NDTV Khabar

घाटी में 10 हजार अतिरिक्त जवानों को भेजे जाने के सवाल पर बोले केंद्रीय मंत्री, ये तैनाती सिर्फ...

जितेंद्र सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर बैंक में कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की है और कथित घोटाले के सिलसिले में बड़े नाम सामने आने वाले हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
घाटी में 10 हजार अतिरिक्त जवानों को भेजे जाने के सवाल पर बोले केंद्रीय मंत्री, ये तैनाती सिर्फ...

घाटी में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती से राजनीतिक दलों में नाराजगी

खास बातें

  1. घाटी में अतिरिक्त जवानों की तैनाती पर गरमाई सियासत
  2. नेशनल कांफ्रेंस ने जताई चिंता
  3. अतिरिक्त तैनाती सुरक्षा इंतजामों के लिये- केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह
श्रीनगर :

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने सोमवार को कहा कि जम्मू कश्मीर में 10,000 अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों की तैनाती सुरक्षा कवायद का हिस्सा है और आरोप लगाया कि नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) और पीडीपी इसे लेकर 'होहल्ला मचा रही हैं.' मंत्री ने कहा कि नेकां, पीडीपी और अन्य द्वारा 'होहल्ला' मचाया जा रहा है क्योंकि वे यह समझ सकते हैं कि वे जनता का साथ खो रहे हैं. घाटी में 10 हजार अतिरिक्त जवानों को भेजे जाने के सवाल पर उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, 'अतिरिक्त तैनाती सुरक्षा इंतजामों के लिये है...वे (राजनीतिक दल) 8-10 फीसदी मतदान प्रतिशत से अपनी विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं. उन्हें डर है कि यहां हालात बदले तो बीते 30-40 सालों में बना उनक प्रभुत्व खत्म हो जाएगा.' 

मध्यप्रदेश : हजारों स्कूलों में टीचर नहीं, इन्हें लगा दिया विधायक जी की सेवा में


सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर बैंक में कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की है और कथित घोटाले के सिलसिले में बड़े नाम सामने आने वाले हैं. उन्होंने कहा, “जब जांच पूरी होगी तो कई बड़े नाम सामने आएंगे. यह दल अपने हितों के लिये चिंतित हैं और वे जानते हैं कि उनका पर्दाफाश हो जाएगा. वे इसे लेकर चिंतित हैं.'

कांग्रेस ने डिस्कवरी चैनल से की मांग, पीएम मोदी के शूटिंग वाले दिन का कार्यक्रम सार्वजनिक करें

टिप्पणियां

बता दें कि अतिरिक्त जवानों की तैनाती पर पीडीपी अध्यक्ष महबूबा ने कहा कि केंद्र को अपनी कश्मीर नीति पर पुनर्विचार और उसे दुरुस्त करना होगा. महबूबा ने ट्वीट कर कहा, ‘घाटी में अतिरिक्त 10,000 सैनिकों को तैनात करने के केंद्र के फैसले ने लोगों में भय पैदा कर दिया है. कश्मीर में सुरक्षा बलों की कोई कमी नहीं है. जम्मू-कश्मीर एक राजनीतिक समस्या है जिसे सैन्य तरीकों से हल नहीं किया जा सकता. भारत सरकार को अपनी नीति पर पुनर्विचार और उसे दुरूस्त करने की जरूरत है.'  

Video :जम्मू-कश्मीर में अतिरिक्त सेना की तैनाती से नाखुश राज्य के नेता



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement