NDTV Khabar

वित्त मंत्री ने मंदी के लिए 'उबर-ओला को बताया जिम्मेदार' तो अभिषेक मनु सिंघवी ने ऐसे ली चुटकी

सिंघवी ने वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के उस बयान पर भी निशाना साधा जिसमें उन्होंने ऑटोमोबाइल जगत में आई मंदी का कारण नौजवानों का ओला-उबर और मेट्रों को प्राथमिकता देना बताया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वित्त मंत्री ने मंदी के लिए 'उबर-ओला को बताया जिम्मेदार' तो अभिषेक मनु सिंघवी ने ऐसे ली चुटकी

अभिषेक मनु सिंघवी ने वित्तमंत्री के ओला-उबर वाले बयान पर पलटवार किया.

खास बातें

  1. मोदी देश को बताए कि वह भारत को 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था कैसे बनाएंगे
  2. लगातार दो ट्वीट कर सिंघवी ने किया पलटवार
  3. युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है, क्या इसके लिए भी विपक्ष जिम्मेदार है
नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Manu Singhvi) ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को ये बताए कि वह भारत को 5 ट्रिलियन कीमत की अर्थव्यवस्था कैसे बनाएंगे. इसके साथ ही सिंघवी ने वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के उस बयान पर भी निशाना साधा जिसमें उन्होंने ऑटोमोबाइल जगत में आई मंदी का कारण नौजवानों का ओला-उबर और मेट्रों को प्राथमिकता देना बताया था. सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, 'मोदीजी के ट्विटर फॉलोअर्स 50 मिलियन को पार कर गए हैं. अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन (डॉलर) को पार कर जाएगी, लेकिन कैसे? युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है, क्या आप इसके लिए भी विपक्ष को जिम्मेदार ठहराएंगे. उबर, ओला ने सब कुछ बर्बाद कर दिया है बंटाधार.'

कश्मीर पर पाकिस्तान के डोजियर में राहुल गांधी का जिक्र होने पर बोलीं निर्मला सीतारमण- वह भारत से ज्यादा पाक की मदद करते हैं


अभिषेक मनु सिंघवी यहीं नहीं रुके. उन्होंने हर कार्य के लिए विपक्षी को जिम्मेदार ठहराने की मोदी सरकार की प्रवृत्ति पर कटाक्ष करते हुए अगला ट्वीट किया, 'जो कुछ भी अच्छा हुआ है, वह हमारे द्वारा किया गया है. जो कुछ भी बुरा हुआ है, वह दूसरों द्वारा किया गया है. फिर लोगों ने आपको क्यों चुना है?' 

ऑटो सेक्टर में मंदी की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताई वजह, कहा- ओला और उबर पसंद करने की युवाओं की मानसिकता से भी...

टिप्पणियां

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि वाहन क्षेत्र में नरमी के कारणों में युवाओं की सोच में बदलाव भी है. लोग अब खुद का वाहन खरीदकर मासिक किस्त देने के बजाए ओला और उबर जैसी आनलाइन टैक्सी सेवा प्रदाताओं के जरिये वाहनों की बुकिंग को तरजीह दे रहे हैं. सीतारमण ने कहा कि दो साल पहले तक वाहन उद्योग के लिये अच्छा समय था. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, कि निश्चित रूप से उस समय वाहन क्षेत्र के उच्च वृद्धि का दौर था. मंत्री ने कहा कि क्षेत्र कई चीजों से प्रभावित है जिसमें भारत चरण-6 मानकों, पंजीकरण संबंधित बातें तथा सोच में बदलाव शामिल हैं.

VIDEO: ऑटो सेक्टर में मंदी के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने ओला-उबर को ठहराया जिम्मेदार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement