NDTV Khabar

चिन्मयानंद केस: SIT ने इलाहाबाद HC में पेश की स्टेटस रिपोर्ट, कोर्ट ने जताया संतोष

इस मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा स्वतः संज्ञान लिए जाने के बाद न्यायमूर्ति मनोज मिश्रा और न्यायमूर्ति मंजू रानी चौहान की पीठ ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चिन्मयानंद केस: SIT ने इलाहाबाद HC में पेश की स्टेटस रिपोर्ट, कोर्ट ने जताया संतोष

इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज पेश की गई थी SIT रिपोर्ट

खास बातें

  1. SIT की प्रगति रिपोर्ट पर हाईकोर्ट ने जताया संतोष
  2. अदालत ने आगे की रिपोर्ट दाखिल करने के लिए 22 अक्तूबर, 2019 की दी तारीख
  3. गिरफ्तारी के मामले में रोक लगाने का आदेश पारित करना उसके अधिकार में नहीं
प्रयागराज:

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने शाहजहांपुर में कानून की पढ़ाई कर रही एक छात्रा का पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद (Chinmayananda) द्वारा कथित तौर पर यौन शोषण किए जाने के मामले की विशेष जांच दल (SIT) की प्रगति रिपोर्ट पर सोमवार को संतोष जताया. इस मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा स्वतः संज्ञान लिए जाने के बाद न्यायमूर्ति मनोज मिश्रा और न्यायमूर्ति मंजू रानी चौहान की पीठ ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया. अदालत ने आगे की रिपोर्ट दाखिल करने के लिए 22 अक्तूबर, 2019 की तारीख तय की.

लॉ की छात्रा के साथ रेप करने के आरोप में गिरफ्तार चिन्मयानंद को KGMU किया गया रेफर

पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न के इस मामले की सुनवाई के समय पीड़ित युवती भी अदालत में मौजूद थी. पीड़ित युवती ने अपनी गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए एक आवेदन किया था, लेकिन अदालत ने उसे किसी तरह की राहत देने से यह कहते हुए इनकार कर दिया. अदालत ने कहा कि यदि पीड़ित युवती इस संबंध में कोई राहत चाहती है तो वह उचित पीठ के समक्ष नए सिरे से एक याचिका दायर कर सकती है. अदालत ने कहा कि यह पीठ इस मामले में केवल जांच की निगरानी करने के लिए नामित की गई है और गिरफ्तारी के मामले में रोक लगाने का कोई आदेश पारित करना उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है.


कभी जिस महानिर्वाणी अखाड़े में चलता था चिन्मयानंद का सिक्का, अब उसी अखाड़े से...

बता दें कि इससे पहले खराब स्वास्थ्य के चलते चिन्मयानंद को किंग्स जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी रेफर किया गया था. जेल के सूत्रों ने बताया कि डॉक्टरों ने जिला कारागार में बंद चिन्मयानंद को एंजियोग्राफी के लिए लखनऊ के KGMU रेफर किया. स्वामी के वकील ओम सिंह ने बताया कि भाजपा नेता की स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने महसूस किया कि उन्हें एंजियोग्राफी की आवश्यकता है इसलिए उन्हें KGMU रेफर किया गया. सिंह ने बताया कि चिन्मयानंद के समर्थन में आये भाजपा नेता एवं पूर्व एमएलसी जयेश प्रसाद भी स्वामी के साथ लखनऊ गए हैं. प्रसाद ने स्वामी से जेल में रविवार को मुलाकात की थी. उन्होंने 72 वर्षीय स्वामी की गिरती सेहत पर चिन्ता व्यक्त की थी.

टिप्पणियां

Video: चिन्मयानंद रेप केस में आज हाईकोर्ट में SIT सौपेंगी स्टेटस रिपोर्ट



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement