NDTV Khabar

पाकिस्तान से वार्ता रद्द करने के सरकार के फैसले पर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा...

सेना प्रमुख रावत ने कहा कि बातचीत और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकते. पाकिस्तान को एक को चुनना होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान से वार्ता रद्द करने के सरकार के फैसले पर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा...

सेना प्रमुख ने किया सरकार का समर्थन

नई दिल्ली: सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान के साथ वार्ता रद्द करने के सरकार के निर्णय का रविवार को समर्थन किया. उन्होंने कहा कि वार्ता एवं आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकता. ध्यान हो कि शुक्रवार को सरकार ने जम्मू कश्मीर में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या और इस्लामाबाद द्वारा कश्मीरी आतंकवादी बुरहान वानी का महिमामंडन करने वाला डाक टिकट जारी करने का उल्लेख करते हुए भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयार्क में होने वाली बैठक रद्द कर दी थी. सेना प्रमुख रावत ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम के आह्वान के बावजूद सीमापार से घुसपैठ जारी है. उन्होंने कहा कि यह जारी रहने नहीं दी जा सकती और आतंकवादियों को घाटी में शांति बाधित करने से रोकने के लिए उचित कदम उठाना होगा.

यह भी पढ़ें: सेना प्रमुख ने कहा- स्मार्टफोन के दौर में जवानों को सोशल मीडिया से दूर रखना मुश्किल

जनरल रावत यहां तीन मूर्ति हैफा मेमोरियल में हाइफा दिवस शताब्दी पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके पाकिस्तानी समकक्ष के बीच न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर होने वाली वार्ता रद्द करने के सरकार के निर्णय का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि सरकार की नीति बहुत स्पष्ट है.आप (पाकिस्तान) हमें कुछ पहल दिखाइये ताकि हमें महसूस हो कि आप आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: सेना प्रमुख के आदेश के बाद अब कश्मीर घाटी में गोल्फ नहीं खेल पाएंगे सैन्य अधिकारी

टिप्पणियां
हालांकि हम देख रहे हैं कि आतंकी गतिविधियां जारी हैं और आतंकवादी सीमा की दूसरी ओर से आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे माहौल में क्या वार्ता शुरू की जा सकती है, इसका निर्णय केवल सरकार कर सकती है. मैं सरकार के निर्णय से सहमत हूं कि शांति वार्ता और आतंकवाद साथ साथ नहीं चल सकता. रावत ने कहा कि सेना जम्मू कश्मीर में नवम्बर में होने वाले पंचायत चुनाव में अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर सुरक्षा मुहैया कराएगी.

VIDEO: शहीद औरंगजेब के घर गए सेना प्रमुख.

उन्होंने कहा कि आज हम पंचायत चुनाव देख रहे हैं, हम चाहते हैं कि यह चुनाव आगे बढ़े क्योंकि इससे सत्ता लोगों के हाथों में आएगी. उन्होंने कहा कि हमारा काम यह है कि वहां प्रशासन और चुनाव आयोग अपना काम कर सके ताकि लोग बाहर आयें और अपना वोट बिना किस भय एवं बाधा के डाल सकें. (इनपुट भाषा से)  
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement