'बनेगा स्वस्थ इंडिया' : स्‍वस्‍थाग्रह के लिए जुटे दिग्‍गज...

एनडीटीवी-डेटॉल का अभियान 'बनेगा स्वस्थ इंडिया' स्‍वस्‍थाग्रह समाप्‍त हो गया. 12 घंटे तक चले इस मुहिम की थीम रखी गई 'स्वच्छ से स्वस्थ'.

मुंबई:

एनडीटीवी-डेटॉल का अभियान 'बनेगा स्वस्थ इंडिया' स्‍वस्‍थाग्रह समाप्‍त हो गया. 12 घंटे तक चले इस मुहिम की थीम रखी गई 'स्वच्छ से स्वस्थ'. हर बार की तरह इस कार्यक्रम की शुरुआत आमिताभ बच्‍चन ने की. कार्यक्रम की समाप्ति तक दानदाताओं ने 916 स्‍वास्‍थ्य किट दान किए जिसकी कुल रकम 32 लाख रुपये से ज्‍यादा होती है. हालांकि अगर कोई और भी दान करना चाहें तो अभी भी दान कर सकते हैं. दान करने के लिए यहां CLICK कर सकते हैं. इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्रियों, सिने कलाकारों और विभिन्‍न क्षेत्र की हस्तियों ने शिरकत की. कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए अमिताभ बच्चन ने कहा कि स्वच्छ भारत ही स्वस्थ भारत का निर्माण करेगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज समूचे भारत को 'खुले में शौच से मुक्त' घोषित करने जा रहे हैं. वहीं केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, "जो स्‍वस्‍थ किट दी जा रही है, वह बहुत महत्‍वपूर्ण है, लेकिन उससे भी ज़्यादा महत्‍वपूर्ण है वह जागरूकता अभियान, जो आप लोग चला रहे हैं.' नितिन गडकरी ने कहा कि स्वच्छता पूरे समाज के लिए अहम है क्योंकि यह स्वस्थ रहने में बड़ी भूमिका अदा करता है. वहीं इस कार्यक्रम में शामिल लोगों ने प्रसूताओं के लिए स्वस्थ्य किट को भी लांच किया.

पढ़ें कार्यक्रम से जुड़ी हस्तियों ने स्‍वच्‍छता और स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर क्‍या बातें की...

- संयुक्त राष्ट्र की पर्यावरण गुडविल एम्बैसेडर दिया मिर्ज़ा ने कहा, "प्लास्टिक हमारे जीवन में पूरी तरह घुस चुका है... दिन की शुरुआत से लेकर उसके खत्म होने तक हम प्लास्टिक पर निर्भर हैं... हमें प्लास्टिक के विकल्प तलाशने ही होंगे..."

- परमार्थ निकेतन के आध्यात्मिक प्रमुख स्वामी चिदानंद ने कहा, "मैं अन्य संप्रदायों के नेताओं से भी साथ आने और पर्यावरण को बचाने के लिए मिलकर काम करने के लिए कहता हूं..."

- नीति आयोग के CEO अमिताभ कांत ने कहा, "इंदौर तथा अम्बिकापुर में प्लास्टिक का खात्मा जनांदोलन बन गया है... इंदौर मॉडल को देश की सभी नगरपालिकाओं में लागू किया जाना चाहिए..."

- स्वस्थाग्रह के मंच पर मानसिक स्वास्थ्य की महत्ता के बारे में बी.के. शिवानी ने बताया, "मस्तिष्क का शरीर पर सीधा असर होता है... मां के मानसिक स्वास्थ्य का सीधा असर न सिर्फ बच्चे के शरीर पर पड़ता है, बल्कि उसके मानसिक स्वास्थ्य पर भी पड़ता है... डब्ल्यूएचओ के अनुसार, अवसाद के मामले में भारत शीर्ष पर है, लेकिन अवसादग्रस्त भारत स्वस्थ कैसे बन सकता है..."

- अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "प्लास्टिक को पूरी तरह खत्म करने के लिए जागरूकता बेहद अहम है... लोगों तक सूचना पहुंचनी चाहिए, उन्हें प्लास्टिक से होने वाले नुकसान पता होने चाहिए... जागरूकता को ही आदत में बदला जा सकता है..."

- स्वस्थाग्रह के मंच पर अभिनेत्री नेहा धूपिया ने कहा, "महिला की गर्भावस्था के दौरान पोषण बेहद महत्वपूर्ण होता है... जच्चा और बच्चे के लिए हाईजीनिक वातावरण में स्तनपान भी अहम होता है..."

