NDTV Khabar

कपिल मिश्रा AAP की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित, PAC की बैठक में फैसला

दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा को सोमवार को आप की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया. मिश्रा द्वारा दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर केजरीवाल के एक रिश्तेदार के लिए दक्षिण दिल्ली में 50 करोड़ रुपये में एक जमीन का सौदा कराने का नया आरोप लगाने के बाद उन्हें निलंबित किया गया.

711 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कपिल मिश्रा AAP की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित, PAC की बैठक में फैसला

दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा को आप की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया.

खास बातें

  1. कपिल मिश्रा को आरोप लगाने के बाद निलंबित किया गया
  2. कपिल मिश्रा ने एसीबी में टैंकर घोटाले के समर्थन में सबूत पेश किए
  3. कपिल मिश्रा ने लाई डिटेक्टर टेस्ट कराए जाने की पेशकश की
नई दिल्ली: दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा को सोमवार को आप की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया. मिश्रा द्वारा दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर केजरीवाल के एक रिश्तेदार के लिए दक्षिण दिल्ली में 50 करोड़ रुपये में एक जमीन का सौदा कराने का नया आरोप लगाने के बाद उन्हें निलंबित किया गया. यह फैसला केजरीवाल के सिविल लाइंस स्थित निवास पर आम आदमी पार्टी (आप) के राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) की बैठक में लिया गया. आप के एक नेता ने कहा, "मिश्रा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है."

कपिल मिश्रा ने सोमवार को भ्रष्टाचार विरोधी शाखा (एसीबी) में जाकर पेयजल टैंकर घोटाले में जांच को केजरीवाल के नजदीकी दो लोगों द्वारा प्रभावित किए जाने के आरोपों के समर्थन में अपने पास सबूत होने का दावा किया था. मिश्रा ने यह भी आरोप लगाया कि उन्होंने केजरीवाल को सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपये लेते हुए देखा है. कपिल मिश्रा ने सोमवार को केजरीवाल, सत्येंद्र और खुद का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराए जाने की पेशकश की. आप ने पूर्व जल मंत्री द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को खारिज किया और मिश्रा पर भाजपा और केंद्र सरकार से मिले होने का आरोप लगाया.

दिल्‍ली सरकार के मंत्री पद से हटाए गए आप नेता कपिल मिश्रा ने सोमवार को मीडिया से मुखातिब होकर अपनी बात रखी. इस प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में उन्‍होंने पार्टी नेता संजय सिंह द्वारा पूछे गए तीनों सवालों के जवाब भी दिए. कपिल मिश्रा ने कहा कि मैं अपनी बात पर कायम हूं और मंगवार को सुबह 11:30 बजे सीबीआई को सारे सबूत सौंप कर आउंगा. उन्‍होंने कहा कि केजरीवाल के साढू़ की जमीन का सौदा सत्‍येंद्र जैन ने 50 करोड़ में करवाया था और यह बात उन्‍होंने खुद मुझे बताई थी. यह सौदा छत्तरपुर के किसी फार्मा हाउस का था. मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वह कुर्सी नहीं छोड़ सकते, वो कुर्सी से चिपके रहना चाहते हैं. उन्‍होंने सवाल भी किया कि जिस दिन सत्‍येंद्र जैन जेल जाएंगे क्‍या उस दिन भी केजरीवाल कुर्सी से चिपके रहेंगे.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement