बिहार में महागठबंधन ने तेजस्वी यादव को चुना नेता, RJD-कांग्रेस-लेफ्ट में सीटों का बंटवारा

बिहार चुनाव में महागठबंधन के बैनर तले आरजेडी, कांग्रेस, सीपीएम, सीपीआई, सीपीआई माले और वीआईपी पार्टी एक साथ चुनाव मैदान में उतरेगी.

पटना:

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में विपक्ष के नेताओं ने आज पटना में महागठबंधन की तरफ से प्रेस वार्ता की. इस दौरान आरजेडी, कांग्रेस, लेफ्ट पार्टी और वीआईपी पार्टी के नेता मंच पर मौजूद रहे. आरजेडी की तरफ से तेजस्वी यादव के साथ उनके भाई तेज प्रताप यादव और राज्य सभा सांसद मनोज झा भी मौजूद थे. सबसे पहले हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के लिए शोक व्यक्त करने के लिए मौन रखा गया. महागठबंधन में सबसे ज्यादा सीटें आरजेडी के हिस्से आई हैं. जबकि दूसरे नंबर कांग्रेस वहीं वाल्मीकिनगर में लोकसभा उपचुनाव की सीट भी कांग्रेस को मिली है. इसके बाद सीपीआई माले को ज्यादा सीटे मिली हैं. इन तीन बड़ी पार्टियों के बाद सीपीआई औऱ सीपीआई के बीच सीटों का बंटवारा हुआ है. वहीं आरजेडी के हिस्से से ही वीआईपी और जेएमएम को सीटें मिलेंगी.

प्रेस कॉन्फ्रेस में कांग्रेस की तरफ से बोलते हुए अविनाश पांडे ने कहा, "कांग्रेस, आरजेडी, माले, सीपीआई, सीपीएम और वीआईपी पार्टी ने एक मजबूत गंठबंधन के लिए एक साथ आने का निर्णय लिया है." अविनाश पाण्डेय ने घोषणा किया कि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महगठबंधन चुनाव लड़ेगी." मतलब तेजस्वी बिहार में महागठबंधन से सीएम पद के उम्मीदवार होंगे.

यह भी पढ़ें- बिहार विधानसभा चुनावों से पहले BSP को झटका, RJD में शामिल हुए भरत बिंद

तेजस्वी यादव ने कहा, 'मैं गठबंधन के सभी साथियों का धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे नेतृत्व के लिए चुना. हम ठेठ बिहारी है और हमारा डीएनए भी शुद्ध है. बिहार की जनता बदलाव चाहती है. बिहारी जान चुके हैं और उन्होंने ठान लिया है कि जिन्होंने 15 साल तक राज्य की ये हालत बना दी. कुर्सी के प्यार में स्टेबल गवर्नमेंट को अनस्टेबल कर दिया. बिहार काम पर विश्वास करता है. बिहार के गौरव के लिए, बिहार को तरक्की के रास्ते पर लाने के लिए हम बिहार की जनता से मांग करते हैं कि हम लोगों को एक मौका दीजिए हम वो पूरा करेंगे. हम 10 लाख नौकरियां देंगे. ये सरकारी नौकरियां हैं.'

तेजस्वी यादव ने कहा, "हम बिहार की जनता से वादा करते हैं कि हमारी सरकार बनने के बाद पहली कैबिनेट में ही हम अपना ये वादा पूरा कर देंगे. हम वादा करते हैं कि सरकार बनने के एक डेढ़ महीने में ही लोगों को रोजगार मिलना शुरू हो जाएगा. सरकारी नौकरी के फॉर्म पर कोई पैसा नहीं लिया जाएगा."

यह भी पढ़ें-  डेढ़ दशक से लालू परिवार का गढ़ है राघोपुर विधानसभा सीट, तेजस्वी दूसरी बार किस्मत आज़माने को बेकरार

Newsbeep

तेजस्वी यादव ने सीटों की संख्या का ऐलान करते हुए बताया, "सीपीएम -4, सीपीआई 6, सीपीआई माले- 19, कांग्रेस- 70 और लोकसभा उपचुनाव (वाल्मीकिनगर) में भी कांग्रेस, आरजेडी को 144 सीटें, जिसमें से हम मुकेश साहनी वीआईपी पार्टी और जेएमएम से भी बात हो रही है. इस पर फैसला आरजेडी दो तीन दिन में कर देगी."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऐसा बताया जा रहा है कि इस गठबंधन में सबसे ज्यादा लगभग 135 सीटों पर आरजेडी चुनाव लड़ेगी. वहीं दूसरे नंबर पर कांग्रेस को 65-70 सीटें मिलेंगी और उसके बाद लेफ्ट पार्टियों को सीटे दी जाएगी. वीआईपी पार्टी को आरजेडी के खाते से ही सीटे दी जाएगी.