NDTV Khabar

बिहार के बेरोजगार रेडी कर लें सारे सर्टिफिकेट, 19864 शिक्षकों की आने वाली है वैकेंसी

बिहार के शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, हिंदी, संस्कृत सहित सभी मुख्य विषयों के शिक्षकों की भर्तियां होंगी.

432 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के बेरोजगार रेडी कर लें सारे सर्टिफिकेट, 19864 शिक्षकों की आने वाली है वैकेंसी

बिहार और उत्तर प्रदेश के युवाओं के बीच शिक्षक की नौकरी के लिए भारी क्रेज है, वे बेसब्री से वैकेंसी का इंतजार करते हैं.

खास बातें

  1. प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति 30 सितंबर से पहले होगी
  2. स्कूलों में कर्मचारियों की भी कमी दूर की जाएगी
  3. चपरासी और नाइट गार्ड की नियुक्ति बहुत जल्द होगी
नई दिल्ली: बिहार के बेरोजगारों को थोड़ा सुकून देने वाली खबर आई है. राज्य के शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि बहुत जल्द ही भारी संख्या में शिक्षकों की भर्ती के लिए वैकेंसी निकाली जाएगी. अशोक चौधरी ने कहा कि राज्य के उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों में जल्द ही 19 हजार 864 शिक्षकों की बहाली की जाएगी. गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, हिंदी, संस्कृत सहित सभी मुख्य विषयों के शिक्षकों की भर्तियां होंगी. शिक्षामंत्री ने ये बातें शिक्षक और स्नातक क्षेत्र के विधान पार्षदों के साथ बैठक में कही. वे यहां पर शिक्षक और विद्यालयों की समस्या पर चर्चा के लिए आए थे. बैठक में शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए 19 बिन्दुओं पर चर्चा हुई. 

ये भी पढ़ें: शिक्षकों के लिए बीएड करने का आखिरी मौका​

प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति 30 सितंबर से पहले: शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि राजकीय एवं प्रोजेक्ट माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति 30 सितंबर से पहले कर ली जाएगी. हाईस्कूलों में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की किल्लत दूर करने के लिए मंत्रालय पूरी तत्परता से काम कर रहा है. जनशिक्षा के अनुदेशकों को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर विभाग ने नियुक्त किया है. इनमें से एक-एक कर्मचारी को चपरासी के रूप में सितंबर तक सभी हाईस्कूल में नियुक्त कर दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: SSC में 1100 पदों पर निकली नौकरी

स्कूल क्लर्क के लिए SSC लेगा परीक्षा: शिक्षामंत्री ने कहा कि हाईस्कूलों में क्लर्कों की भर्ती के लिए भी लगभग तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही विभाग खाली पदों सूची कर्मचारी चयन आयोग (SSC) को सौंप देगी. इसके बाद SSC ही कर्मचारियों की नियुक्ति प्रक्रिया को पूरी करेगा.

ये भी पढ़ें: नौकरी ढूंढ़ रहे हैं तो चिंता न करें

अशोक चौधरी ने कहा पिछले कुछ समय से स्कूलों में चोरी की घटनाएं बढ़ गई हैं, जिसके चलते वहां संसाधनों का अभाव हो जाता है. इस समस्या से निपटने के लिए स्कूलों में नाइट गार्ड की नियुक्ति होगी. गार्ड को चार हजार रुपए प्रति माह का मानदेय दिया जाएगा.

वीडियो: हाथ में नहीं हैं रेखाएं तो नौकरी पाने में होती हैं ये दिक्कतें


10वीं 12वीं के बेहद निराशाजनक परिणाम: इस साल बिहार में 10वीं और 12वीं के परिणाम बेहद निराशाजनक रहे. 10वीं में केवल 30 फीसदी बच्चे ही पास हो पाए तो 12वीं में भी 65 प्रतिशत बच्चे फेल हुए थे. इस परिणाम के बाद शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने कहा था कि कॉपियां बेहद सख्ती से जांची गई थीं. हालांकि जानकारों ने सवाल उठाया था कि बच्चों को जब तक अच्छी पढ़ाई नहीं देंगे और केवल उन्हें फेल कर देने से शिक्षा व्यवस्था नहीं सुधरेगी. इसी बात को ध्यान में रखते हुए शिक्षामंत्री अशोक चौधरी ने शिक्षक भर्ती की बात कही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement