NDTV Khabar

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के दौरे के दौरान मिजोरम में बीफ पार्टी!

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के दौरे के दौरान यहां आयोजित एक बीफ पार्टी में सोमवार को सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया. बीफ पार्टी वध के लिए पशुओं की बिक्री पर रोक लगाने वाले नए कानून के खिलाफ आयोजित की गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के दौरे के दौरान मिजोरम में बीफ पार्टी!

यह बीफ पार्टी जोलाइफ नामक एक स्थानीय संगठन ने आयोजित की थी....

आईजोल:

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के दौरे के दौरान यहां आयोजित एक बीफ पार्टी में सोमवार को सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया. बीफ पार्टी वध के लिए पशुओं की बिक्री पर रोक लगाने वाले नए कानून के खिलाफ आयोजित की गई. वनापा हाल में आयोजित इस बीफ पार्टी में 2,000 से अधिक लोग जमा हुए थे. यह स्थान राजभवन से मात्र 200 मीटर की दूरी पर स्थित है. राजनाथ यहीं राजभवन में एक उच्चस्तरीय बैठक में भारत-म्यांमार सीमा पर सुरक्षा की समीक्षा कर रहे थे.

यह बीफ पार्टी जोलाइफ नामक एक स्थानीय संगठन ने आयोजित की थी. आयोजकों ने स्पष्ट किया कि यह आयोजन बीफ सेवन को बढ़ावा देने के लिए नहीं था, बल्कि भारतीय संविधान द्वारा नागरिकों को पदत्त आजादी को रेखांकित करने के लिए था. जोलाइफ के सदस्य रमरुआता वर्ते ने आईएएनएस से कहा, "पहले बीफ खाने पर कोई आपत्ति नहीं थी. लेकिन अब हम देख रहे हैं कि हमें हमारे कुछ बुनियादी अधिकारों से वंचित करने की साजिश रची जा रही है. कोई क्या खाता है, यह तय करने का अधिकार उस व्यक्ति का है. इसे थोपा नहीं जाना चाहिए."

टिप्पणियां

वर्ते ने कहा, "मिजोरम में विभिन्न धर्मो के लोग शांति से रह रहे हैं, जिनमें ईसाई बहुसंख्यक हैं. यहां किसी पर ऐसा कोई पाबंदी नहीं है कि वह अपने धर्म का पालन नहीं कर सकता." उन्होंने कहा कि बीफ पार्टी केंद्र की अधिसूचना के खिलाफ एक प्रतीकात्मक प्रदर्शन था, और लोगों ने बारिश के बावजूद इस आयोजन में हिस्सा लिया.


उधर, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि केंद्र लोगों की खान पान की पसंद पर कोई रोक नहीं लगाएगा. पशु वध के लिए बाजारों में मवेशियों की बिक्री पर केंद्र सरकार के प्रतिबंध के खिलाफ स्थानीय लोगों के एक विरोध प्रदर्शन से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए सिंह ने कहा कि लोगों के खान पान की पसंद पर कोई रोक नहीं होनी चाहिए. पशु वध के लिए बाजारों में मवेशियों की बिक्री पर केंद्र द्वारा लगाए गए प्रतिबंध का विरोध करने के लिए स्थानीय लोगों के एक समूह ने एक गोमांस प्रतिबंध अवहेलना भोजे का आयोजन किया था जिसमें सैकड़ों लोग ने हिस्सा लिया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement