NDTV Khabar

गाजीपुर में कॉन्स्टेबल की हत्या के मुख्य आरोपी निषाद पार्टी नेता ने कहा, मैंने नहीं BJP ने फेंके पत्थर, सत्ता में वही

गाजीपुर में हुई पथराव की वारदात में कॉन्स्टेबल की हत्या मामले में पुलिस ने निषाद पार्टी के नेता अर्जुन कश्यप को मुख्य आरोपी बनाया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गाजीपुर में कॉन्स्टेबल की हत्या के मुख्य आरोपी निषाद पार्टी नेता ने कहा, मैंने नहीं BJP ने फेंके पत्थर, सत्ता में वही

गाजीपुर घटना का मुख्य आरोपी अर्जुन कश्यप

खास बातें

  1. गाजीपुर कॉन्स्टेबल की मौत मामले में मुख्य आरोपी अर्जुन कश्यप
  2. निषाद पार्टी में महासचिव हैं अर्जुन कश्यप
  3. बीजेपी पर लगाए पत्थर फेंकने के आरोप
नई दिल्ली:

गाजीपुर में हुई पथराव की वारदात में कॉन्स्टेबल की हत्या मामले में पुलिस ने निषाद पार्टी के नेता अर्जुन कश्यप को मुख्य आरोपी बनाया है. मीडिया से बात करते हुए अर्जुन कश्यप का कहना है, "भारतीय जनता पार्टी सत्ता में है, उन्होंने (बीजेपी) यह किया है, उनके लोग (बीजेपी कार्यकर्ता) मुख्य आरोपी हैं. अर्जुन कश्यप का कहना है ''हो सकता है कि बाद में हमारे लोगों ने भी किया हो, लेकिन पुलिसकर्मियों पर पत्थर नहीं फेंके गए थे. अगर कानून के मुताबिक, मैं मुख्य आरोपी हूं, तो मैं समर्पण कर दूंगा.'' 

गाजीपुर में कांस्टेबल की मौत मामले में पुलिस ने निषाद पार्टी के महासचिव को बनाया मुख्य आरोपी, कहा- उसने ही भीड़ को उकसाया


CM की भाषा है 'ठोक दो', कभी पुलिस तो कभी जनता नहीं समझ पाती 'ठोकना' किसे है: गाजीपुर हिंसा पर बोले अखिलेश

अर्जुन कश्यप ने कहा ''यहां तक कि (मुख्यमंत्री) योगी (आदित्यनाथ) जी ने भी निषाद समुदाय की मांगें पूरी करने का वादा किया था, लेकिन कुछ भी नहीं किया गया. लोकसभा या राज्यसभा में हमारी मांगें उठाने वाला कोई भी नहीं है. हम तब तक विरोध प्रदर्शन करते रहेंगे''. निषाद पार्टी के नेता के मुताबिक अगर हमें हमारा अधिकार नहीं मिलता है, तो हम अपनी खुद की सरकार बनाएंगे."  

PM की रैली के बाद पथराव में मरने वाले कॉन्स्टेबल के बेटे का दर्द: पुलिस खुद की सुरक्षा नहीं कर सकती, उनसे क्या उम्मीद करें?

टिप्पणियां

बता दें कि बीते दिनों उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराजा सुहेलदेव को समर्पित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. यहां उन्होंने महाराजा सुहेलदेव के नाम पर एक पोस्ट स्टैंप जारी करते हुए रैली को भी संबोधित किया. मृतक पुलिस कॉन्स्टेबल सुरेश वत्स उसी सभा में ड्यूटी पूरी करके वापस लौट रहे थे. तभी गाजीपुर में विरोध प्रदर्शन के पत्थरबाजी शुरू हो गई. पुलिस कर्मी की हत्या के सिलसिले में पुलिस अब तक 27 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. इसी पत्थरबाजी की घटना में वत्स समेत 3 लोगों की मौत हो गई थी. पुलिस ने बताया कि निषाद पार्टी के कार्यकर्ता पहले से ही अटवा मोड़ पर प्रदर्शन कर रहे थे.

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement