NDTV Khabar

एयर इंडिया ने बनाया इतिहास, इस्राइल उड़ान के लिए सऊदी हवाई क्षेत्र का किया उपयोग

सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया की इस्राइल के लिए पहली उड़ान तेल अवीव पहुंच गई. सऊदी अरब द्वारा इस्राइल जाने वाली वाणिज्यिक उड़ानों के लिए अपना हवाई क्षेत्र खोलने के बाद यात्रा के समय में कमी आई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एयर इंडिया ने बनाया इतिहास, इस्राइल उड़ान के लिए सऊदी हवाई क्षेत्र का किया उपयोग

प्रतीकात्मक इमेज

खास बातें

  1. एयर इंडिया ने बनाया इतिहास
  2. इस्राइल उड़ान के लिए सऊदी हवाई क्षेत्र का किया उपयोग
  3. एयर इंडिया की इस्राइल के लिए पहली उड़ान तेल अवीव पहुंच गई
तेल अवीव: सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया की इस्राइल के लिए पहली उड़ान तेल अवीव पहुंच गई. सऊदी अरब द्वारा इस्राइल जाने वाली वाणिज्यिक उड़ानों के लिए अपना हवाई क्षेत्र खोलने के बाद यात्रा के समय में कमी आई है. इसी साथ अरब साम्राज्य और यहूदी देश के बीच संबंध सुधरने के भी संकेत हैं. भारत और इस्राइल के बीच व्यक्तिगत संपर्क और राजनयिक संबंधों की नई शुरुआत की घोषणा के साथ एयर इंडिया ने नई दिल्ली से तेल अवीव के बीच कलउड़ान सेवा शुरू की. एयरलाइन सप्ताह में तीन दिन इस उड़ान का परिचालन करेगी. सऊदी अरब ने एयर इंडिया को अपना हवाई क्षेत्र इस्तेमाल करने की अनुमति दी थी, जिसके बाद नई दिल्ली और तेल अवीव की बीच की दूरी 7.25 घंटे में तय होगी, जो कि दूसरी कंपनी की उड़ान की तुलना में करीब 2.10 घंटे कम है.

यह भी पढ़ें: विमानों की सुरक्षा पर एनडीटीवी के खुलासे के बाद एयरक्राफ्ट ऑपरेटर को DGCA ने जारी किया समन

एयर इंडिया की उड़ान संख्या एआई 139 कल रात10 बजकर 15 मिनट (इस्राइली समयानुसार) पर तेल अवीव के बेन गुरियन हवाई अड्डे पर उतरी. इस्राइल के पर्यटन मंत्री यारिव लेविन ने कहा, " यह वास्तव में एक ऐतिहासिक क्षण है. हम नए युग में हैं. मुझे यकीन है कि हम भारत से इस्राइल आने वाले पर्यटकों की संख्या में इजाफा देखेंगे और अधिक संख्या में इस्राइली भारत से आ सकेंगे." उन्होंने कहा कि इस तरह का सीधा जुड़ाव दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने में मदद करेगा.

यह भी पढ़ें: इंडिगो और गोएयर के बाद अब अन्य विमानन कंपनी के जहाजों में आई तकनीकी खराबी

टिप्पणियां
सऊदी अरब के हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल को मंजूरी देने से जुड़े सवाल के जवाब में लेविन कहा, " हम इसे लेकर सतर्क हैं. यह वास्तव में पहला और अहम कदम है. मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में इस क्षेत्र के हमारे पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध स्थापित होंगे. भारत इसमें बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. इस्राइल की सरकारी विमान कंपनी ईआई एआई वर्तमान में मुंबई के लिए भारतीय सेवा का संचालन करती है,  जो कि सऊदी अरब और ईरान के ऊपर से उड़ने से बचने के लिए लाल सागर के ऊपर से होकर गुजरती है.

VIDEO: डीजीसीए की सख्ती का असर, इंडिगो-गो एयर की 65 उड़ानें रद्द
वहीं, भारत के नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने आज इस मौके पर कहा कि सऊदी अरब ने नई दिल्ली से तेल अवीव के बीच उड़ान के लिए अपने हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल की पहली बार एयर इंडिया को मंजूरी दी. यह पहले कभी नहीं हुआ. यह भारत की नई छवि और वास्तविकता को दर्शाता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement