Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IIM और IISC के 40 स्टूडेंट्स को बीजेपी ने अपने सांसदों का इंटर्न बनाया, कराया जाएगा ये काम

मूल्यांकन की कड़ी प्रक्रिया के बाद 40 विद्यार्थियों को सांसद के साथ इंटर्नशिप के लिए चुना गया.

IIM और IISC के 40 स्टूडेंट्स को बीजेपी ने अपने सांसदों का इंटर्न बनाया, कराया जाएगा ये काम

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

अपनी तरह की पहली पहल के तहत बीजेपी ने संसद में अपने सांसदों के और प्रभावी बनने में उन्हें सहयोग पहुंचाने के लिए IIM और IISC जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों के मेधावी विद्यार्थियों को उनके साथ काम करने के लिए इंटर्न बनाया. बीजेपी संसदीय दल के सचिव बालासुब्रमण्यम के ने बताया कि भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी), बेंगलुरु के भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम), भारतीय राष्ट्रीय विधि महाविद्यालय, राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य एवं स्नायु विज्ञान संस्थान के 40 विद्यार्थियों को 17वीं लोकसभा के पहले सत्र के लिए सांसदों के साथ जोड़ा गया था. इन विद्यार्थियों की उनकी भूमिका को लेकर सराहना करते हुए बालासुब्रमण्यम ने बताया कि उन्होंने ढेर सारा शोध किया, विविध विषयों का अध्ययन किया और पार्टी सांसदों को इस सत्र के दौरान महत्वूपर्ण जानकारियां दीं. 

चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर रोवर उतारने के लिए चंद्रयान-2 की सभी गतिविधियां सामान्य हैं : ISRO

यह सदन में पार्टी सांसदों के भाषण और सक्रिय भागीदारी में नजर आया. खासकर दो मौकों पर, राष्ट्रपति के अभिभाषण और केंद्रीय बजट पर चर्चा के दौरान वे सांसदों को तैयार करने में बड़े मददगार साबित हुए. इसी के साथ, इन विद्यार्थियों को एक अच्छा मौका मिला क्योंकि उनमें से कई सिविल सेवाओं की तैयारी कर रहे हैं. ये सभी विद्यार्थी थिंक इंडिया के मार्फत आए जिसने वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय संसदीय कार्य मत्री प्रह्लाद जोशी से उनके संसदीय (संसदीय इंटर्नशिप कार्यक्रम) के लिए संपर्क किया था. 

घाटी में 10 हजार अतिरिक्त जवानों को भेजे जाने के सवाल पर बोले केंद्रीय मंत्री, ये तैनाती सिर्फ...

जोशी को भेजे गए थिंक इंडिया के पत्र के अनुसार पार्टी को विद्यार्थियों और विविध क्षेत्रों के पेशेवरों से 600 से अधिक आवेदन मिले थे. मूल्यांकन की कड़ी प्रक्रिया के बाद 40 विद्यार्थियों को सांसद के साथ इंटर्नशिप के लिए चुना गया. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के अध्यक्ष एस सुब्बैया ने कहा कि थिंक इंडिया इस देश की श्रेष्ठ मेधाओं को साथ लाने और उनमें 'देश प्रथम' की भावना भरने के लिए परिषद की एक पहल है.