NDTV Khabar

राफेल सौदे की जांच करना चाह रहे थे आलोक वर्मा, इसलिए हटाया : अरविंद केजरीवाल

पूर्व सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा के इस्तीफे को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार को घेरा

38.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राफेल सौदे की जांच करना चाह रहे थे आलोक वर्मा, इसलिए हटाया : अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने आलोक वर्मा के इस्तीफे को लेकर पीएम मोदी को निशाना बनाया है.

खास बातें

  1. केजरीवाल ने कहा- मेरे खिलाफ जांच कराई, कोई गड़बड़ी नहीं मिली
  2. राफेल सौदे में 36 जहाज खरीदे और 36 हजार करोड़ रुपये बना लिए
  3. अगर पीएम मोदी ने गड़बड़ नहीं की थी तो जांच करने देते
नई दिल्ली:

सीबीआई के पूर्व चीफ आलोक वर्मा के इस्तीफे को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र की मोदी सरकार को घेरा है. उन्होंने कहा है कि राफेल सौदे की जांच करना चाह रहे आलोक वर्मा को हटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरा जोर लगा रखा था.

केजरीवाल ने कहा कि 'मेरे ऊपर इन लोगों (केंद्र सरकार) ने इतनी रेड कराईं, मेरे ऊपर सीबीआई की रेड कराई, मेरे ऊपर पुलिस की रेड कराई, मेरी 400 फाइलें मंगवाकर चेकिंग कर ली. लेकिन मुझे कोई डर नहीं था. सारी चेकिंग में एक पैसे की गड़बड़ी नहीं मिली.'

यह भी पढ़ें : आलोक वर्मा को हटाए जाने पर राहुल गांधी बोले- PM मोदी के दिमाग में घूम रहा है डर, सो भी नहीं सकते

केजरीवाल ने कहा है कि 'अब राफेल सौदे में घोटाला निकला.  600 करोड़ रुपये का जहाज इन्होंने (केंद्र सरकार) 1600 करोड़ में खरीद लिया. एक-एक जहाज पर एक हजार करोड़ रुपये बना लिए. कुल 36 जहाज खरीदे तो 36 हजार करोड़ रुपये बना लिए. उसकी जांच आलोक वर्मा करना चाह रहे थे तो बीते दो महीने से प्रधानमंत्री जी ने पूरा जोर लगा रखा था उनको हटाने के लिए.'


VIDEO : आलोक वर्मा ने आईपीएस की नौकरी छोड़ी

टिप्पणियां

आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल ने कहा है कि 'यह सही नहीं है. अगर वे जांच कर रहे थे तो करने देते जांच. अगर प्रधानमंत्री जी ने गड़बड़ नहीं कर रखी थी तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाता. ऐसे जबरदस्ती करना ठीक नहीं है संस्थाओं के लिए.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement