NDTV Khabar

पिछले एक साल में रिश्वतखोरी बढ़ी या घटी, सर्वे में सामने आए ये आंकड़ें

दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, पश्चिम बंगाल, केरल, गोवा और ओडिशा में लोगों ने भ्रष्टाचार के कम मामले दर्ज कराये जबकि राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, झारखंड और पंजाब में भ्रष्टाचार की घटनाएं अधिक थीं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पिछले एक साल में रिश्वतखोरी बढ़ी या घटी, सर्वे में सामने आए ये आंकड़ें

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

एक सर्वे के अनुसार देश में पिछले साल से रिश्वतखोरी की घटनाओं में 10 फीसदी की कमी आई है. दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, पश्चिम बंगाल, केरल, गोवा और ओडिशा में लोगों ने भ्रष्टाचार के कम मामले दर्ज कराये जबकि राजस्थान, बिहार, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, झारखंड और पंजाब में भ्रष्टाचार की घटनाएं अधिक थीं. 'इंडिया करप्शन सर्वे 2019' में 20 राज्यों के 248 जिलों में 1,90,000 लोगों से जवाब प्राप्त हुए. सर्वे के अनुसार 51 प्रतिशत भारतीयों ने पिछले 12 महीनों में एक बार रिश्वत जरूर दी है. 

घूस देने वालों से परेशान हुआ बिजली विभाग का अफसर, दफ्तर में टांगा 'मैं ईमानदार हूं' लिखा बोर्ड

यह सर्वे 'ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया' (TII) और लोकल सर्किल्स ने किया है. यह एक गैर राजनीतिक, स्वतंत्र और गैर सरकारी भ्रष्टाचार रोधी संगठन है. संगठन द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि टीआईआई द्वारा जारी ‘करप्शन परसेप्शन इंडेक्स 2018' भारत की रैंकिंग में पिछले साल की तुलना में तीन स्थानों का सुधार हुआ है और अब 180 देशों की सूची में भारत का स्थान 78 है. सर्वे के अनुसार रिश्वत देने के लिए नकदी अभी भी पहला साधन बना हुआ है. 


बिहार में एक साथ 45 पुलिसवाले घूस लेने के आरोप में निलंबित, CCTV फुटेज से हुआ पर्दाफाश

टिप्पणियां

सर्वे के अनुसार 35 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उन्होंने अपने काम कराने के लिए पिछले 12 महीनों में रिश्वत दी है और 16 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे हमेशा बिना रिश्वत दिये ही अपना काम कराते है. इसके अनुसार 24 प्रतिशत लोगों ने स्वीकार किया कि उन्होंने पिछले 12 महीनों में कई बार रिश्वत दी है और 27 प्रतिशत ने एक या दो बार रिश्वत देने की बात स्वीकार की. 

Video: रिश्वत लेते पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement