Amritsar train accident: अमृतसर से पहले पटना में भी दशहरे के दिन हुआ था हादसा, भगदड़ में गई थी कई लोगों की जान

पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे (dussehra 2018) के दिन रावण दहन के दौरान मौत की रेल ने करीब 61 जिंदगिंयां छीन ली. जानें क्या है इन हादसों का फ्राइडे कनेक्शन..

Amritsar train accident: अमृतसर से पहले पटना में भी दशहरे के दिन हुआ था हादसा, भगदड़ में गई थी कई लोगों की जान

Amritsar train accident: रावण दहन के दौरान शुक्रवार को अमृतसर में ट्रेन हादसा

नई दिल्ली:

पंजाब के अमृतसर (Amritsar train accident) में दशहरे (Dussehra 2018) के दिन रावण दहन के दौरान मौत की रेल ने करीब 61 जिंदगिंयां छीन ली. अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम रावन दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से 61 लोगों की मौत हो गई है और 50 से ज़्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है. बहरहाल, दशहरे के दिन यह पहली ऐसी घटना नहीं है, जिसमें इतने लोगों की मौत हुई हो. इससे पहले भी दशहरे के दिन पटना में भगदड़ के दौरान करीब 33 लोगों की मौत हुई थी. यहां ध्यान देने वाली बात है कि अमृतसर हादसे का दिन भी वही था, जो चार साल पहले पटना में गांधी मैदान हादसे का दिन था.

Amritsar Train Accident: क्या ये हैं अमतृसर ट्रेन हादसे के 5 जिम्मेदार

दरअसल, अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार की शाम दशहरा (Dussehra 2018) के मौके पर रावण दहन देखने के लिए बबड़ी संख्या में भीड़ उमड़ी थी. लोग रेल की पटरियों पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे, तभी अचानक तेज रफ्तार में ट्रेन आई और सैकड़ों लोगों को कुचलती हुई चली गई. ट्रेन जालंधर से अमृतसर आ रही थी तभी जोड़ा फाटक पर यह हादसा हुआ. इस भयावह हादसे को देखते हुए पंजाब में एक दिन के राजकीय शोक का ऐलान किया गया है. 

अमृतसर रेल हादसे में बड़ा खुलासा, पिछले साल नहीं हुआ था दशहरे का आयोजन, इस बार कांग्रेस नेता के बेटे ने किया था आयोजन

यहां ध्यान देने वाली बात है कि अमृतसर में जिस दिन यह ट्रेन हादसा हुआ, वह दिन शुक्रवार ही था. यानी इस साल का दशहरा शुक्रवार को रहा. वहीं, पटना में साल 2014 में जो हादसा हुआ था, वह दिन भी शुक्रवार ही था. अगर पिछले 8 सालों के दशहरे के 'दिन' पर गौर करें तो इन आठ सालों में कुल दो बार ही दशहरा 'शुक्रवार' को हुए हैं और इन दोनों 'शुक्रवार' को बड़े हादसे हुए, जिनमें कई जिंदगियां खत्म हो गईं.

अमृतसर रेल हादसा: ट्रेन से कटकर 61 की मौत, पंजाब में आज राजकीय शोक, बंद रहेंगे स्कूल-दफ्तर, 10 बातें

दरअसल, साल 2014 में पटना के गांधी मैदान में रावण दहन के दौरान भगदड़ मचने से 33 लोगों की मौत हो गई थी और 29 लोग घायल हो गए थे. यह दुर्घटना उस समय हुई थी जब लोग रावण दहन के बाद पटना के गांधी मैदान से वापस लौट रहे थे. पटना के गांधी मैदान में रावण दहन का भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जाता है. मैदान में इस कार्यक्रम को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग आते हैं. गांधी मैदान से बाहर निकलती भीड़ में कुछ लोगों ने तेजी से चलने के लिए आवाजें निकालनी शुरू कीं, हो हल्ला शुरू किया.

पटना में रावण दहन के कार्यक्रम के बाद मची भगदड़ में 33 की मौत​

जानें 2010 के बाद दशहरे की तिथि:

2010- दशहरा (रविवार)
2011- दशहरा (गुरुवार)
2012- दशहरा (बुधवार)
2013- दशहरा (रविवार)
2014- दशहरा (शुक्रवार) - पटना में भगदड़ से करीब 33 लोगों की मौत
2015- दशहरा (गुरुवार)
2016- दशहरा (मंगलवार)
2017- दशहरा (शनिवार)
2018- दशहरा (शुक्रवार)- अमृतसर में ट्रेन हादसे में करीब 61 की मौत

गौरतलब है कि आज पंजाब में राजकीय शोक का ऐलान किया गया है और आज सारे स्कूल और दफ्तर बंद रहेंगे. हालांकि, मौत के आंकड़ों में अभी और इजाफा होने के संकेत हैं. 
 
VIDEO: देखें पंजाब के अमृतसर में कैसे हुआ बड़ा रेल हादसा

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com