NDTV Khabar

बिहार में बाढ़ और बारिश के बाद अब डेंगू-चिकनगुनिया की मार, मरीजों की संख्या 900 के पार पहुंची

बिहार में बाढ़, बारिश और जल जमाव से बुरे हालात हैं. राज्य में 160 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि अब महामारी का ख़तरा मंडरा रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में बाढ़ और बारिश के बाद अब डेंगू-चिकनगुनिया की मार, मरीजों की संख्या 900 के पार पहुंची

बाढ़ के बाद पटना के अस्पताल में पानी भर गया था.

खास बातें

  1. बिहार में अब डेंगू और चिकनगुनिया का खतरा
  2. अब तक 700 से ज्यादा मामले
  3. पटना में 520 मरीज
पटना:

बिहार में बाढ़, बारिश और जल जमाव से बुरे हालात हैं. राज्य में 160 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि अब महामारी का ख़तरा मंडरा रहा है. पूरे प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनया से प्रभावित लोगों की संख्या 900 के पार पहुंच गई है.  जिसमें अकेले पटना में क़रीब 520 मामले हैं. शनिवार को डेंगू के 120 मामले पॉजिटिव पाए गए. जबकि चिकनगुनिया के भी 70 से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं. वहीं पटना में हुई बाढ़ से दुदर्शा के बाद चारो ओर से घिरे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान का साथ मिला है.  हालांकि पासवान ने पटना का जल जमाव का कोई ज़िक्र तो नहीं किया लेकिन उन्होंने शनिवार को एक ट्वीट कर ज़रूर कहा कि राज्य के मुखिया के तौर पर आपने सुशासन की नयी परिभाषा लिखी है.   

डेंगू से निपटने के लिए सीएम केजरीवाल की अनोखी मुहिम, कहा- अपने 10 दोस्तों को फोन करके कहें कि...


उन्होंने ट्ववीट पर लिखा, 'बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी को निर्विरोध जनता दल (यूनाइटेड) का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं. आपके कुशल नेतृत्व में न सिर्फ जेडीयू ने नई ऊंचाइयां पायी हैं बल्कि राज्य के मुखिया के तौर पर आपने सुशासन की नई परिभाषा लिखी है.  दरअसल ये ट्वीट नीतीश कुमार के एक बार फिर जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने पर उन्होंने बधाई देने के लिए किया है. उन्होंने उनके कुशल नेतृत्व में जनता दल यूनाइटेड की नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए तारीफ़ की .निश्चित रूप से जनता दल यूनाइटेड के नेताओं के लिए पासवान का ये ट्वीट राहत वाली ख़बर है क्योंकि बीजेपी के नेता फ़िलहाल जल जमाव के बहाने नीतीश कुमार का राजनीतिक पानी उतारने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे.  

पाकिस्तान में मच्छरों का कहर, 9000 हज़ार लोगों को बनाया डेंगू का शिकार

उधर पटना में आई बाढ़ के पानी की निकासी न होने से नाराज लोगों ने शनिवार को राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. इस दौरान लोगों ने स्थानीय प्रशासन व राज्य सरकार से उन्हें राहत प्रदान करने की मांग की. पटना के दानापुर इलाके के निवासियों ने गोला रोड टी पॉइंट के पास सड़क पर जाम लगा दिया. इस दौरान लोगों ने टायर जलाए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. उन्होंने कहा कि पटना नगर निगम और अन्य सरकारी एजेंसियां छह दिन पहले बारिश बंद होने के बाद भी कॉलोनियों और अपार्टमेंटों से बाढ़ के पानी को बाहर निकालने में विफल रही हैं. स्थानीय पुलिस अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों से सड़क पर की गई नाकेबंदी को खत्म करने का अनुरोध किया.

बिहार: बारिश रुकने के बावजूद फंसे हुए हैं लोग, अब महामारी का खतरा​

टिप्पणियां

इनपुट : आईएनएस से भी 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement