NDTV Khabar

शहीदों पर अखिलेश यादव का बेतुका सवाल- गुजरात से कोई शहीद हुआ हो तो बताओ?

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक- अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी, मध्य प्रदेश, दक्षिण भारत हर जगह से शहीद हुए हैं, लेकिन गुजरात का कोई जवान शहीद हुआ हो तो बताओ

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शहीदों पर अखिलेश यादव का बेतुका सवाल- गुजरात से कोई शहीद हुआ हो तो बताओ?

शहीदों पर अखिलेश यादव का बेतुका बयान

खास बातें

  1. अखिलेश यादव ने दिया बेतुका बयान
  2. अखिलेश के बयान पर जताई जा रही है आपत्ति
  3. अखिलेश ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना
नई दिल्ली:
टिप्पणियां
शहीदों को भी अब राज्यों में बांटने का काम शुरू हो गया है. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बयान से तो ऐसा ही लगता है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक- अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी, मध्य प्रदेश, दक्षिण भारत हर जगह से शहीद हुए हैं, लेकिन गुजरात का कोई जवान शहीद हुआ हो तो बताओ. हालांकि उन्होंने यह बयान किस संदर्भ में दिया ये तो साफ नहीं है, लेकिन उनके इस बयान को लेकर आपत्ति जताई जा रही है.  अखिलेश यादव के इस बयान पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि जो संदेश वो देना चाहते हैं जनता उसे स्वीकार नहीं कर सकती. चुनाव में हाकर के कारण वह अभी सदमे में हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार- अखिलेश ने आरोप लगाया कि बीजेपी सिर्फ शहीद, देशभक्ति और वन्दे मातरम के मुद्दे पर राजनीति कर रही है. सैनिकों के सिर काटे जा रहे हैं और सरकार क्या कर रही है. 

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा. हाल ही में पाकिस्तान ने दो जवानों की हत्या कर दी थी. आज भी जम्मू-कश्मीर में एक सेना अधिकारी का अपहरण कर हत्या कर दी गई. जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने सेना के एक लेफ्टिनेंट का अपहरण कर उनकी हत्या कर दी है. घटना मंगलवार रात को कश्मीर के कुलगाम में हुई. उमर फैयाज का शव शोपियां में मिला. जम्मू के अखनूर में राजपुताना राइफल्स में तैनात फैयाज दिसंबर 2016 में ही सेना भर्ती हुआ था.  सेना से मिली जानकारी के मुताबिक- 22 साल का फयाज छुट्टी में अपने घर आया था और शादी में शामिल होने के लिए कुलगाम गया हुआ था. यहां पर ही आतंकवादियों ने बंदूक की नोक पर उसका अपहरण किया और फिर हत्या कर दी. सेना मे डॉक्टर रहे फयाज के शरीर में बुलेट के दो निशान मिले हैं. अपने इलाके में युवाओ के बीच लेफ्टिनेंट फैयाज काफी लोकप्रिय थे. इतना ही नही आसपास जब भी कोई प्रोग्राम होता था तो वे जरूर जाते थे. आतंकवादी सुरक्षाबलों के साथ ऐसी कायराना हरकत पहले भी कर चुके हैं, लेकिन सेना के एक अफसर के साथ हाल के सालों में ऐसी हरकत पहली बार की है. मकसद है आम लोगों के बीच अपना डर बिठाना.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement