पानी पर सियासत: केजरीवाल बोले- रामविलास पासवान साथ आएं, फिर मिलकर उठाएंगे दिल्ली के 2 हजार सैंपल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान को चुनौती दी है.

पानी पर सियासत: केजरीवाल बोले- रामविलास पासवान साथ आएं, फिर मिलकर उठाएंगे दिल्ली के 2 हजार सैंपल

अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

खास बातें

  • दिल्ली में पानी पर सियासत और बयानबाजी
  • केजरीवाल बोले- रामविलास पासवान साथ आएं
  • फिर मिलकर उठाएंगे दिल्ली के 2 हजार सैंपल- केजरीवाल
नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने केंद्रीय उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) को चुनौती दी है कि रामविलास पासवान उनके साथ आएं और मीडिया के सामने दिल्ली से करीब 2 हज़ार सैंपल उठाएंगे. केजरीवाल ने कहा 'आज मैं पूरे मीडिया के जरिए कहना चाहता हूं कि आने वाले कुछ दिनों में हम सारे मीडिया की मौजूदगी में दिल्ली के हर म्युनिसिपल वार्ड से 5-5 सैंपल उठाएंगे. मैं रामविलास पासवान को भी न्योता देता हूं कि आप भी आइए. आप तो बताते नहीं कि आपने सैंपल कहां से उठाएं हैं लेकिन हम बताएंगे कि हमने सैंपल कहां से उठाए. तो हर वार्ड से 5 सैंपल हम उठाएंगे जांच कराएंगे और फिर आपको बताएंगे.'

दिल्ली की हवा ही नहीं बल्कि पानी भी सबसे ज्यादा प्रदूषित, मुंबई का पानी सबसे साफ

केजरीवाल ने पासवान पर गड़बड़ी करने का आरोप लगाया. केजरीवाल ने कहा कि हम रामविलास पासवान से पूछ रहे हैं कि उन्होंने जो 11 सैंपल उठाकर जांच कराई है वह 11 सैंपल कहां से लिए गए हैं उनके पते क्या हैं. लेकिन वह नहीं बता रहे हैं. आखिर क्यों नहीं बता रहे?

केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली का पानी साफ-सुथरा है. केजरीवाल ने कहा 'दिल्ली जल बोर्ड रोजाना दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से 500 सैंपल उठाता है. जनवरी से 24 सितंबर के बीच दिल्ली जल बोर्ड ने 1,55,302 सैंपल उठाये जिसमें से 2222 सैंपल फ़ेल हुए. यानी 1.43% फेल हुए और 98.57% पास हुए. अक्टूबर के डेटा के मुताबिक अक्टूबर में 16502 सैंपल उठाए, जिसमें से केवल 658 सैंपल फ़ेल हुए 15,844 सैंपल पास हुए. यानी 96 फ़ीसदी सैंपल पास हुए चार पर्सेंट सैंपल फेल हुए.'

बिहार लोजपा के अध्यक्ष बने नवनिर्वाचित सांसद प्रिंस राज, चिराग पासवान ने की घोषणा

इससे पहले दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर दिल्ली वालों को जहरीला पानी पिलाने का आरोप लगाया और केजरीवाल को चुनौती भी दी. मनोज तिवारी बोले ' मैं अरविंद केजरीवाल को चुनौती देता हूं कि अगर यह रिपोर्ट (BIS की पानी पर रिपोर्ट) गलत है तो मेरे साथ दिल्ली की गलियों में चलो एसी में बैठ कर बातें मत बनाओ. अरविंद केजरीवाल अगर आप में सही में दम है और अगर आप पानी सही दे रहे हैं तो आप दिल्ली की गलियों में मेरे साथ चलिए. जनता तय कर देगी की वास्तविकता क्या है?'

दरअसल शनिवार को केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय ने भारतीय मानक ब्यूरो की एक रिपोर्ट जारी की थी जिसके मुताबिक दिल्ली में लिए गए सभी 11 सैंपल 19 मानकों पर फेल हो गए. इसको लेकर रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन भी ट्विटर पर भिड़ गए.

डॉ हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा 'फ्री पानी के नाम पर दिल्ली की जनता को ज़हर पिला रहे हैं अरविंद केजरीवाल. देश के 20 शहरों के पानी पर हुए सर्वे में दिल्ली का पानी सबसे ज्यादा जहरीला पाया गया. विकास के बड़े-बड़े दावे करने वाली आम आदमी पार्टी सरकार लोगों को साफ़ पानी तक मुहैया कराने में नाकाम रही है.'

इसके जवाब में केजरीवाल ने लिखा 'सर, आप तो डॉक्टर हैं. आप जानते हैं कि ये रिपोर्ट झूठी है, राजनीति से प्रेरित है. आप जैसे व्यक्ति को ऐसी गंदी राजनीति का हिस्सा नहीं बनना चाहिए.'

दिल्ली में पानी पर सारी राजनीति भारतीय मानक ब्यूरो यानी BIS की रिपोर्ट पर हो रही है. NDTV ने BIS से बात करने की कोशिश की, लेकिन ख़बर लिखे जाने तक उनकी प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com