बिहार विधानसभा चुनाव : कोरोना से बचाव के लिए किए गए सख्त इंतजाम, बढ़ाई जाएगी बूथों की संख्या

बिहार विधानसभा चुनाव पर चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्य आयुक्त ने बताया कि कोरोना के दौरान किस तरह से पहला बड़ा चुनाव आयोजित कराया जा रहा है.

बिहार विधानसभा चुनाव : कोरोना से बचाव के लिए किए गए सख्त इंतजाम, बढ़ाई जाएगी बूथों की संख्या

कोरोनावायरस महामारी के बीच देश में पहला बड़ा चुनाव होने जा रहा है.

खास बातें

  • बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा
  • 28 अक्टूबर से तीन चरणों में चुनाव
  • कोरोना के लिए किए गए खास इंतजाम
नई दिल्ली:

Bihar Assembly Elections 2020: चुनाव आयोग बिहार विधानसभा चुनावों की घोषणा कर रहा है. चुनाव आयोग ने अपनी घोषणा में बताया है कि बिहार में तीन चरणों में चुनाव होंगे. चुनाव 28 अक्टूबर से शुरू हो रहे हैं. वहीं मतगणना 10 नवंबर को होगी. पहले चरण में 71 सीटों पर, 3 नवंबर को दूसरे चरण में 94 सीटों पर चुनाव होने हैं. तीसरे चरण में 7 नवंबर को 78 सीटों पर चुनाव होंगे.  चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा (Election Commissioner Sunil Aroroa) ने बताया कि आज से आचार संहिता लागू हो चुकी है.

चुनाव आयुक्त ने बताया कि इस बार सुबह सात से शाम 6 बजे तक वोटिंग होगी. मतदान की अवधि को इस बार खास एक घंटे के लिए बढ़ाया गया है. वहीं उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन नामांकन की व्यवस्था की गई है. कोरोना मरीज और क्वारंटीन में रह रहे मरीज भी वोट डाल सकेंगे. चुनाव की तैयारी के लिए 46 लाख मास्क, 6 लाख पीपीई किट, 7.2 करोड़ सिंगल यूज़ हैंड ग्लव्स, 7 लाख हैंड सैनिटाइजर्स, 23 लाख ग्लव्स का इंतजाम होगा.

बता दें कि 243 सदस्यों वाले बिहार विधानसभा का 29 नवंबर को कार्यकाल खत्म हो रहा है. चुनाव आयोग ने बताया है कि चुनाव के दौरान कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए कई उपाय अपनाए जा रहे हैं. इसके तहत जरूरतमंद लोगों को पोस्टल बैलेट की सुविधा दी जा रही है. संक्रमित या फिर संदिग्ध कोरोना मरीज चुनाव के दिन मतदान के आखिरी घंटों में वोट डालेंगे. उनके साथ हेल्थ अथॉरिटी भी होंगी. दिव्यांग वोटरों के लिए वोट डालने की सुविधा पोलिंग बूथ पर ग्राउंड फ्लोर पर की जाएगी और उन्हें व्हीलचेयर वगैरह की सुविधा दी जाएगी.

कोरोना के बीच चुनाव पर आयोग ने क्या कहा?

कोरोनावायरस के बीच देश में पहला चुनाव होने जा रहा है. चुनाव आयुक्त ने कहा कि 'महामारी के बीच पूरी दुनिया की चुनाव संस्थाओं की सबसे बड़ी चिंता यही थी कि चुनाव टाले जाएं या नहीं. महामारी में बड़े उतार-चढ़ाव दिखे हैं. हमें यह स्पष्ट हो गया था कि महामारी के बीच ही हमें लोगों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए उनके लोकतांत्रिक अधिकारों को बनाए रखते हुए चुनाव कराने हैं. हमने शुरुआत राज्यसभा चुनावों और विधान परिषद चुनावों से की थी.'

सुनील अरोड़ा ने कहा कि 'बिहार चुनावों को लेकर भी सवाल उठ रहे थे लेकिन आज हम आपके सामने बड़े राज्यों में से एक बिहार के लिए चुनाव की तारीखों की घोषणा करने जा रहे हैं.' उन्होंने बताया कि एक पोलिंग बूथ में 1500 की बजाय एक हजार वोटर्स आएंगे, जिससे पोलिंग बूथ की संख्या बढ़ेगी.

Video: बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com