NDTV Khabar

झारखंड में बोले गृह मंत्री अमित शाह- राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा

अमित शाह ने झारखंड में भगवान बिरसा मुंडा की धरती मनिका, लातेहार से अपनी चुनावी रैली की शुरुआत की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. झारखंड के लातेहार में चुनावी जनसभा को अमित शाह ने किया संबोधित
  2. विपक्षी दलों पर शाह ने जमकर साधा निशाना
  3. अमित शाह ने की रघुबर सरकार की तारीफ
रांची:

राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा. अमित शाह ने यह बात भगवान बिरसा मुंडा की धरती मनिका, लातेहार में अपनी चुनावी रैली के दौरान कही. उन्‍होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी न्यायालय में केस ही नहीं चलने देती थी. अभी उच्चतम न्यायालय ने सर्वानुम​ति से यह निर्णय कर दिया है. राम जन्मभूमि पर आसमान छूने वाला मंदिर बनेगा. गृहमंत्री अमित शाह ने अपने भाषण में जम्‍मू-कश्‍मीर का भी जिक्र किया और कहा कि फिर से पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के बाद पहले ही सत्र के अंदर कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने का काम नरेन्द्र मोदी जी की सरकार ने किया है.

झारखंड विधानसभा चुनाव का प्रचार कार्य जोरों पर है. भगवान बिरसा मुंडा की धरती मनिका, लातेहार से अपनी चुनावी रैली की शुरुआत करने वाले गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और झारखंड मुक्ति मोर्चा आदिवासियों और पिछड़ों की बात करते हैं लेकिन यहां की जनता ने के लिए आपने कुछ नहीं किया. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा, ''70 साल तक आपने शासन किया, गरीब के घर में गैस, बिजली, स्वास्थ्य कार्ड, शौचालय क्यों नहीं पहुंचा? गांव को रौशन क्यों नहीं किया?'' उन्‍होंने कहा कि इनके पास कोई बात का जवाब नहीं है, आपको 70 साल दिए थे, आपने कुछ नहीं किया.

गृह मंत्री अमित शाह बोले- पूरे देश में लागू की जाएगी NRC, किसी भी धर्म के लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं


अमित शाह ने कहा कि हमने हर गांव में बिजली पहुंचाई, गरीब महिलाओं को गैस सिलेंडर पहुंचाया. हमने 35 लाख लोगों के घर में गैस का सिलेंडर पहुंचाने का काम किया, 5 लाख से ज्यादा लोगों को घर देने का काम किया और पूरे झारखंड के हर घर में शौचालय और पीने का पानी पहुंच जाये, इस प्रकार की व्यवस्था भी भाजपा की सरकार कर रही है.

उन्‍होंने रघुवर दास सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि झारखंड राज्य आदिवासी संवर्धन सोसाइटी के तहत महिला किसान शक्ति के रूप में लेमन ग्रास और तुलसी को उपजा कर महिलाओं की आय में वृद्धि करने का काम किया. उन्‍होंने कहा कि सिर्फ मनिका विधानसभा में 300 करोड़ रुपये की लागत से 554 किमी का रास्ता बना है. अमित शाह ने कहा कि मनिका और लातेहार में जो काम भाजपा की सरकार ने किये हैं वो मैं आपको बताना चाहता हूं- हमारी सरकार ने बिरसा मुंडा की जन्मस्थली और कर्म स्थली पर उनके सम्मान में स्मारक बनाया और 2018 में पहली बार 70 साल के बाद डिग्री कॉलेज की स्वीकृति देने का काम किया. आदिवासी भाइयों-बहनों के लिए मोदी सरकार ने बहुत सारे काम किए. भाजपा ने 5 साल के अंदर आदिवासियों का गौरव बढ़ाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है.

नीतीश कुमार बोले- झारखंड में चुनाव प्रचार के लिए मुझे जाने की जरूरत नहीं

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि राज्‍य में डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड की रचना की, इस फंड से 32 हजार करोड़ रु आदिवासी भाइयों-बहनों के विकास के लिए दिया. उन्‍होंने कहा कि रघुवर सरकार ने 5 साल के अंदर झारखण्ड में नक्सलवाद को खत्म करने काम किया है इसी का परिणाम है कि प्रदेश के हर गांव में बिजली, रोड, चूल्हा आदि पहुंच चुका है. यह इसलिए संभव हो पाया कि झारखण्ड में डबल इंजन की सरकार है. उन्‍होंने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा के सपने को पूरा करने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार दिन-रात काम कर रही है. झारखण्ड की रघुवर दास की सरकार ने सबसे बड़ा काम जो किया है, वह है नक्सलवाद को खत्म करने की दिशा में. रघुवर दास सरकार ने 5 साल के अंदर नक्सलवाद को समाप्त करने की दिशा में ढेर सारे कदम उठाये और इसी कारण आज झारखंड के कोने कोने में बिजली, सड़क, पीने का पानी और सिलेंडर आदि पहुंच पाई है.

अमित शाह ने अपने भाषण में एकलव्‍य स्‍कूल का जिक्र किया. उन्‍होंने कहा कि आदिवासी भाइयों-बहनों के बच्चों की शिक्षा के लिए नरेन्द्र मोदी जी ने देश भर के हर आदिवासी ब्लॉक के अंदर एकलव्य स्कूल बनाएं. 5 साल के अंदर देश में 438 एकलव्य स्कूल बनाने का काम भाजपा ने किया.

सरयू राय के बयान पर झारखंड CM का पलटवार, कहा- मैं रघुबर 'दाग' नहीं रघुबर 'बेदाग' हूं

टिप्पणियां

झारखंड राज्‍य के गठन का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा कि झारखंड की रचना तब हुई जब भाजपा की सरकार दिल्ली में बनीं अटल जी देश के प्रधानमंत्री बनें, उन्होंने झारखंड वासियों को अपना अधिकार देने का काम किया.  

अमित शाह ने कहा कि सन् 1857 की क्रांति में अंग्रजों के खिलाफ जब पूरा देश लड़ रहा था तब सबसे बड़ी लड़ाई पलामू के लोगों ने लड़ी थी. यहां की जन-जातियों ने खुलकर हिस्सा लिया और 1958 तक क्रांति की मशाल को जलाए रखा. उन्‍होंने कहा कि झारखंड की भूमि भगवान बिरसा मुंडा की भूमि है, वीर नीलांबर-पीतांबर की भूमि है. इस भूमि ने हमेशा देश के लिए मरने वाले वीरों को देश को समर्पित करने का काम किया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement