NDTV Khabar

बिहार : RSS की जांच पर बीजेपी नेता की नीतीश को नसीहत, क्यों घिनौनी राजनीति में पड़ रहे?

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने कहा- बाढ़, अपराध और बेरोजगारी की चपेट में फंसे बिहार की सुध लीजिए, कहां घिनौनी राजनीति में पड़े हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार : RSS की जांच पर बीजेपी नेता की नीतीश को नसीहत, क्यों घिनौनी राजनीति में पड़ रहे?

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज किया है.

खास बातें

  1. कहा- समाज सेवा में लगे संघ एवं इसके अंगों की जांच करवाकर क्या मिलेगा?
  2. आरएसएस और उसके 19 संगठनों के नेताओं के बारे में रिपोर्ट मांगी गई थी
  3. रिपोर्ट मीडिया के हाथ लगने पर मामला खुल गया
नई दिल्ली:

बीजेपी के संगठन भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उससे जुड़े संगठनों की जांच करवाने पर तंज किया है. उन्होंने नीतीश से कहा है कि बाढ़, अपराध और बेरोजगारी की चपेट में फंसे बिहार की सुध लीजिए, कहां घिनौनी राजनीति में पड़े हैं.

बिहार पुलिस की विशेष शाखा के तत्कालीन एसपी राजीव रंजन ने लोकसभा चुनाव के कुछ दिन बाद अपने विभाग के डीएसपी से आरएसएस के 19 संगठनों के नेताओं और पदाधिकारियों के बारे में रिपोर्ट मांगी थी. यह रिपोर्ट मीडिया के हाथ लगने पर मामला खुल गया और फिर नीतीश कुमार बचाव की मुद्रा में आ गए.

यह मामला सुर्खियों में आने के बाद बीजेपी नेता संतोष रंजन राय ने गृह विभाग के आदेश को अटैच करके ट्वीट किया और नीतीश कुमार को नसीहत दी. उन्होंने कहा कि 'कहां घिनौनी राजनीति में लगे पड़े हैं माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी ..समाज की सेवा में लगे संघ एवं संघ के अंगों की जांच करवा कर क्या मिलेगा??  बिहार बाढ़,अपराध और बेरोज़गारी की चपेट में है उसका संज्ञान लीजिए..कुछ काम कीजिए. आपके पास नया आयडिया ख़त्म हो गया है.


गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य के गृहमंत्री भी हैं. वे बुधवार को आरएसएस नेताओं के सम्बंध में जानकारी जुटाने के अपने गृह विभाग के उक्त आदेश का मीडिया के सामने बचाव नहीं कर पाए.

RSS नेताओं की जानकारी जुटाने के आदेश पर नीतीश कुमार अब बचाव की मुद्रा में क्यों?

हालांकि राज्य के सूचना मंत्री नीरज कुमार ने इसे एक रुटीन रिपोर्ट कहकर पूरे मामले पर पानी डाल दिया था, लेकिन जैसे ही बिहार विधान परिषद के अंदर बीजेपी के विधान पार्षद संजय मयुख ने यह मामला उठाया और मीडिया में लीक होने की जांच की मांग की तो उसके बाद सरकार डैमेज कंट्रोल में लग गई.

बिहार में जुटाई जा रही है RSS और उसके सहयोगी संगठनों की जानकारी, SP ने एक हफ्ते में मांगी रिपोर्ट

इस विवाद के बाद तय माना जा रहा है कि इससे नीतीश और संघ के बीच अविश्वास का भाव और अधिक बढ़ेगा. इसके अलावा बीजेपी और जेडीयू के बीच खटास आने की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता.

टिप्पणियां

VIDEO : पीड़ितों पर ही एफआईआर दर्ज



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement