NDTV Khabar

घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर निकालेंगे, सारे हिंदू शरणार्थियों को नागरिकता देने जा रहे हैं : अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार की आतंकवाद के प्रति ‘‘कतई बर्दाश्त नहीं करने ’’ की नीति है और हम उसको हर पल निभाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर निकालेंगे, सारे हिंदू शरणार्थियों को नागरिकता देने जा रहे हैं : अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर से जुड़े बिलों पर चर्चा का जवाब दिया

खास बातें

  1. बजट में आ सकता है प्रस्ताव
  2. नीति आयोग के सदस्य ने भी दिए संकेत
  3. कई सांसदों ने किया विरोध
नई दिल्ली:

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में कहा है कि देश में घुसपैठ रोकने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा, 'हम NRC लाकर घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर निकालेंगे. वहीं अमित शाह ने यह भी जोर देकर देकर कहा है कि हिंदू शरणार्थियों के लिए भी सरकार प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि नागरिक संशोधन बिल लाकर सभी हिंदू शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी. इससे पहले जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि 6 महीने बढ़ाने और जम्मू-कश्मीर आरक्षण बिल पर राज्यसभा में चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि घाटी सहित जम्मू कश्मीर के प्रत्येक हिस्से के लोगों के विकास के प्रति नरेन्द्र मोदी सरकार की प्रतिबद्धता जताते हुए   गृह मंत्री अमित शाह  ने सोमवार को कहा कि राज्य में ‘‘आतंकवाद एवं अलगाववाद'' को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा तथा ऐसे लोगों को ‘‘कठोरता एवं कठिनाइयों'' का सामना करना पड़ेगा.  शाह ने यह भी कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग जब भी तैयार होगा, केन्द्र सरकार एक दिन की भी देरी नहीं करेगी.    


जम्मू-कश्मीर पर चर्चा के दौरान जब विपक्ष ने अमित शाह को टोका, नाराज क्यों हो रहे हैं

टिप्पणियां

गृह मंत्री के जवाब के बाद सदन ने इस संकल्प और विधेयक को ध्वनिमत से पारित कर दिया. लोकसभा इन्हें पहले ही पारित कर चुकी है. उच्च सदन ने अध्यादेश के खिलाफ विपक्ष द्वारा पेश प्रस्ताव को ध्वनिमत से नामंजूर कर दिया. इससे पहले शाह ने चर्चा का उल्लेख करते हुए कहा कि इसमें यह बात सर्वमान्य रूप से सामने आयी है कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. यह संदेश जम्मू कश्मीर मुद्दे का हल निकालने और घाटी के लोगों का मनोबल बढ़ाने में मददगार होगा. उन्होंने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर देश का अभिन्न अंग है और इसे हिन्दुस्तान से कोई अलग नहीं कर सकता.'' उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार की आतंकवाद के प्रति ‘‘कतई बर्दाश्त नहीं करने '' की नीति है और हम उसको हर पल निभाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. 
भारत को तोड़ने की बात करने वालों को मिलेगा जवाब - अमित शाह​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement