NDTV Khabar

अहमद पटेल को आखिर किसने दिया 44वां वोट, रहस्‍य अभी भी बरकरार

दरअसल मामला कुछ यूं है कि कांग्रेस के 45 वोट थे. उनमें से चुनाव आयोग ने दो वोट को अमान्‍य करार दे दिया. यानी कांग्रेस के पास 43 वोट बचे.

3770 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अहमद पटेल को आखिर किसने दिया 44वां वोट, रहस्‍य अभी भी बरकरार

राज्‍यसभा चुनाव में अहमद पटेल कड़े मुकाबले में विजयी हुए.(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अहमद पटेल कड़े मुकाबले में विजयी हुई
  2. दो कांग्रेस वोट अमान्‍य हो गए थे
  3. एक वोट के मामले में सस्‍पेंस बरकरार
गुजरात राज्‍यसभा सभा में कड़े मुकाबले के बीच अहमद पटेल 44 वोट के साथ विजयी हुई. लेकिन यदि गणित और दावों को समझा जाए तो उनको 45 वोट मिलने चाहिए थे. दरअसल मामला कुछ यूं है कि कांग्रेस के 45 वोट थे. उनमें से चुनाव आयोग ने दो वोट को अमान्‍य करार दे दिया. यानी कांग्रेस के पास 43 वोट बचे. ये वोट पटेल को मिले. शरद पवार की एनसीपी के दो वोट थे. पवार ने कांग्रेस का समर्थन किया लेकिन कहा कि उनमें से एक वोट बीजेपी के खाते में चला गया. वहीं दूसरी तरफ जदयू के एकमात्र विधायक छोटू वसावा ने कहा कि उन्‍होंने अहमद पटेल को वोट दिया. यानी इन दो वोटों की बदौलत अहमद पटेल को 45 मिलने थे. लेकिन केवल उनको 44 वोट ही मिले. यही एक ऐसा रहस्‍य है जिस पर अभी तक पर्दा नहीं उठा है. एक बात साफ है कि इनमें से कोई एक झूठ रहा है.  

पढ़ें: कुछ ऐसा रहा है कांग्रेस के 'चाणक्य' अहमद पटेल का राजनीतिक सफर

कांग्रेस का आरोप
कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत करते हुए अपनी पार्टी के दो विधायकों के वोटों को अमान्‍य करने की गुजारिश की थी. उन्‍होंने कहा था कि इन दोनों विधायकों ने अपने पोलिंग एजेंट को वोट दिखाने के बजाय बीजेपी नेताओं को दिखाया. जबकि नियमानुसार केवल अपनी पार्टी के एजेंट को ही वोट दिखाना होता है. चुनाव आयोग ने उस घटना के वीडियो फुटेज को देखने के बाद दोनों विधायकों के वोटों को अमान्‍य करार दिया.

पढ़ें: राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद अहमद पटेल बोले-'सत्यमेव जयते, मनी और मसल पावर की हार'

VIDEO: अहमद पटेल की जीत


बदल गया वोटों का गणित
ये वोट रद होने के बाद 176 विधायकों के वोटों की संख्‍या घटकर 174 हो गई. अब इसके बाद हर प्रत्‍याशी को जीतने के लिए 44 वोटों की दरकार रह गई. पहले इसके लिए 45 वोट चाहिए था. अहमद पटेल को कुल 44 वोट ही मिले थे और नए गणित के मुताबिक इन वोटों के दम पर ही वह विजयी हो गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement