NDTV Khabar

भाजपा का दावा: ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने के कारण पार्टी कार्यकर्ता की हत्या

भाजपा ने शनिवार को दावा किया कि पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में पार्टी के एक कार्यकर्ता की ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पीट पीट कर हत्या कर दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भाजपा का दावा: ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने के कारण पार्टी कार्यकर्ता की हत्या

प्रतीकात्मक फोटो

नदिया:

भाजपा ने शनिवार को दावा किया कि पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में पार्टी के एक कार्यकर्ता की ‘जय श्री राम' का नारा लगाने पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पीट पीट कर हत्या कर दी. तृणमूल नेतृत्व ने इस आरोपों को एकदम आधारहीन करार दिया और कहा कि भाजपा कार्यकर्ता के साथ स्थानीय लोगों ने मारपीट की क्योंकि उसने शराब पी कर महिलाओं के साथ अभद्र बर्ताव किया था. भाजपा का आरोप है कि पार्टी कार्यकर्ता कृष्ण देवनाथ (26) के साथ बुधवार रात कथित तौर पर मारपीट की गई. उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया.  उसे बाद में कोलकाता के एक अस्पताल ले जाया गया जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई. 

पटना के एक रेस्तरां में अचानक पहुंचे राहुल गांधी, डोसा और कॉफी का लुत्फ उठाया, देखें VIDEO


पुलिस ने शिकायत मिलने की पुष्टि करते हुए कहा कि मामले की जांच चल रही है. भाजपा के राज्य इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से गृह मंत्री के पद से तत्काल इस्तीफा देने की मांग की और कहा कि वह राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने में पूरी तरह नाकाम हो गई हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य की तृणमूल सरकार ने बंगाल में एक तरह के आतंक को छूट दी है और जो लोग ‘जय श्री राम' का नारा लगाते हैं उनकी या तो हत्या हो जाती है अथवा उन्हें जेल में ड़ाल दिया जाता है. भाजपा नेता मुकुल राय ने संवादाताओं से कहा, 'कृष्ण देवनाथ की मौत की साथ ही लोकसभा चुनाव के बाद हमने अपने 19 लोगों को खो दिया है. यह शर्मनाक है कि हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं की ‘जय श्री राम' के नारे लगाने के कारण हत्याएं की जा रही हैं.' 

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भास्कर राव ने थामा बीजेपी का हाथ, सक्रिय राजनीति में हुई वापसी

टिप्पणियां

स्थानीय भाजपा ने भीड़ द्वारा पीट पीट कर की गई कथित हत्या के दोषियों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग करते हुए सड़क अवरूद्ध की. नदिया जिले से तृणमूल के नेता गौरी शंकर दत्त ने इन आरोपों से इनकार किया और कहा कि ये एकदम आधारहीन है और राजनीति से प्रेरित हैं. 

इनपुट- भाषा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement