NDTV Khabar

बीएसपी सुप्रीमो मायावती का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया, जानें क्यों

माना जा रहा है कि मायावती द्वारा दिया गया इस्तीफा तयशुदा प्रारूप में नहीं है.

340 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीएसपी सुप्रीमो मायावती का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया, जानें क्यों

अभी नहीं स्वीकार किया गया है बीएसपी सुप्रीमो मायावती का इस्तीफा (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सहारनपुर हिंसा पर सदन में न बोल पाने के कारण नाराज थीं मायावती
  2. राज्यसभा से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया था
  3. लेकिन सभापति ने इसे अभी स्वीकार नहीं किया है
नई दिल्ली: सहारनपुर हिंसा पर सदन में न बोल पाने के कारण बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने बुधवार को राज्‍यसभा सदस्‍यता से इस्‍तीफा दे दिया. तीन पेज का अपना इस्तीफा उन्होंने सभापति से मिलकर दिया लेकिन इस पर अभी तक फैसला नहीं लिया गया. माना जा रहा है कि उनके द्वारा दिया गया इस्तीफा तयशुदा प्रारूप में नहीं है.

मायावती इस बात से नाराज थीं कि शून्यकाल के दौरान उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में दलितों पर हुए अत्याचारों पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव पेश करने के बाद उन्हें बोलने के लिए सिर्फ तीन मिनट का समय दिया गया.

यह भी पढ़ें...
मायावती चाहें तो हम बिहार से उन्हें राज्यसभा भेजेंगे : लालू प्रसाद यादव
राज्यसभा से बसपा सुप्रीमो मायावती के इस्तीफे के मायने....

मायावती के राज्यसभा से इस्तीफे को राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने वाजिब और स्वभाविक बताते हुए कहा कि बीजेपी दलित विरोधी पार्टी है. लालू ने यह भी कहा, 'मायावती चाहेंगी तो हम बिहार से उन्हें दोबारा राज्यसभा भेजेंगे.' 



वहीं, बीजेपी ने राज्यसभा से इस्तीफा देने पर मायावती को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उनका यह कदम 'ड्रामा' है, जिसका मकसद भावुकता के जरिये 'भ्रम' पैदा करना है. नई दिल्ली में बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव ने कहा कि लोग अब मायावती से गुमराह नहीं होने वाले हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement