Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कांग्रेस सांसद ने जताई उम्मीद- सुप्रीम कोर्ट CAA को जल्द कर देगा निरस्त

CAA के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाले खालिक ने यह भी दावा किया कि असम में CAA का विरोध कर रहे 90 फीसदी लोग बहुसंख्यक समाज से हैं. उन्होंने कहा, 'हम शुरू से कह रहे हैं कि सीएए असंवैधानिक है.'

कांग्रेस सांसद ने जताई उम्मीद- सुप्रीम कोर्ट CAA को जल्द कर देगा निरस्त

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • कांग्रेस सांसद अब्दुल खालिक ने गुरुवार को उम्मीद
  • 'असंवैधानिक' संशोधित नागरिकता कानून जल्द निरस्त कर देगा सुप्रीम कोर्ट
  • असम में CAA का विरोध कर रहे 90 फीसदी लोग बहुसंख्यक समाज से हैं
नई दिल्ली:

असम (Assam) से कांग्रेस (Congress) सांसद अब्दुल खालिक ने गुरुवार को उम्मीद जताई कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) 'असंवैधानिक' संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को जल्द निरस्त कर देगा. CAA के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाले खालिक ने यह भी दावा किया कि असम में CAA का विरोध कर रहे 90 फीसदी लोग बहुसंख्यक समाज से हैं. उन्होंने कहा, 'हम शुरू से कह रहे हैं कि सीएए असंवैधानिक है. हम उम्मीद करते हैं कि सुप्रीम कोर्ट इसे जल्द निरस्त करेगा.' इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी पार्टी इस कानून के खिलाफ आवाज उठाती रहेगी.

कांग्रेस के लोकसभा सदस्य ने कहा, 'भाजपा पूरे देश में NRC की बात कर रही है, लेकिन असम में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हुई NRC को नहीं मान रही. वह सिर्फ ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है.' खालिक ने कहा, 'असम की जनता की स्पष्ट राय है कि जो विदेशी साबित हो गया, चाहे वह किसी भी धर्म का हो, उसे यहां से जाना होगा.'

शाहीन बाग पर बोले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह- यह आंदोलन नहीं, सुसाइड बॉम्बर का जत्था बन रहा है

उन्होंने शाहीन बाग में हो रहे CAA विरोधी धरने का हवाला देते हुए कहा, 'शाहीन बाग के प्रदर्शन की खूब चर्चा हो रही है, लेकिन असम में हो रहे विरोध की राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा नहीं हो रही है. असम में विरोध प्रदर्शन की खास बात यह है कि वहां इस असंवैधानिक कानून का विरोध कर रहे 90 फीसदी लोग हिन्दू हैं.'

VIDEO: आजमगढ़ में CAA का विरोध कर रहीं महिलाओं पर पुलिस ने रात में किया लाठीचार्ज, पार्क खाली करवा भरवाया पानी



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)