कर्नाटक : Coronavirus से भारत में पहली मौत, कलबुर्गी में 76 साल के बुजुर्ग का निधन; डॉक्‍टरों ने की पुष्टि

Coronavirus: यह व्‍यक्ति 29 फरवरी को सऊदी अरब से भारत लौटा था और हैदराबाद एयरपोर्ट पर उसकी स्‍क्रीनिंग भी हुई थी. उस वक्‍त उसमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखे थे.

बेंगलुरू:

Coronavirus: कर्नाटक के कलबुर्गी में 76 वर्षीय एक बजुर्ग की मौत हो गई है जो कोरोना वायरस (Coronavirus) से पीड़ित था. गुरुवार को अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. बुजुर्ग की मौत मंगलवार को ही हो गई थी लेकिन उसके कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि गुरुवार को हुई. यह व्‍यक्ति 29 फरवरी को सऊदी अरब से भारत लौटा था और हैदराबाद एयरपोर्ट पर उसकी स्‍क्रीनिंग भी हुई थी. उस वक्‍त उसमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखे थे.

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीमालू ने ट्वीट करके बताया कि कलबुर्गी के 76 साल के बुजुर्ग की मौत हो गई है. उनकी मौत कोरोना वायरस से होने की आशंका है. श्रीमालू ने बुजुर्ग के कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने की पुष्टि की है. बी श्रीमालू के मुताबिक ताजा गतिविधियों में एक लाख लोगों की जांच की गई है. इनमें से 600 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव होने का संदेह है. उन्हें आइसोलेशन में रखा जा रहा है.

देश भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या 74 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ब्रीफिंग में स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि अब तक के आंकड़ों के मुताबिक बच्चे ज़्यादा रिस्क पर नहीं हैं. जो बुजुर्ग हैं या जिनको अन्य कोई बीमारी है, वे ज़्यादा रिस्क पर हैं. सावधानी बरतनी होगी.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा है कि अब तक देश भर में कोरोना वायरस के 74 केस पॉजिटिव मिले हैं. अग्रवाल ने कहा कि अब तक यह कहना सही नहीं होगा कि तापमान बढ़ने के साथ-साथ कोरोना का असर घट जाएगा, क्योंकि अब तक कोई स्टडी नहीं हुई है.

उन्होंने बताया कि देश में एक लाख टेस्ट किट हैं, और भी आर्डर दिए गए हैं. अब तक के आंकड़ों के मुताबिक बच्चे ज़्यादा रिस्क पर नहीं हैं. जो बुजुर्ग हैं और जिनको अन्य कोई बीमारी है, वे ज़्यादा रिस्क पर हैं. सावधानी बरतनी होगी. अग्रवाल ने कहा कि WHO की महामारी की घोषणा के पहले से ही हम मामलों के शुरुआत से ही WHO के संपर्क में हैं और जो तरीके अपनाने चाहिए थे, हमने पहले से ही अपना रखे हैं.

कोरोना मरीजों के स्वस्थ्य बीमा को लेकर किए गए प्रश्न पर उन्होंने कहा कि  WHO की ओर से महामारी की घोषणा के बाद अब हम हेल्थ इंश्योरेंस कम्पनियों से सम्पर्क करने के बाद ही बता पाएंगे कि कोरोना हेल्थ कवर होगा या नहीं.


सिविल एविएशन की संयुक्त सचिव रुबीना अली ने कहा कि तीन विमान अगले तीन दिनों में ईरान भेजे जाएंगे. यह विमान वहां फंसे भारतीयों को वापस लाएंगे.

कोरोना वायरस के महामारी घोषित होने से डरने की जरूरत है?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com