- स्वस्थाग्रह के मंच पर डॉ स्वस्ति माहेश्वरी ने कहा, "स्तनपान कराने के लिए मां का साथ देना ज़रूरी है... समाज तथा सरकार समेत सभी को यह ज़िम्मेदारी लेनी होगी कि मांएं स्तनपान करवाएं... स्तनपान के प्रति जागरूकता के ज़रिये महिलाओं को सशक्त बनाना होगा..."

- केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "स्वच्छता जन अभियान बन गया... हमारे पास पूर्वोत्तर में बांस का बड़ा भंडार है... रोज़मर्रा की ज़रूरतों के लिए बांस का इस्तेमाल किया जा सकता है तथा प्लास्टिक का विकल्प बनाया जा सकता है..."

- स्वस्थाग्रह के मंच पर बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सैनन ने कहा, "पोषण बेहद अहम है... हम वही बनते हैं, जो हम खाते हैं... बहुत-से भोजेय पदार्थ ऑर्गैनिकली नहीं उगाए जाते, और उन पर प्रिज़र्वेटिव की परत, कृत्रिम रंग होते हैं, और उन्हें रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों से उगाया जाता है... मुझे नहीं लगता, हम जो खाते हैं, उसमें पोषक तत्व होते हैं..."

- RB से लॉरेन्ट फराक्की ने कहा, "जब मैं भारत आया, तो एहसास हुआ, 'असर' किसे कहते हैं... डेटॉल और NDTV ने जो काम किया है, उससे वाकई बदलाव आया है... डायरिया के मामले कम हुए हैं, स्कूलों में हाज़िरी बढ़ी है... मेरी नज़र में यह बेहतरीन कार्यक्रम है... 'बनेगा स्वच्छ इंडिया' की तर्ज पर हम अमेरिका में एक कार्यक्रम चला रहे हैं..."

- सेंसर बोर्ड के प्रमुख तथा गीतकार प्रसून जोशी ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "इंसान को ऑर्गैनिक जीवन अपना लेना चाहिए... लेकिन जब आप इसे फैशनेबल बना देते हैं, तभी लोग इस पर विचार करते हैं... भारत में ऑर्गैनिक जीवन कई पीढ़ियों से मौजूद है... दशकों से लोग भोजन के साथ प्रयोग करते आए हैं... स्थानीय तौर पर उपजाए गए भोजन पर फोकस किया जाना चाहिए... जिस वातावरण में हम रहते हैं, वहीं उपजा भोजन सर्वश्रेष्ठ होता है... पोषण को महंगा नहीं होना चाहिए..."

- शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "नौ साल के अपने राजनैतिक जीवन में मैंने देखा है कि ज़्यादातर चुनावी मुद्दे लोगों से ही आते हैं... अब हम देखते हैं कि सफाई लोगों के लिए मुद्दा बन गया है, और वे नेता से उस पर बात करने की उम्मीद करते हैं..."

- आयुष्मान भारत के CEO डॉ इंदु भूषण के अनुसार, "आयुष्मान भारत के दो हिस्से हैं... एक का फोकस बीमारी की पहचान करना है, और दूसरा इलाज और देखभाल पर फोकस करता है..."

- पद्मश्री से सम्मानित सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ प्रोफेसर डॉ इंदिरा चक्रवर्ती ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "जब तक आपकी सेहत अच्छी नहीं होगी, आप चैन से नहीं रह सकते... जब हमने स्वच्छ भारत शुरू किया था, हमने भी स्वास्थ्य को इससे जोड़ने की कोशिश की थी... अगर आप 2014 से अब तक आंकड़े देखेंगे, तो पाएंगे कि तब 20 करोड़ बच्चों में डायरिया की शिकायत थी, जो अब सिर्फ पांच करोड़ बच्चों में रह गई है... डायरिया से होने वाली मौतें भी तब डेढ़ लाख थीं, जिनमें खासी कमी आई है... कुपोषण के मामले भी काफी कम हुए हैं..."

- केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "जब 2014 में स्वच्छ भारत अभियान शुरू हुआ था, बहुत-से लोग इसके नतीजों को लेकर उत्साहित नही थे... लेकिन आज यह अभियान समूचे भारत में फैल चुका है... इसका प्रभाव भी आसानी से दिखाई देने लगा है..."

- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "अगर हम कोई बड़ा बदलाव लाना चाहते हैं, तो वह लोगों के समर्थन के बिना मुमकिन नहीं है, और मुझे खुशी है कि दिल्ली के लोग हमारे साथ हैं, हमें समर्थन दे रहे हैं, और स्वच्छ इंडिया अभियान को बढ़ा रहे हैं..."

- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वस्थाग्रह के मंच पर कहा, "अगर हम कोई बड़ा बदलाव लाना चाहते हैं, तो वह लोगों के समर्थन के बिना मुमकिन नहीं है, और मुझे खुशी है कि दिल्ली के लोग हमारे साथ हैं, हमें समर्थन दे रहे हैं, और स्वच्छ इंडिया अभियान को बढ़ा रहे हैं..."

- झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा कि 2014 में केवल 18 फीसदी गांव खुले में शौच से मुक्ते थे, जबकि आज सारे गांव इससे मुक्त हो गए हैं. हमने 70,000 महिलाओं को 'रानी मिस्त्रियों' के रूप में प्रशिक्षित किया है. इन महिलाओं की मदद से हम राज्य को खुले में शौच से मुक्त बनाने के मिशन को प्राप्त करने में सक्षम हैं. 'स्वच्छ झारखंड, स्वस्थ झारखंड' हमारा मकसद है.

- भारत में पीएटीएच (PATH) के डायरेक्टर नीरज जैन ने कहा कि टीकाकरण के लिए लोगों तक पहुंचना बड़ी चुनौती है. 28 हजार 'कोल्ड चेन प्वाइंट है' जहां से टीकाकरण अभियान चलाया गया, लेकिन हम अभी भी 100 फीसदी लोगों तक नहीं पहुंच पाए हैं. बच्चों को मौत से बचाने के लिए टीकाकरण बेहद जरूरी है, लेकिन वर्तमान में हम सिर्फ 70 प्रतिशत लोगों तक पहुंच पाए हैं और हम 100 फीसदी लोगों तक जाने के लिए दृढ़ संकल्प हैं.

- इमाम उमर इलियासी ने कहा कि NDTV की यह पहल पूजा करने जैसा है. मेरा मानना है कि हर इमाम को अपनी शिक्षाओं के माध्यम से जागरूकता फैलाना शुरू करनी चाहिए. यह वही है जिसे हमने देश भर में सभी मस्जिदों में शुरू किया है. धार्मिक नेताओं की इसमें बड़ी भूमिका है. मैं भारत के 5 लाख 50 हजार मस्जिदों का प्रमुख इमाम हूं और मैं  हर संस्थानों में 'स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत' को साकार करने के लिए लोगों को जागरूक करता हूं. इन प्रयासों को सफल बनाने के लिए हर किसी को एक साथ आना होगा.

- केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि पूरे विश्व को चाहिए कि नदियां और पर्यावरण स्वस्थ रहें. भारत में, हमारी नदियों की अनूठी विशेषता यह है कि इनमें से अधिकांश नदियां वर्षा आधारित हैं. नदियों में गंदे पानी के प्रवाह को रोकने के लिए नदी की सफाई इस दिशा में पहला कदम है. नदियों के पारिस्थितिक प्रवाह को सुनिश्चित करने की जरूरत है और हमने इस पर काम करना शुरू कर दिया है.

- बीजेपी नेता हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि हमने पिछले तीन वर्षों में बहुत सारे शौचालयों का निर्माण करवाया है, लेकिन पिछली साल आई भीषण बाढ़ के दौरान हमारे इस अभियान को कुछ झटका लगा था. क्षतिग्रस्त शौचालयों का पुनर्निर्माण चल रहा है. असम में दूसरी प्रमुख समस्या दूषित भूमिगत जल है. भूमिगत जल में आर्सेनिक और फ्लोराइड अधिक होता है और हम भूमिगत स्रोतों की तुलना में नदियों के पानी का अधिक उपयोग कर रहे हैं.

- कमल हासन ने कहा, 'मेरा हमेशा यकीन रहा है कि चाहे वो सत्‍याग्रह हो या स्‍वच्‍छ भारत, यह अंदर से शुरू होता है. यह व्‍यक्तिगत प्रयास होना चाहिए. स्‍वस्‍थ भारतीय का मतलब भी स्‍वस्‍थ भारत है.'

- स्‍वस्‍थाग्रह में डॉ. शेट्टी ने मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य और भारत में इससे जुड़ी समस्‍याओं पर बात की : 1.5 करोड़ लोगों पर तत्‍काल ध्‍यान दिए जाने की जरूरत है. करोड़ों भारतीयों के लिहाज से हमारे पास बहुत ही कम मनो चिकित्‍सक हैं. डेंगू और मलेरिया की तुलना में डिप्रेशन ज्‍यादा आम है.

- फिल्‍मकार इम्‍तियाज अली ने कहा, 'मुझे मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों पर नियमित रूप परेशानी होती है जब मैं लोगों को देखता हूं और उनसे बात करता हूं. इस क्षेत्र में, कुछ शब्द ऐसे होते हैं जिनका उपयोग दिन-प्रतिदिन की बातचीत में हल्के फुल्‍के अंदाज में किया जाता है, जैसे 'मैं उदास हूं', 'यह पागल है', इससे ऐसा लगता है मानो यह बेहद आम बात है, कोई बीमारी नहीं.'

- तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां ने कहा, 'स्‍वास्‍थ्‍य और स्‍वच्‍छता को निश्चित रूप से जागरूकता कार्यक्रमों के जरिए बढ़ावा दिया जाना चाहिए और महिलाओं एवं बच्‍चों के लिए स्‍वस्‍थ वातावरण होना चाहिए.'

- सांस (Saans) के संस्‍थापक नितेश कुमार जांगीर ने स्‍वस्‍थाग्रह में कहा, 'मैंने देखा है कि कई लोग समय पर अस्‍पताल नहीं पहुंच पाते जब शिशु को रेसपिरेटरी सपोर्ट की जरूरत होती है. इसकी वजह से 1,62,000 से ज्‍यादा बच्‍चों की मौत होती है. सांस ने एक उपकरण डिजाइन किया है जो बच्‍चे को सांस लेने में मदद करता है.'

- CKS के संस्‍थापक आदित्‍य देव सूद ने कहा, 'हमने एक वैक्सीन डिलीवरी किट बनाई है जो सहायक नर्स मिडवाइफ (एएनएम) और जमीनी स्तर के कर्मियों को आसानी से टीकाकरण को अंजाम देने में सहायक होगा. यह एक एस बैग का जटिल डिजाइन है ताकि दवा को उस तापमान और और स्थिति में रखा जा सके जो उसके लिए जरूरी है.'

- जनित्री के संस्‍थापक अरुण अग्रवाल ने कहा, 'हमारे यहां बहुत ही कम गायनिकोलॉजिस्‍ट हैं जबकि हर दिन बड़ी संख्‍या में बच्‍चों का जन्‍म होता है. इसलिए ज्‍यादातर डिलिवरी दाइयों या नर्सों द्वारा कराई जाती है. Keyar नाम का जौ पैच हमने विकसित किया है वह बच्चे के स्वास्थ्य और मां के स्वास्थ्य पर नज़र रखने के लिए भ्रूण की हृदय गति को ट्रैक करता है. Keyar से प्राप्त डेटा की आसान समझ के लिए डेटा को मोबाइल ऐप पर स्थानांतरित किया जा सकता है.'

- स्‍पाइस जेट के अजय सिंह ने स्‍वस्‍थाग्रह में कहा, 'हमें लगता है कि पर्यावरण के प्रति हमारी एक जिम्मेदारी है. विमानन का प्रदूषण में 1-2 प्रतिशत योगदान है. हमने देहरादून से दिल्ली तक बायो जेट-ईंधन का उपयोग करके एक उड़ान शुरू की. इस उड़ान के प्रति उत्साह इतना था कि जब इस विमान की पहली उड़ान दिल्ली में उतरी, तो 6 कैबिनेट मंत्री मौजूद थे. हम अपने पायलटों को बताते हैं कि किस गति से उड़ान भरना है, किस ऊंचाई पर उड़ान भरना है और उत्सर्जन में कटौती के अन्य तरीके भी. हम जमीन पर इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग कर रहे हैं. 2030 तक, हमने अपने अधिकांश यात्रियों को जैव ईंधन पर उड़ाने का लक्ष्य रखा है.'

- बच्‍चों पर वायु प्रदूषण के असर पर डॉ. प्रमोद जोग ने कहा, 'बड़ों की तुलना में बच्‍चों के प्रभावित होने के कारणों में से एक यह है कि उनके फेफड़े अभी विकसित ही हो रहे होते हैं. साथ ही बच्चों की श्वसन दर भी वयस्कों की तुलना में बहुत अधिक होती है और वे बाहर खेलते हैं और इस प्रकार वे हवा में अधिक सांस लेते हैं. पीएम 2.5 जैसे छोटे आकार के प्रदूषक अधिक हानिकारक होते हैं क्योंकि बड़े प्रदूषकों को नाक में फिल्टर रोक देते हैं.'

- स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने स्‍वस्‍थाग्रह में कहा, 'देश का स्‍वच्‍छता अभियान स्‍वस्‍थ अभियान की तरह ही है. ऐसा इसलिए क्‍योंकि स्‍वच्‍छता को लेकर कोई कार्यक्रम या हस्‍तक्षेप होता है तो उसका परिणाम बीमारियों में कमी के रूप में ही आता है. 12 करोड़ शौचालय बनाए गए हैं. व्यवहार परिवर्तन सहित इन सभी उपलब्धियों ने मुझे एक स्वास्थ्य मंत्री के रूप में सबसे अधिक लाभान्वित किया है क्योंकि मैं अपने देश को स्वस्थ होता देखता हूं. हम लोगों को यह बताने में सक्षम हो गए हैं कि यदि परिवेश स्वस्थ होगा तो शरीर भी स्वस्थ रहेगा. साफ-सफाई से डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों का प्रकोप कम होगा.'

- केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, 'सरकार मानती है कि स्‍वच्‍छ भारत = स्‍वस्‍थ भारत. हमने देखा है कि पिछले 5 सालों में 10 करोड़ से ज्‍यादा शौचालय बनाए गए. इस अवधि के दौरान हमने नदियों में सीवेज डिस्चार्ज और औद्योगिक निर्वहन को रोककर जल संसाधनों को साफ करने का प्रयास भी किया है. पीने योग्य पानी की कमी का नकारात्मक प्रभाव पड़ा लेकिन अब इसमें भी सुधार हो रहा है.'

- अभिनेता सिद्धार्थ मल्‍होत्रा ने कहा, 'हर व्‍यक्ति के स्‍वास्‍थ्‍य का विषय अलग होता है. मैं अपने शरीर को दुनिया की सबसे अच्‍छी मशीन मानता हूं जो बेहरतीन काम करती है और खुद को ठीक कर सकती है. हम इसे उचित भोजन और पोषण देकर ईंधन देते हैं. आपको जिम में बहुत ज्यादा समय बिताने की जरूरत नहीं है लेकिन आपको सक्रीय रहने की जरूरत तो है.'

- RB के रवि भटनागर ने कहा, 'हम उत्तर प्रदेश को मानव सूचकांक पर ऊपर लाने के लिए राज्‍य सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. हमने अन्‍य संगठनों जैसे E&Y, एसोचैम व अन्‍य के साथ मिलकर काम करना शुरू किया है ताकि शिशु मृत्‍यु दर में कमी लाई जा सके.'

- किरेन रिजीजू ने प्‍लॉगिंग पर कहा, 'हम स्वच्छता की दिशा में विभिन्न प्रकार की पहलों को लागू करने का प्रयास करते हैं. आज महात्मा गांधी के 150वें जन्मदिन के अवसर पर, हम कुछ नया करना चाहते थे. हमने सोचा कि हमें स्वच्छता के साथ-साथ फिटनेस के लिए भी कुछ करना चाहिए. प्रधानमंत्री ने फिट इंडिया आंदोलन भी शुरू किया. फिट रहने के लिए जिम जाने की जरूरत नहीं है. हमने स्वास्थ्य और स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए फिट इंडिया आंदोलन और स्वच्छ भारत मिशन को जोड़ा है. इसलिए इस पहल में, आपको जॉगिंग करते समय कचरे को उठाना होगा.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

- प्रियंका चोपड़ा ने स्‍वस्‍थाग्रह में कहा, 'भारत में लगभग एक-चौथाई बच्चे कुपोषित हैं जो उनके विकास में बाधा का काम करते हैं. माता-पिता और स्कूलों के लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि बच्चों के लिए पोषण कितना महत्वपूर्ण है. कुपोषण से निपटने के लिए सभी हितधारकों को एक साथ आने की जरूरत है.'

- स्‍वस्‍थाग्रह के आखिर में आरबी के सीईओ, लक्ष्मण नरसिम्हन की टिप्पणी: हम अपने अभियान में पांच बातों पर जोर देते रहेंगे क्‍योंकि हम स्‍वच्‍छ से स्‍वस्‍थ की ओर बढ़ रहे हैं -
- हाइजीन इम्पैक्‍ट बॉन्‍ड
- न्‍यूट्रिशन इम्‍पैक्‍ट बॉन्‍ड
- डेटॉल स्‍कूल हाइजीन कार्यक्रम को आगे बढ़ाना
- हाइजीन को लेकर जमीनी कार्यकर्ताओं को शिक्षित व प्रशिक्षित करना
- ड्यूरेक्‍स के साथ बनेगा स्‍वस्‍थ इंडिया विशेष रूप से रेड-लाइट क्षेत्रों में HIV से लड़ने के लिए