NDTV Khabar

संसद में गूंजा ब्लू व्हेल गेम का मुद्दा, बैन लगाने की मांग, पढ़ें क्या है पूरा मामला

ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल के चलते मुंबई में एक बच्चे ने आत्महत्या कर ली थी. बच्चे की खुदकुशी के बाद ब्लू व्हेल को लेकर विवाद छिड़ा.

169 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
संसद में गूंजा ब्लू व्हेल गेम का मुद्दा, बैन लगाने की मांग, पढ़ें क्या है पूरा मामला

संसद में गूंजा ब्लू व्हेल गेम का मुद्दा

खास बातें

  1. 14 साल के बच्चे ने कर ली थी आत्महत्या
  2. इस गेम में 50 चैलेंज दिए जाते हैं
  3. आखिरी चैलेंज आत्महत्या होता है
नई दिल्ली: राज्यसभा में ब्लू व्हेल गेम का मुद्दा उठा. सांसद अमर शंकर ने इस मुद्दे को उठाते हुए इस पर बैन लगाने की मांग की. ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल के चलते मुंबई में एक बच्चे ने आत्महत्या कर ली थी. बच्चे की खुदकुशी के बाद ब्लू व्हेल को लेकर विवाद छिड़ा. महाराष्ट्र विधानसभा में भी चिंता जताते हुए गेम पर बैन लगाने की मांग की गई थी. गौरतलब है कि मुंबई के अंधेरी में 14 साल के एक बच्चे ने अपनी सोसायटी से कूदकर आत्महत्या कर ली. पुलिस मामले की जांच कर रही है. आत्महत्या के पीछे 'ब्लू व्हेल गेम' को वजह बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि इस खेल ने दुनिया भर में 250 के करीब बच्चों की जान ले चुका है. मेघवाड़ी पुलिस के अनुसार, शनिवार शाम एम्पायर हाइट्स की छत से 14 साल के एक बच्चे ने कूद कर जान दे दी. पता ये भी चला है कि 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले उस बच्चे ने खुदकुशी से पहले अपने इरादे के बारे में दोस्तों को सोशल साइट पर बताया भी था. बच्चे ने अपने दोस्तों को ये भी बताया था, 'एक अंकल मुझे हटने के लिए बोल रहे हैं. जैसे ही वे हटेंगे, मैं कूद जाऊंगा.' और हुआ भी यही. 

पढ़ें: ब्लू व्हेल गेम के क्यों शिकार हो रहे हैं बच्चे, समझें इस खूनी खेल का पूरा मामला

VIDEO: राज्यसभा तक पहुंचा मामला
रूस में हुई थी शुरुआत
खूनी ब्लू व्हेल खेलकी शुरुआत रूस से हुई है. मोबाइल फ़ोन और लैपटॉप के जरिए खेले जाने वाले इस खेल में 50 दिन अलग-अलग टास्क मिलते हैं. रोज टास्क पूरा होने के बाद अपने हाथ पर निशान बनाना पड़ता है जो 50 दिन में पूरा होकर व्हेल का आकार बन जाता है. और टास्क पूरा करने वाले को खुदकुशी करनी पड़ती है.

VIDEO: आमिर ने भी उठाए सवाल
क्या है ब्लू व्हेल गेम और ये होते हैं चैलेंज
यह इंटरनेट पर खेला जाने वाला गेम है, जो दुनियाभर के कई देशों में उपलब्ध है. इस गेम को खेलने वाले शख्स के सामने कई तरह के चैलेंज रखे जाते हैं. ये सभी चैलेंज 50 दिन के अंदर पूरे करने होते हैं. इसमें अंतिम चैलेंज के रूप में आत्महत्या को रखा गया है. द ब्लू व्हेल गेम को फिलिप बुडेकिन ने साल 2013 में बनाया था. रूस में आत्महत्या की बढ़ती घटनाओं के बीच उसे गिरफ्तार किया गया और बाद में फिलिप को जेल की सजा हो गई. इंटरनेट पर खेले जाने वाले इस गेम में 50 दिन तक रोज एक चैलेंज बताया जाता है.  हर चैलेंज को पूरा करने पर हाथ पर एक कट करने के लिए कहा जाता है.चैलेंज पूरे होते-होते आखिर तक हाथ पर व्हेल की आकृति उभरती है. चैलेंज के तहत हाथ पर ब्लेड से एफ-57 उकेरकर फोटो भेजने को कहा जाता है.  हॉरर वीडियो या फिल्म देखने के लिए चैलेंज है. हाथ की 3 नसों को काटकर उसकी फोटो क्यूरेटर को भेजना भी एक चैलेंज है. ऊंची से ऊंची छत पर जाने को इस गेम में कहा जाता है. व्हेल बनने के लिए तैयार होने पर अपने पैर में 'यस' उकेरना होता है.तैयार होने पर खुद को चाकू से कई बार काटकर सजा देना भी चैलेंज का हिस्सा है. सभी चैलेंज पूरे करने वाले को खुदकुशी करनी पड़ती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement