NDTV Khabar

बीजेपी सांसद का ऐलान, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए शीतकालीन सत्र में लाएंगे प्राइवेट मेंबर बिल

धारवाड़ से बीजेपी के सांसद प्रह्लाद जोशी ने आने वाले शीत सत्र में इस मसले पर प्राइवेट मेंबर बिल लाने का ऐलान किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी सांसद का ऐलान, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए शीतकालीन सत्र में लाएंगे प्राइवेट मेंबर बिल

Ram Mandir in Ayodhya: बीजेपी सांसद प्रहलाद जोशी ने राम मंदिर निर्माण के लिए प्राइवेट मेंबर बिल लाने का ऐलान किया है.

खास बातें

  1. धारवाड़ से बीजेपी के सांसद हैं प्रहलाद जोशी
  2. बोले- शीतकालीन सत्र में लाएंगे प्राइवेट मेंबर बिल
  3. 11 दिसंबर से शुरू हो रहा है शीतकालीन सत्र
नई दिल्ली :

अयोध्या में राम मंदिर  (Ram Mandir in Ayodhya) बनाने का रास्ता साफ़ करने के लिए मोदी सरकार पर क़ानून लाने का दबाव है. शनिवार को सरकार की सहयोगी शिवसेना ने अयोध्या में रैली करके पुरजोर तरीक़े से ये मांग उठाई. संघ की ओर से भी लगातार इसको लेकर मांग उठ रही है. हालांकि सरकार ने तो अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा है, लेकिन धारवाड़ से बीजेपी के सांसद प्रह्लाद जोशी ने आने वाले शीत सत्र में इस मसले पर प्राइवेट मेंबर बिल लाने का ऐलान किया है. उन्होंने अयोध्या में जुटे साधु-संतों को ये आश्वासन दिया है. संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से शुरू हो रहा है. गौरतलब है कि एक दिन पहले ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि धैर्य का समय अब खत्म हुआ और अगर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर निर्माण (Ram Temple in Ayodhya) का मामला उच्चतम न्यायालय की प्राथमिकता में नहीं है तो मंदिर निर्माण कार्य के लिये कानून लाना चाहिए. राम  मंदिर निर्माण के मुद्दे पर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की ओर से आयोजित एक रैली में भागवत ने कहा कि यह ‘‘आंदोलन का निर्णायक चरण'' है.

अयोध्या में उद्धव ठाकरे की मौजूदगी से बीजेपी क्यों महसूस कर रही है खतरा?


टिप्पणियां

मोहन भागवत ने कहा, ‘‘एक साल पहले मैंने स्वयं कहा था कि धैर्य रखें. अब मैं ही कह रहा हूं कि धैर्य से काम नहीं होगा. अब हमें लोगों को एकजुट करने की जरूरत है. अब हमें कानून की मांग करनी चाहिए.''    भागवत ने कहा, ‘‘चाहे जो भी कारण हो क्योंकि अदालत के पास समय नहीं है या राम मंदिर मामला उनकी प्राथमिकता में नहीं है अथवा संभवत: वह समाज की संवेदनशीलता को नहीं समझ पा रही है. ऐसे में सरकार को चाहिए कि वह इस बारे में विचारे कि मंदिर निर्माण के लिये कैसे एक कानून लाया जाये... कानून जल्द से जल्द लाया जाना चाहिए.''उन्होंने कहा, ‘‘अब यह आंदोलन का निर्णायक चरण है. इससे पहले अयोध्या पहुंचे शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा था कि केंद्र सरकार के पास पूरा अधिकार है कि वह इस बार राम मंदिर का निर्माण कराए. अगर वह ऐसा नहीं करती है तो मैं आपको दावे के साथ कह सकता हूं कि यह सरकार दोबारा नहीं बनेगी. 


धर्म संसद से पहले मोदी सरकार पर बरसे उद्धव ठाकरे, कहा- मंदिर नहीं बनाया तो यह सरकार दोबारा नहीं बनेगी 

VIDEO: धर्म संसद को लेकर किले में तब्दील हुआ अयोध्या.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement