NDTV Khabar

ब्लूव्हेल के खूनी शिकंजे की चपटे में आए असम के दो छात्र, अस्पताल में भर्ती

गुवाहाटी में ब्लूव्हेल गेम की चपेट में आए दो किशोरों को हाल में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. दोनों ने अपने हाथों में कट लगाए थे.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ब्लूव्हेल के खूनी शिकंजे की चपटे में आए असम के दो छात्र, अस्पताल में भर्ती

असम सरकार ने ब्लूव्हेल गेम के खिलाफ जागरुकता को लेकर कार्यक्रम शुरू किया है

गुवाहाटी: ऑनलाइन खूनी खेल ब्लूव्हेल धीरे-धीरे भारत में अपनी पैठ जमा रहा है. तमाम कोशिशों के बाद भी कहीं ना कहीं से इसके शिकार बच्चों की ख़बर लगातार आ रही हैं. अब असम के गुवाहाटी में ब्लूव्हेल गेम की चपेट में आए दो किशोरों को हाल में अस्पताल में भर्ती कराया गया है. दोनों ने अपने हाथों में कट लगाए थे.

इस खतरनाक गेम की बढ़ती लोकप्रियता के मद्देनजर इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए कामरूप मेट्रोपोलिटन जिला प्रशासन ने एक समिति का गठन किया है. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक आर तालुकदार ने बताया कि किशारों की आयु 16 से 17 साल के बीच है. उन्हें अस्पताल के मनोचिकित्सा विभाग में भर्ती कराया गया है और उनकी काउंसलिंग की जा रही है.

पढ़ें: बच्‍चों के लिए जानलेवा बन रहे ऑनलाइन गेम 'ब्लू व्हेल चैलेंज' पर सरकार ने लगाया बैन

अधीक्षक ने कहा कि इस प्रकार की घटनाएं रोकने की जिम्मेदारी माता पिता, शिक्षकों एवं समाज की है. इसके अलावा जब इस गेम के पीड़ित के अनुभवों को बार बार दिखाया जाता है तो इससे उन युवाओं में भी इसे खेलने की उत्सुकता पैदा हो जाती है जिनकी इसमें रुचि नहीं होती.

इस खतरे का संज्ञान लेते हुए कामरूप मेट्रोपॉलिटेन जिला प्रशासन ने सरकारी अधिकारियों एवं एनजीओ की समिति गठित की ताकि जिले में ब्लूव्हेल गेम को नियंत्रित करने के लिए जागरूकता फैलाई जा सके और इस पर नजर रखी जा सके.

(इनपुट भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement