के माता-पिता काफी परेशान हो गए, लेकिन मैंने उन्हें ढांढस बंधाया और कहा कि जल्द ही सबकुछ ठीक हो जाएगा. आपको बता दें कि लखनऊ के हजरतगंज थाने में नोएडा के पत्रकार प्रशांत कनौजिया (Prashant Kanojia) के खिलाफ शुक्रवार रात को एक प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि आरोपी ने मुख्यमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की और उनकी छवि खराब करने की कोशिश की.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सीएम योगी के खिलाफ कथित आपत्तिजनक सामग्री प्रसारित करने पर टीवी चैनल प्रमुख और संपादक गिरफ्तार

दरअसल, कनौजिया ने अपने ट्विटर और फेसबुक पर एक वीडियो डाला था, जिसमें एक महिला को मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर कई मीडिया संस्थानों के संवाददाताओं से बातचीत करते हुए देखा जा सकता है और इसमें वह दावा करते दिख रही है कि उसने मुख्यमंत्री को विवाह प्रस्ताव भेजा है. इसी पोस्ट के आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया गया है. इस बीच खबर है कि प्रशांत के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की एडिटर्स गिल्ड ने निंदा की है. वहीं, प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी के विरोध में कई मीडिया संगठन सोमवार को प्रेस क्लब से संसद भवन तक मार्च करेंगे.